--Advertisement--

जज ने जैसे ही कहा- ये हैं निर्दोष, सुनते ही लालू यादव के चेहरे पर आ गई थी खुशी

ये सभी दोषमुक्त हैं, कोर्ट रूम में मौजूद लालू प्रसाद के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ गई।

Danik Bhaskar | Dec 24, 2017, 04:08 AM IST

रांची/पटना. रांची सिविल कोर्ट में शनिवार को जबरदस्त गहमागहमी थी। सुरक्षाकर्मी भी पूरी तरह अलर्ट थे। फैसला सुनाते वक्त सीबीआई की विशेष अदालत के जज ने जैसे ही पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र सहित छह दूसरे आरोपियों का नाम पुकारा और कहा कि ये सभी दोषमुक्त हैं, कोर्ट रूम में मौजूद लालू प्रसाद के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ गई। लोग समझ बैठे लालू प्रसाद भी बरी हो गए।

22 मिनट में लालू के 11 ट्वीट

सीबीआई कोर्ट में जज ने लालू प्रसाद को करीब 3.47 बजे दोषी करार दिया। इसके बाद लालू प्रसाद ने 4.21 बजे से लेकर 4.43 बजे तक 11 ट्वीट किए। इनमें से एक में उन्होंने लिखा कि साथ हर बिहारी है। अकेला सब पर भारी है। सच की रक्षा करने को, लालू का संघर्ष जारी है। इसके अलावा उन्होंने कई ट्वीट किए जिसमें बेटे तेजस्वी, तेज नारायण से लेकर बिहार के बड़े समर्थकों ने कहा कि वे उनके साथ हैं।

जिसने जुर्म स्वीकारा, उसे 7 साल की सजा

लालू को दोषी करार देने के बाद सबसे बड़ी चर्चा कि उनको सजा कितनी? कानूनी विशेषज्ञों की माने तो उन्हें तीन साल से लेकर उम्रकैद तक की सजा सुनाई जा सकती है। बता दें कि पीसी एक्ट की धारा 13 -2 एक्ट : 10 साल (सिर्फ सरकारी सेवक पर) चारा घोटाला के इस मामले में दो आरोपियों को सात-सात साल की सजा मिल चुकी है। दो आरोपी प्रमोद कुमार जायसवाल और सुशील कुमार ने जुर्म स्वीकार किया था। इसके बाद इन्हें सजा सुनाई गई थी।

बरी हो गए लालूजी!

इस बीच एक-दो चैनलों पर लालू प्रसाद के बरी होने की खबर चलने से अचानक वहां मौजूद कार्यकर्ताओं ने न्याय की जीत के दावे के साथ जिंदाबाद की नारेबाजी शुरू कर दी। लेकिन, कुछ वक्त के बाद दोषी करार दिए जाने की खबर आते ही फिर से सन्नाटा पसर गया।