--Advertisement--

स्टूडेंट मर्डर केस : फिरौती की रकम मिलने के बाद GF से शादी करने वाला था आरोपी

पुलिस विक्की के अलावा हिरासत में लिए सभी संदिग्धों के छह-छह माह पहले के मोबाइल की सीडीआर निकालने में जुटी है।

Danik Bhaskar | Jan 25, 2018, 06:41 AM IST

पटना. प्रॉपर्टी डीलर सुधीर कुमार के छोटे बेटे रौनक के अपहरण और हत्या मामले में पुलिस ने जेल में बंद विक्की को 72 घंटों की रिमांड पर लेने के बाद बुधवार को करीब सात घंटे तक पूछताछ की। इसके बाद उससे मिले सुराग के बाद एसआईटी ने पूर्व विधायक के बेटे परशुराम पासवान, रौनक के करीबी जयराम व प्रदीप के अलावा स्थानीय धर्मेंद्र, बिट्टू के अलावा विक्की की एक गर्लफ्रेंड को हिरासत में ले लिया। देर रात तक डीआईजी व एसआईटी ने इनसे पूछताछ की।

पुलिस विक्की के अलावा हिरासत में लिए सभी संदिग्धों के छह-छह माह पहले के मोबाइल की सीडीआर निकालने में जुटी है। विक्की की गर्लफ्रेंड उसके घर के पास ही रहती है। विक्की ने रौनक का अपहरण करने के बाद उसे भी फोन किया था। विक्की ने पूछताछ में बताया कि फिरौती की कॉल उसके चचेरे भाई अंकित ने भी की थी। बुधवार की देर रात पुलिस ने उसे दानापुर में छापेमारी कर हिरासत में ले लिया। विक्की ने 17 जनवरी की रात रौनक की हत्या करने के बाद सुधीर से फिरौती लेने के लिए उन्हें दानापुर बुलाया था।

फिरौती की रकम मिलने के बाद गर्लफ्रेंड से शादी करने वाला था विक्की

विक्की ने खुलासा किया कि फिरौती की रकम मिलने के बाद वह गर्लफ्रेंड से शादी करने वाला था। गर्लफ्रेंड ने पुलिस को भी यही बात बताई और कहा कि मेरी जिंदगी बच गई। सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार, एएसपी राकेश दुबे व एसआईटी की टीम ने थाने में विक्की के साथ करीब 90 मिनट तक क्राइम सीन क्रिएट कराया। फिर उससे पूछताछ की गई तो वह कई बिंदुओं पर चुप हो गया और कहने लगा कि नहीं मालूम है। पुलिस का कहना है कि भले ही उसका क्राइम रिकॉर्ड नहीं हो पर वह है काफी शातिर। उसने पूरी प्लानिंग के साथ वारदात की। डीआईजी ने कहा कि जल्द ही पुलिस मौका ए वारदात पर उसे ले जाकर क्राइम सीन कराएगी। पुलिस ने विक्की की दुकान के आसपास के करीब 15 दुकानदारों से भी पूछताछ की। इन लोगों ने कई अहम सुराग पुलिस को दिए हैं।

हत्या मफलर से की पर वहां मिली सुतली, कोई और भी शामिल
पुलिस ने जब विक्की से पूछताछ की तो उसने कहा कि रौनक की हत्या मफलर से की थी पर पुलिस को वहां से छह-सात फीट लंबी सुतली मिली थी। पुलिस ने जब सुतली के बारे में पूछा तो वह कहने लगा कि हां सर वही सुतली थी। पुलिस का कहना है कि इसका मतलब यह कि कोई वहां और अपराधी था जो मफलर लगाए हुए था। वह इसलिए कि सीसीटीवी फुटेज में रौनक और विक्की के गले में मफलर बंधा हुआ नहीं था। पुलिस सभी संदिग्धों का फिंगर प्रिंट लेगी। घटनास्थल से चार लोगों के फिंगर प्रिंट मिले थे।

फिर से खुली फाइल
पुलिस ने अपने स्तर से रौनक की हत्या की फाइल को यह कह कर बंद कर दिया था, कि इस कांड में दूसरा कोई शामिल नहीं है पर ऐसा नहीं है। इसलिए पुलिस ने फिर से सारे साक्ष्यों व तथ्यों को जमा किया और नए सिरे से जांच शुरू कर दी।

यह है जांच का पूरा खाका

- 17 जनवरी को स्कूल से घर से निकलना।

- रास्ते में विक्की से रौनक की मुलाकात।

- बाइक पर बैठने का स्टाइल।

- सीसीटीवी फुटेज से मिलान।

- विक्की के चेहरे का भाव।

- रास्ते में किसने कहां पर देखा।

- कहां पर बाइक से उतरा : तीन मोबाइल सिम की जांच।

- विक्की को कहां कब कैसे गिरा हुआ मोबाइल मिला।

- उस मोबाइल का सिम निकाल कर अपने मोबाइल में लगाना।

- संदलपुर, जहां लाश मिली।

- बयानों की जांच।

- अगवा करने के बाद विक्की किन लोगों से रहा संपर्क में।

- परशुराम सहित अन्य की भूमिका।

- क्यों विक्की बार-बार कह रहा है वह अकेला था।

- दुकानदारों से बातचीत।