--Advertisement--

एनकाउंटर में मारा गया बेटा, पिता ने कहा- बुरा ही होता है बुरे काम का नतीजा

राहुल के पिता ने कहा कि जिस रास्ते पर बेटा चल रहा था उसका परिणाम तो यही होना था।

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 06:19 AM IST

रंगरा (भागलपुर). बीते बुधवार की रात कटिहार के पीसी ज्वेलर्स से डकैती कर भाग रहे लुटेरे राहुल यादव व चंदन के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने के बाद शुक्रवार को शव के पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने उनके परिजनों को सौंप दिया। परिजनों ने कटिहार के बरारी घाट पर दोनों का दाह संस्कार किया। इस दौरान रंगरा, कुरसेला व कटिहार नगर थाने की पुलिस भी श्मशान घाट पर मौजूद थी।

जवान बेटे की चिता को जलते देखकर राहुल के पिता उपेंद्र यादव ने कहा कि आखिर बुरे काम का बुरा नतीजा ही होता है। उन्होंने कहा कि जिस रास्ते पर बेटा चल रहा था उसका परिणाम तो यही होना था। उन्होंने कहा कि वे बार बार राहुल को गलत लोगों के संगत में नहीं जाने की हिदायत देते रहते थे। लेकिन राहुल ने उनकी बात नहीं मानी। बताते चलें कि राहुल यादव के पिता नवगछिया के रसलपुर के मूल निवासी थे। जो हाल ही में कटिहार स्थित छींटाबाड़ी मोहल्ले में अपना घर बना कर रह रहे थे। वे नवगछिया के जीबी कॉलेज में आदेशपाल हैं। पुलिस अनुसंधान में पता चला है कि राहुल जीबी कॉलेज का छात्र था मगर वह भागलपुर में लॉज में रहकर पढ़ाई करता था।

विनोद यादव की हत्या के बाद आरोपी रूपेश फौजी के भाई के संपर्क में आकर गलत रास्ते पर चल पड़ा था

विनोद यादव की हत्या के बाद राहुल इस हत्याकांड के नामजद आरोपी रूपेश फौजी के भाई सुजीत यादव के संपर्क में आया। यहीं से राहुल ने अपराध की दुनिया में कदम रखा। सुजीत यादव को विनोद यादव के समर्थकों से जान का खतरा था। इसलिए उसने राहुल, चंदन, रोशन व मोनू के अलावा चार-पांच युवकों के साथ मिलकर एक नया गिरोह तैयार कर लिया। यह गिरोह कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर, बांका आदि जिलों में वाहन लूट व डकैती की घटना को अंजाम दिया। इस दौरान ये लोग पुलिस की पैनी नजरों से लगातार बचते रहे। दूसरी ओर घटना में मारे गए दूसरे लुटेरे चंदन झा की मां अपने बेटे के शव को देख कर दहाड़ मार कर रो रही थी। मां ने बताया कि हमारा बेटा तो भागलपुर में रहकर पढ़ाई करता था। शायद वह किसी के बहकावे में आकर घटना में शामिल हो गया। उन्होंने कहा कि वे पिछले कई दिनों से बीमार थी। पिछले मंगलवार को उनका दवा लाने के लिए चंदन घर से निकला था।

जांच के लिए रंगरा पहुंची एसएफएल की टीम, लिए सैंपल

मुरली चौक के समीप पुलिस मुठभेड़ के में टावर चौक के समीप हुई दो लुटेरों की मौत के बाद शुक्रवार को घटना की जांच के लिए एसओएफएल की टीम घटनास्थल पर पहुंची। टीम ने जमीन पर गिरे खून के सैंपल व बिखरे पड़े चांदी के कुछ टुकड़ों के नमूने जांच के लिए अपने साथ ले गई। एसओएफएल टीम के साथ में रंगरा पुलिस भी साथ थी।

मेडिकल कॉलेज में हुआ शवों का पोस्टमार्टम

भागलपुर|रंगरा में पुलिस मुठभेड़ में मारे गए दोनों अपराधियों के शव का पोस्टमार्टम शुक्रवार को जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में हुआ। कटिहार पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच डॉक्टरों की टीम ने मारे गए बदमाश कटिहार के छींटाबाड़ी मोहल्ले का राहुल (25 वर्ष) और कुरसेला थाना क्षेत्र के कटरिया का चंदन झा (25 वर्ष) के शव को पोस्मार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।