--Advertisement--

टक्कर के बाद ऐसा हो गया पैसेंजर टेम्पो का हाल, कोहरे के चलते हुआ एक्सीडेंट

बताया जा रहा है कि टेम्पो पर क्षमता से अधिक 11 पैसेंजर थे।

Dainik Bhaskar

Jan 06, 2018, 03:32 AM IST
एक्सीडेंट के बाद ऐसा हो गया था टेम्पो का हाल। एक्सीडेंट के बाद ऐसा हो गया था टेम्पो का हाल।

औरंगाबाद. कोहरे के कारण एक बार फिर सड़क हादसे में तीन लोगों की जानें चली गई। एक सप्ताह के अंदर शहर में यह तीसरी घटना है। शुक्रवार सुबह एनएच दो पर ट्रक ने एक टेम्पो में पीछे से जोरदार टक्कर मार दी। इससे टेम्पो सड़क पर आगे खड़ी दूसरी कंटेनर में जा टकराया और पीछे से टक्कर मारने वाला पहला ट्रक भी कंटेनर मेें धक्का मार दिया। टेम्पो, ट्रक व कंटेनर के बीच में दब गया। जिससे टेम्पो पर सवार दो लोगों (पिता-बेटी) की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि तीसरी मौत (टेम्पो चालक) सदर अस्पताल में हुई। वहीं छह लोग घायल हो गए।

मरने वालों में 35 वर्षीय मोहम्मद शमशेर, चार वर्षीय जासमीन, टेंपो ड्राइवर आनंद सिंह शामिल हैं। जबकि घायलों में मृतक शमशेर की पत्नी रूबीना प्रवीण, अजय सिंह, गौरव कुमार, ट्रक ड्राइवर कृष्णा यादव, अली हुसैन और दूसरे ट्रक का स्टॉफ राजेश महतो शामिल हैं। सभी घायलों की हालत गंभीर है। घायलों को प्राइमरी उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए बारी-बारी रेफर कर दिया गया है।

क्रेन की मदद से सभी गाड़ियों को हाइवे से हटाया

सूचना पर मुफस्सिल थाना की पुलिस मौके पर पहुंचे और तत्काल क्रेन की मदद से सभी क्षतिग्रस्त गाड़ियों को हाइवे से हटाया। उसमें फंसे शवों को भी बाहर निकाला गया। बताया जा रहा है कि कम विजिबलिटी के चलते आगे गाड़ियों को देख टेम्पो ड्राइवर ने अपनी स्पीड कम कर दी। लेकिन पीछे से आ रहे ट्रक ड्राइवर को घने कोहरे के चलते टेम्पो नहीं दिखा। इसके बाद टेम्पो और ट्रक में जोरदार टक्कर हो गई।

टेम्पो पर सवार थे 11 पैसेंजर

बताया जा रहा है कि टेम्पो पर क्षमता से अधिक 11 पैसेंजर थे। घटनास्थल से स्थानीय लोगों की मदद से सभी घायलों को सदर अस्पताल पहुंचाया गया। लेकिन उन्हें उचित इलाज नहीं मिल सका। जिससे सदर अस्पताल में टेम्पो ड्राइवर अानंद सिंह दम तोड़ दिया। टेम्पो चालक का उचित इलाज होता तो उसकी जान बच जाती। आईसीयू 8 माह से बंद है।

टक्कर में ट्रक भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुआ था। टक्कर में ट्रक भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुआ था।
ट्रक के ड्राइवर को भी चोटें आईं हैं जिसके बाद उसे हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया। ट्रक के ड्राइवर को भी चोटें आईं हैं जिसके बाद उसे हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया।
आसपास के लोगों ने बताया कि हादसा कोहरे की वजह से हुआ है। आसपास के लोगों ने बताया कि हादसा कोहरे की वजह से हुआ है।
हादसे में मृत शख्स और बच्ची। हादसे में मृत शख्स और बच्ची।
हॉस्पिटल में रोते बिलखते परिजन। हॉस्पिटल में रोते बिलखते परिजन।
हॉस्पिटल में रोते बिलखते परिजन। हॉस्पिटल में रोते बिलखते परिजन।
कोहरे के चलते विजिबलिटी बिलकुल कम हो गई है। कोहरे के चलते विजिबलिटी बिलकुल कम हो गई है।
घायलों को रेफर कर ले जाते उनके परिजन। घायलों को रेफर कर ले जाते उनके परिजन।
X
एक्सीडेंट के बाद ऐसा हो गया था टेम्पो का हाल।एक्सीडेंट के बाद ऐसा हो गया था टेम्पो का हाल।
टक्कर में ट्रक भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुआ था।टक्कर में ट्रक भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुआ था।
ट्रक के ड्राइवर को भी चोटें आईं हैं जिसके बाद उसे हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया।ट्रक के ड्राइवर को भी चोटें आईं हैं जिसके बाद उसे हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया।
आसपास के लोगों ने बताया कि हादसा कोहरे की वजह से हुआ है।आसपास के लोगों ने बताया कि हादसा कोहरे की वजह से हुआ है।
हादसे में मृत शख्स और बच्ची।हादसे में मृत शख्स और बच्ची।
हॉस्पिटल में रोते बिलखते परिजन।हॉस्पिटल में रोते बिलखते परिजन।
हॉस्पिटल में रोते बिलखते परिजन।हॉस्पिटल में रोते बिलखते परिजन।
कोहरे के चलते विजिबलिटी बिलकुल कम हो गई है।कोहरे के चलते विजिबलिटी बिलकुल कम हो गई है।
घायलों को रेफर कर ले जाते उनके परिजन।घायलों को रेफर कर ले जाते उनके परिजन।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..