--Advertisement--

चार महीने से निलंबित चल रहा था पुलिस का जवान, जहर खाकर किया सुसाइड

मृतक पुलिस जवान सत्यनारायण वर्तमान में रोहतास जिला पुलिस बल में पदस्थापित था और वहीं से निलंबित चल रहा था।

Dainik Bhaskar

Jan 31, 2018, 06:50 AM IST
Suspended police personnel commits suicide

मुंगेर. यहां के खड़गपुर झीलपथ स्थित गांधीटोला निवासी बिहार पुलिस के एक जवान सत्यनारायण दास ने सोमवार की शाम घर में ही जहर खा कर आत्महत्या कर ली। वह पिछले चार महीने से निलंबित चल रहा था। जिसकी वजह से इन दिनों उसकी आर्थिक स्थिति भी ठीक नहीं थी। ग्रामीणों के अनुसार, निलंबन के बाद से ही वह घर पर था और आर्थिक तंगी में गुजर रहा था।

जहर खाने के तुरंत बाद परिजनों द्वारा उसे खड़गपुर में एक चिकित्सक के पास ले गए। लेकिन स्थिति बिगड़ने के बाद उसे सदर अस्पताल मुंगेर ले जाया गया। वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक के परिजनों एवं नजदीकी मित्रों ने बताया कि सत्यनारायण पिछले 4 माह से निलंबित थे और आर्थिक तंगी की वजह से मानसिक तनाव में भी रहते थे। घटना सोमवार की देर शाम की है। कुछ ग्रामीणों ने दबी जुबान से कहा कि जवान का सोमवार की शाम अपने ससुराल पक्ष से कुछ घरेलू विवाद भी हुआ था, जिससे वह खुद को अपमानित महसूस कर रहा था। शायद इसी आत्मग्लानि और निलंबन के तनाव की वजह से उसने आत्महत्या कर ली।

रोहतास में तैनाती के दौरान हुआ था निलंबित

मृतक पुलिस जवान सत्यनारायण वर्तमान में रोहतास जिला पुलिस बल में पदस्थापित था और वहीं से निलंबित चल रहा था। इससे पूर्व वह बांका जिले में तैनात था। निलंबन के बाद वह अपने गांव झीलपथ स्थित गांधीटोला में ही रह रहा था।

दिन में दोस्तों के साथ गया था पिकनिक

सोमवार को सत्यनारायण अपने साथियों के साथ पिकनिक मनाने खड़गपुर के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल भीमबांध भी गया था। मित्रों के अनुसार सत्यनारायण पिकनिक के दौरान भी गुमसुम दिख रहा था और दोपहर 12 बजे ही वह भीमबांध से लौट गया था।

भूमि विवाद में हो गई थी पिता की हत्या


सत्यनारायण के पिता अशोक दास शिक्षक थे। 1997 में भूमि विवाद में उनकी हत्या कर दी गई थी। पिता की जगह सत्यनरायण की मां को शिक्षक की नौकरी मिली थी। उन्होंने सत्यनारायण को पढ़ाया। वर्ष 2013 में सत्यनारायण का चयन बिहार पुलिस में हो गया था। नौकरी मिलने के कुछ दिन बाद ही उसने अपने ही गांव की युवती खुशबू से प्रेम विवाह कर लिया था। करीब 3 साल पूर्व सत्यनारायण को एक बच्ची भी पैदा हुई थी लेकिन कुछ दिन बाद उसकी मौत हो गई थी।

Suspended police personnel commits suicide
Suspended police personnel commits suicide
Suspended police personnel commits suicide
Suspended police personnel commits suicide
X
Suspended police personnel commits suicide
Suspended police personnel commits suicide
Suspended police personnel commits suicide
Suspended police personnel commits suicide
Suspended police personnel commits suicide
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..