--Advertisement--

छत पर ये कपल करता है यूनिक खेती, गमलों में ही उगाते हैं कई तरह की सब्जी

ये कपल खेत में न जाकर घर की छत पर ही इस तरीके से सब्जियां उगा रहा है जिसे देखने के लिए गांव के साथ दूर से लोग आते हैं।

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2017, 12:31 AM IST
पौधों की देखभाल करती शकुंतला देवी। पौधों की देखभाल करती शकुंतला देवी।

समस्तीपुर. बिहार समस्तीपुर में एक बुजुर्ग कपल खेती करने वालों के लिए मिसाल बन गया है। ये कपल खेत में न जाकर घर की छत पर ही इस तरीके से सब्जियां उगा रहा है, जिसे देखने के लिए गांव के साथ-साथ दूर से लोग आते हैं। ये सभी लोग सब्जियां तो लेते ही हैं, साथ में उनसे इसके तरीके सिखते हैं।

100 मीटर की छत पर उगाई कई सब्जियां

शकुंतला देवी और उनके पति के घर की छत मात्र 100 मीटर है। ये घर की छत पर ही कई गमलों में सब्जियां लगाते हैं। खेती के लिए वे एक किसान की ही तरह मेहनत करते हैं। दंपती का कहना है कि अगर इस तरीके से घर की छत पर अपने लिए ही खेती की जाए तो घर की सब्जी के लिए आपको सोचना नहीं पड़ेगा। न ही बाजार जाने की जरूरत पड़ेगी। शकुंतला देवी ने बताया कि फिलहाल उन्होंने टमाटर की खेती की हुई है। इसके अलावा वे मिर्च, बैंगन, गोभी, प्याज आदि की भी खेती करती हैं।

ऐसे आया कपल को आइडिया

जानकारी के मुताबिक, दंपती की कोई संतान नहीं है। ऐसे में, इन्होंने खुद को बिजी रखने के लिए छत पर ही खेती का सोचा। फिर गमले इकट्ठे किए और गोबर, मिट्टी डालकर उसमें सब्जियां उगाई। शकुंतला देवी का कहना है कि 100 मीटर की छत पर वे गमले में ही लगभग सारी सब्जियां उगाती हैं और मोहल्ले के लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करती हैं। उनका कहना है कि ये सब्जियों की खेती ही उनके लिए सब कुछ है। इसी में दोनों का पूरा दिन निकल जाता है। उन्होंने बताया कि उन्हें अच्छी तरह पता है कि किस मौसम में कौन-सी सब्जी उगाई जा सकती है। उन्होंने बताया कि इस तरह की खेती का सबसे अच्छा फायदा ये है कि बाजार में मौजूद रासायनिक विधि से तैयार की गई सब्जी से बचा जा सकता है।

आगे की स्लाइड्स में देखें रिलेटेड फोटोज....

शकुंतला देवी और उनके हसबैंड। शकुंतला देवी और उनके हसबैंड।
शकुंतला देवी के घर की छत पर लगे पौधों को देखने पहुंचे गांव के लोग। शकुंतला देवी के घर की छत पर लगे पौधों को देखने पहुंचे गांव के लोग।
गमलों में लगे पौधे। गमलों में लगे पौधे।
टमाटर के पौधों की देखरेख करते शकुंतला देवी के हसबैंड। टमाटर के पौधों की देखरेख करते शकुंतला देवी के हसबैंड।
शकुंतला देवी के घर पहुंची एक महिला जानकारी देती हुई। शकुंतला देवी के घर पहुंची एक महिला जानकारी देती हुई।
एक बुजुर्ग को जानकारी देती शकुंतला देवी। एक बुजुर्ग को जानकारी देती शकुंतला देवी।
छत पर गमलों में लगे टमाटर के पौधे। छत पर गमलों में लगे टमाटर के पौधे।
जानकारी देती शकुंतला देवी। जानकारी देती शकुंतला देवी।
जानकारी देते शकुंतला देवी के हसबैंड। जानकारी देते शकुंतला देवी के हसबैंड।
X
पौधों की देखभाल करती शकुंतला देवी।पौधों की देखभाल करती शकुंतला देवी।
शकुंतला देवी और उनके हसबैंड।शकुंतला देवी और उनके हसबैंड।
शकुंतला देवी के घर की छत पर लगे पौधों को देखने पहुंचे गांव के लोग।शकुंतला देवी के घर की छत पर लगे पौधों को देखने पहुंचे गांव के लोग।
गमलों में लगे पौधे।गमलों में लगे पौधे।
टमाटर के पौधों की देखरेख करते शकुंतला देवी के हसबैंड।टमाटर के पौधों की देखरेख करते शकुंतला देवी के हसबैंड।
शकुंतला देवी के घर पहुंची एक महिला जानकारी देती हुई।शकुंतला देवी के घर पहुंची एक महिला जानकारी देती हुई।
एक बुजुर्ग को जानकारी देती शकुंतला देवी।एक बुजुर्ग को जानकारी देती शकुंतला देवी।
छत पर गमलों में लगे टमाटर के पौधे।छत पर गमलों में लगे टमाटर के पौधे।
जानकारी देती शकुंतला देवी।जानकारी देती शकुंतला देवी।
जानकारी देते शकुंतला देवी के हसबैंड।जानकारी देते शकुंतला देवी के हसबैंड।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..