--Advertisement--

बिहार के ये स्टंटमैन असहाय और जरूरतमंदों की करते हैं सेवा, देते हैं ये जवाब

मिलिट्री में भी करतब दिखाकर ट्रेनिंग कराते है। ये स्कूल भी चलाते हैं।

Danik Bhaskar | Jan 29, 2018, 04:55 AM IST

आरा. स्टंट के क्षेत्र में भोजपुर जिले के वीरेंद्र सम्राट नाम रोशन कर रहे हैं। इतना ही नहीं स्टंटमैन वीरेंद्र असहाय व जरूरतमंदोंं की सेवा और सहायता भी करते हैं। उनकी जिंदगी का मकसद मात्र लोकप्रियता अर्जित करना नहीं हैं। बल्कि, स्टंट के माध्यम से अर्जित की गई राशि से समाज के कल्याण व असहाय और जरूरतमंदों की सेवा करना है।

वीरेंद्र सम्राट जगदीशपुर के मझुपुर गांव के रहने वाले जान जोखिम में डालकर मोटर साइकिल पर खड़ा होकर पुस्तक पढ़ना, पेपर पढ़ना, चाय पीना, बंदूक से निशाना लगाना, खड़े होकर बाइक व अन्य करतब दिखाकर राशि एकत्र करते हैं। इसके साथ-साथ गरीब वर्ग की बेटी की शादी एवं बीमार व्यक्तियों को दवा कराते हैं। वीरेंद्र सम्राट सात अनाथ व असहाय बच्चों को पालते है। सम्राट एक अति संवेदनशील युवा हैं। जो 6 वर्ष पहले एक व्यक्ति को ट्रेन से गिरकर पैर गंवाने वाले व्यक्ति को मदद कर जान बचाया था।

करतब दिखाकर प्राप्त राशि से करते हैं गरीबों की सेवा

बिहार के सैकड़ों विद्यालय में वीरेंद्र सम्राट अपनी मोटर साइकिल के साथ करतब दिखा चुके हैं। करतब के माध्यम से अर्जित की गई राशि को प्रत्येक वर्ष एक गरीब बेटी की शादी पर खर्च करते हैं। अन्य गांव के आसपास गांव के लोगों के बारे में मालूम चलता है तो खुद जाकर बीमार लोगों को भी ऑपरेशन से लेकर दवा पर भी राशि खर्च का वहन करते हैं। मिलिट्री में भी करतब दिखाकर ट्रेनिंग कराते है। ये स्कूल भी चलाते हैं। इनके स्कूल में बिना फीस के पढ़ाये छात्रों को 3 लोगों को नौकरी भी मिल चुकी है जिसमें परिसियां गांव के धमेंद्र पासवान, मझुपुर के लाल बहादुर साह व एक अन्य सीआईएसएफ और रेलवे में नौकरी कर रहे हैं।

क्या कहते हैं वीरेंद्र सम्राट?

उन्होंने कहा कि मैं गरीब गुरबों की मदद के लिए स्टंटमैन बना हूं। अपना परिवार चलाने के लिए एक निजी स्कूल चलाता हूं। स्टंटमैन होना जोखिम भरा काम है। सिर्फ चाहने से कोई स्टंटमैन नहीं बनता। इसके चक्कर में लोग जान गंवा देते हैं। अपंग भी हो सकते हैं। सम्राट ने बताया की एक विधवा महिला आशा की शादी भी कराया हूं। वर्ष 2014 में परसिया गांव के सब्जी विक्रेता हृदयानंद के बेटा को पैसे के वजह से ऑपरेशन नहीं हो रहा था। मालूम चलने पर ऑपरेशन कराया।

क्या-क्या दिखाते हैं करतब ?

स्टंट मैन वीरेंद्र सम्राट ने अनेकों बाइक पर करतब दिखाए हैं। जैसे बाइक पर खड़ा होकर पुस्तक पढ़ना, अखबार पढ़ना, चलती मोटर साइकिल से पैर ऊपर करना, अांखों पर काली पट्टी बांधकर चलाना आदि। ये बंद आंखों से चलती बाइक पर से बंदूक से निशाना लगाने के अलावा तलवार भांजना की कला भी दिखा चुके हैं। इसलिए लोग उन्हें खतरों का खिलाड़ी भी कहते हैं।