Hindi News »Bihar »Patna» Shubha Muhurat For Marrige In 2018

2018 में 62 दिन बजेगी शहनाई, 23 फरवरी से 1 मार्च तक शादी के लिए मुहूर्त नहीं

23 फरवरी से एक मार्च तक होलाष्टक के चलते विवाह नहीं किए जाएंगे। होली के दिन शाम से मुहूर्त प्रारंभ होंगे।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 14, 2017, 04:12 AM IST

  • 2018 में 62 दिन बजेगी शहनाई, 23 फरवरी से 1 मार्च तक शादी के लिए मुहूर्त नहीं
    +1और स्लाइड देखें

    बक्सर.नए वर्ष 2018 में विवाह मुहूर्त का टोटा रहेगा। पूरे वर्ष में केवल 62 दिन ही मुहूर्त रहेंगे। जनवरी में एक भी मुहूर्त नहीं है। 7 फरवरी से शुरू होकर 16 जुलाई तक विवाह के लिए मुहूर्त रहेंगे। इसके बाद अगस्त से नवंबर तक मुहूर्त नहीं होने से विवाह नहीं होंगे। मुहूर्त 8 दिसंबर से प्रारंभ होंगे। सर्वाधिक विवाह समारोह 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया पर होंगे। आगामी 21 जुलाई को भड़ली नवमी पर मुहूर्त नहीं रहेगा। ज्योतिष पं. प्रभंजन भारद्वाज के मुताबिक गत रविवार को विवाह का आखिरी मुहूर्त था।

    23 फरवरी से 1 मार्च तक नहीं हो सकेगा विवाह


    23 फरवरी से एक मार्च तक होलाष्टक के चलते विवाह नहीं किए जाएंगे। होली के दिन शाम से मुहूर्त प्रारंभ होंगे, जो 16 जुलाई तक रहेंगे। अगस्त से नवंबर तक कई बार गुरु शुक्र के अस्त रहने, सूर्य के कर्क, तुला वृश्चिक आदि राशियों में रहने पर भी विवाह नहीं होंगे। देवउठनी ग्यारस 19 नवंबर को रहेगी। इस दिन विवाह मुहूर्त नहीं रहेगा पर इस दिन कुछ लोग अबूझ मुहूर्त होने पर विवाह कर सकेंगे। जानकारों के मुताबिक दिसंबर में केवल 4 दिन मुहूर्त रहेंगे।

    मुहूर्त कब-कब और कितने दिन


    - मई-1 से 6, 11 से 13 (9 दिन)
    - जून-14,18, 20, 21, 23, 26, 27 से 30 (10 दिन)
    - जुलाई-4 से 6, 9 से 11, 15, 16 (8 दिन)
    - दिसंबर-8, 10, 11 15 ( 4 दिन)
    - फरवरी- 7 से 13,18 से 20 (10 दिन)
    - मार्च- 1 से 8, 10, 12, 13 (11 दिन)
    - अप्रैल-18 से 20, 24 से 30 (10 दिन)

    मुहूर्त कम होने की ये भी वजह

    सर्वाधिक विवाह 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया पर किए जाएंगे। 16 मई से 13 जून तक अधिकमास (पुरुषोत्तम मास) रहने पर विवाह नहीं होंगे। मई के पहले जून के दूसरे पखवाड़े में मुहूर्त रहेंगे। आगामी 23 जुलाई आषाढ़ शुक्ल देवशयनी एकादशी से चातुर्मास प्रारंभ हो जाएगा। इसके बाद 16 दिसंबर से 13 जनवरी तक खरमास रहेगा। इसी तरह 13 नवंबर से 7 दिसंबर तक गुरु ग्रह के अस्त रहने पर विवाह नहीं होंगे।

    विवाह का कारक :विवाह का कारक ग्रह, शुक्र सोमवार को पूर्व दिशा में अस्त हो चुका है। गौरतलब है कि 16 दिसंबर 2017 से खरमास प्रारंभ होगा, जो 13 जनवरी 2018 तक रहेगा।

  • 2018 में 62 दिन बजेगी शहनाई, 23 फरवरी से 1 मार्च तक शादी के लिए मुहूर्त नहीं
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×