पटना

--Advertisement--

ये है ISIS का आतंकी, श्रीनगर में आतंकी संगठनों को मुहैया कराता था हथियार

पकड़े गए दो संदिग्धों में मो. शाद और मो. शमी शामिल हैं। शाद ने नेटबैंकिंग से रुपए एक संदिग्ध के खाते में ट्रांसफर किए थे।

Dainik Bhaskar

Feb 11, 2018, 05:17 AM IST
परिजनों ने संदिग्ध को निर्दोष बताया है। परिजनों ने संदिग्ध को निर्दोष बताया है।

गया (बिहार). पिंडदान के लिए जाना जाने वाला गया आतंकी नेटवर्क के संचालन का बड़ा अड्डा बन चुका है। इसी क्रम में केन्द्रीय सुरक्षा एजेंसी और गया पुलिस की कार्रवाई में आतंकी नेटवर्क को लेकर बड़ी सफलता मिली है। संयुक्त कार्रवाई के दौरान आईएसआईएस से ताल्लुकात रखने वाले मो. अनवर आलम उर्फ मुन्ना को यहां से गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं दो संदिग्ध भी दबोचे गए हैं, जिनसे पूछताछ चल रही है।

मो. अनवर श्रीनगर में आतंकवादी गतिविधियों के संचालन में बड़ी भूमिका निभा रहा था। वह आतंकी संगठनों के लिए हथियार सप्लाई के अलावा कई जगहों से राशि इकट्ठा करके श्रीनगर को भेजता था। वैसे बताया जा रहा है कि मो. अनवर के फेसबुक में कई ऐसे दोस्त भी हैं, जिसका संबंध पाक की आतंकी संगठन हरकत उल मुजाहिदीन से है।

यूपीए एटीएस का था मोस्टवांटेड

अनवर यूपीए एटीएस का मोस्ट वांटेड था। अरसे से यूपी एटीएस के रडार पर होने के बाद भी इसकी गिरफ्तारी में सफलता नहीं मिल रही थी। इसके बाद केन्द्रीय सुरक्षा एजेंसी इसमें लगी तो काफी कुछ सामने आया, जिसके आधार पर शनिवार को गया शहर के मारूफगंज के रहने वाले अनवर को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। इसकी निशानदेही के आधार पर दो और संदिग्धों को पकड़ा गया है। ये दोनों संदिग्ध भी इसी मुहल्ले के रहने वाले हैं। इनसे पूछताछ की जा रही है।

गया में नेटवर्क को खंगालने में जुटी एजेंसियां

गया में आतंकी नेटवर्क को खंगालने में सुरक्षा एजेंसियां जुट गई हैं। गया शहर के विभिन्न इलाकों में शनिवार को दिन भर छापेमारी चलती रही। केन्द्रीय सुरक्षा एजेंसी और गया एसएसपी द्वारा गठित टीम द्वारा शनिवार की रात में भी चिह्नित स्थानों पर छापेमारी जारी रहने की बात बताई जा रही है।

अनवर के कहने पर शाद भेजा करता था पैसा

वहीं मो. शाद की मां प्रवीणा खातून लगातार रोए जा रही थी। बताया कि मेरा बेटा पढ़ाई करता है। मुहल्ले के कुछ लोगों के कहने पर वह पैसा भेजता था। कुछ दिन पहले अनवर ने कहा कि मेरा कुछ पैसा अपने अकाउंट से भेज दो, उसी पर एनआईए की टीम आई और पकड़ कर ले गई है। पूछा गया तो टीम का कहना था कि इसके अकाउंट से बारह बार पैसा भेजा गया है।

श्रीनगर में उग्रवादी संगठन से संबंध सामने आए हैं

गया की एसएसपी गरिमा मल्लिक ने बताया कि मो. अनवर आलम के ताल्लुकात आईएसआईएस से हैं। यह यूपी एटीएस का मोस्ट वांटेड है। श्रीनगर में उग्रवादी संगठन से संबंध सामने आए हैं। दो संदिग्ध मो. शाद और मो. शमी को हिरासत में लेकर इनसे पूछताछ की जा रही है। केन्द्रीय सुरक्षा एजेंसी और गया पुलिस कार्रवाई में शामिल थी। आगे का काम चल रहा।

