--Advertisement--

शरद की नई पार्टी का जल्द ऐलान, कहा-लोकतंत्र के लिए गवाया सांसद का पद

कला भवन में शुक्रवार को हुए सम्मेलन में पूर्व राज्यसभा सांसद ने नई पार्टी बनाने का ऐलान भी किया।

Danik Bhaskar | Dec 30, 2017, 04:04 AM IST

पूर्णिया. लोकतंत्र बचाओ महासम्मेलन में शुक्रवार को शरद यादव ने जमकर हुंकार भरी और राज्य व केंद्र सरकार को हर मोर्चे पर घेरा। महागठबंधन टूटने के बाद शरद यादव पहली बार पूर्णिया पहुंचे थे और प्रदेश में नए विकल्प की बात भी कही। कला भवन में शुक्रवार को हुए सम्मेलन में पूर्व राज्यसभा सांसद ने नई पार्टी बनाने का ऐलान भी किया।


अपने भाषण में शरद यादव ने 70 के दशक से लेकर 2017 तक की अपनी राजनीति का जिक्र किया और बिहार को फिर एक क्रांति के लिए तैयार रहने का संदेश भी दिया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की रक्षा करने के लिए मैंने अध्यक्ष पद से लेकर सांसद तक की कुर्सी गंवा दी, लेकिन मैं अपनी बातों से मुकरा नहीं। मैंने 11 करोड़ बिहार की जनता से जो वादा किया था, उसको निभाने के लिए कुछ भी करुंगा। मैनें बीजेपी के रथ को बिहार में महागठबंधन बनाकर रोका था, वह प्रयोग सफल रहा। अब पूरे देश में यह प्रयोग होगा। केंद्र की सरकार अपने किए हुए वादे को पूरे करने में विफल रही है। देश को सिर्फ तीन साल में लव जिहाद, नोटबंदी, गाय का मुद्दा दिया, जबकि हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देना था।

लोकतंत्र में झूठ ज्यादा दिन तक नहीं चलता, जनता सब जानती


लोकतंत्र में झूठ ज्यादा दिन तक नहीं चलता है, जनता सब जानती है। नीतीश कुमार ने महागठबंधन के समय कहा था कि वो बीजेपी के साथ नहीं जाएंगे पर ऐसा क्या हो गया कि अचानक दो घंटे में ही पलट गए। लालू यादव नीतीश को महागठबंधन का नेता बनाने को तैयार नहीं हो रहे थे। उन्होंने कहा था मेरे ऊपर जो साजिश के तहत मामला चलाया जा रहा है, वह भी नीतीश कुमार ने करवाया था।

जल्द विहार को नया विकल्प मिलेगा : अली अनवर


पूर्व राज्यसभा सांसद अली अनवर ने शायराना अंदाज में शरद यादव के बारे में कहा कि इनकी हिम्मत को सराहो, इनके साथ चलो, इन्होंने एक चिराग जलाया है हवा के खिलाफ। शरद यादव ने रास्ता बनाया है और कितनों को रास्ता दिखाया है। समता पार्टी को खड़ा कर उसको सत्ता तक पहुंचाया है। पलटू कुमार ने इनको भी धोखा दिया। हमारे अंदर समझ होती है क्या अच्छा है, क्या बुरा है।

चुनाव में सबक देनी की अपील


शरद यादव ने वर्तमान सांसद व विधायक पर आरोप लगाया कि जिनका नीतीश कुमार ने टिकट काट लिया था, आज वो उनके पाले में खड़े हैं। वर्तमान सांसद को नीतीश कुमार टिकट देना नहीं चाहते थे, लेकिन मैंने दिलवाया। आज उस शख्स ने मंत्री बनने के लालच में मुझे धोखा दिया।