करता था मार्बल कटर मशीन रिपेयरिंग और संचालित कर रहा था आतंकी नेटवर्क

सिविल लाइन थाना से सटे आईएमए हॉल के समीप मो. अनवर आलम उर्फ मुन्ना मार्बल कटर मशीन की रिपेयरिंग का काम करता था। इसकी ओट में इसने देश के संवेदनशील स्थानों पर आतंकी नेटवर्क को संचालित करने में सक्रिय था। एकबारगी तो कोई सोच भी नहीं सकता था कि मुन्ना मिस्त्री के नाम से चर्चित अनवर की वास्तविकता कुछ और है। शनिवार की सुबह केन्द्रीय सुरक्षा एजेंसी और गया पुलिस की विशेष टीम ने आईएमए हॉल के समीप से उसे उठाया। पूछताछ के बाद टीम मो. शमी के घर पहुंची, हिरासत में लेते हुए हथियार की बरामदगी की गई। फिर तीसरे युवक मो. शाद को हिरासत में लिया।

शाद ने किया था नेटबैंकिंग से रुपए ट्रांसफर तो शमी के घर से मिला हथियार

पकड़े गए दो संदिग्धों में मो. शाद और मो. शमी शामिल हैं। शाद ने नेटबैंकिंग से रुपए एक संदिग्ध के खाते में ट्रांसफर किए थे। वहीं शमी के घर से हथियार की बरामदगी की गई है। हालांकि इन दोनों संदिग्धों के परिजनों का कहना है कि मो. अनवर के कहने पर ही शाद ने रुपए ट्रांसफर किए थे। इधर शमी ने पुलिस को बताया है कि मो. अनवर ने हथियार रखने के लिए दिया था।

विदेश जाना चाहता था शमी

वहीं मो. शमी के पिता सरफू पेंटर और मां ने बताया कि बाहर की पुलिस आई और मेरे बेटे से पूछा कि हथियार कहां है। बेटे ने बता दिया तो उसे भी लेकर साथ चले गए। कहा कि मेरे बेटे की ख्वाहिश थी कि वह कुछ पैसे इकट्ठा कर विदेश को जाए। बेटे को हिरासत में लिए जाने के बाद मां का रो-रोकर बुरा हाल था।

परिजन ने बताया संदिग्ध को निर्दोष

एक के बाद एक कर तीन को हिरासत में लिए जाने के बाद मारूफगंज इलाके में हड़कंप मच गया। मो. अनवर के पिता साबिर मिस्त्री और भाई मो. अजीज ने बताया कि रोज की तरह वह अपने दुकान में थे। इसी बीच कुछ लोग एक वाहन से आए और मुन्ना का मोबाईल मांगा। परिजनों का कहना था कि हमलोग गरीब हैं। अनवर कभी गलत काम नहीं कर सकता।

गया में मौजूद पुलिस। गया में मौजूद पुलिस।
संदिग्ध मोहम्मद शाद। संदिग्ध मोहम्मद शाद।
गया की एसएसपी गरिमा मल्लिक। गया की एसएसपी गरिमा मल्लिक।
गया में पकड़ा गया अनवर। गया में पकड़ा गया अनवर।
security agencies arrested ISIS militant Anwar Alam from gaya
X
परिजनों ने संदिग्ध को निर्दोष बताया है।परिजनों ने संदिग्ध को निर्दोष बताया है।
गया में मौजूद पुलिस।गया में मौजूद पुलिस।
संदिग्ध मोहम्मद शाद।संदिग्ध मोहम्मद शाद।
गया की एसएसपी गरिमा मल्लिक।गया की एसएसपी गरिमा मल्लिक।
गया में पकड़ा गया अनवर।गया में पकड़ा गया अनवर।
security agencies arrested ISIS militant Anwar Alam from gaya
Click to listen..