--Advertisement--

पत्नी की हत्या कर कंबल से ढका, फिर बाहर से कमरा बंद कर बच्चों को ले पति फरार

मकान मालकिन मुन्नी देवी ने बताया कि एक साल से उनके मकान में संजय पत्नी और दोनों बच्चों को लेकर रह रहा था।

Danik Bhaskar | Mar 13, 2018, 06:28 AM IST
भीखनपुर बुनियादी स्कूल गली में शव मिलने पर पूछताछ करती पुलिस। भीखनपुर बुनियादी स्कूल गली में शव मिलने पर पूछताछ करती पुलिस।

भागलपुर. इशाकचक के बुनियादी स्कूल की गली में पति ने पत्नी की हत्या कर दी। लाश को बिछावन और कंबल से ढककर बाहर से कमरा बंदकर बच्चों को लेकर फरार हो गया। बंद कमरे से दुर्गंध आने पर मकान मालिक ने पुलिस को सूचना दी। कमरे का ताला तोड़कर पुलिस ने लाश को कब्जे में लिया। मृतका सोनी देवी (40) रिक्शा चालक संजय तांती की पत्नी थी। वह एक साल से अपने दो बच्चों और पति के साथ श्याम तांती के मकान में किराए पर रह रही थी।

महिला की हत्या कैसे की गई इसका पता नहीं चल सका है। पर पुलिस ने संभावना जताई है कि जहर खिलाकर या गला दबाकर उसे मारा गया होगा। महिला मूल रूप से जमालपुर के आसिफपुर की रहने वाली थी, उसका मायका मुंगेर के साफियाबाद में है। मृतका की बहन लालूचक निवासी मुन्नी देवी का आरोप है कि उसके बहनोई, बहन को प्रताड़ित करता था।

बीमारी का बहाना बना घर से निकला था संजय
मकान मालकिन मुन्नी देवी (श्याम तांती की पत्नी) ने बताया कि शुक्रवार की रात तक सोनी दिखी थी। शनिवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे संजय तांती ने उनलोगों को जगाया और कहा कि सोनी की बहन बीमार है। दोनों बच्चों को लेकर वहीं जा रहे हैं। सोनी पहले ही चली गई है। इतना कहकर संजय ने कहा कि गेट बंद कर लीजिए। उस समय लगा कि संजय सच बोल रहा है। एक दिन बाद ही कमरे से हल्की-हल्की दुर्गंध आने लगी। तब सोमवार की शाम को पुलिस को सूचना दी गई।

संजय तांती पहले पटना में चलाता था रिक्शा
मृतका की बहन मुन्नी ने बताया कि 10-12 साल तक बहनोई (संजय) पटना में रहकर रिक्शा चलाता था। वहां भी बहन को काफी मारता-पीटता था। एक बार सोनी की आंख के पास कट भी गया था। आठ दिन पहले सोनी से मुलाकात हुई थी, लेकिन उसने कुछ बताया नहीं। अचानक उसकी हत्या हो जाने का कारण समझ में नहीं आ रहा है।

दाह-संस्कार के लिए मोहल्ले के लोग करेंगे चंदा
लाश को उठाकर पोस्टमार्टम हाउस ले जाने वाला भी कोई नहीं था। इस कारण मोहल्ले के लोग आगे आए और पुलिस की मदद की। मंगलवार को लाश का पोस्टमार्टम होगा। सोनी के दाह-संस्कार के लिए मोहल्ले के लोग आपस में चंदा करेंगे।

एक साल से किराए के मकान में रह रहा था
मकान मालकिन मुन्नी देवी ने बताया कि एक साल से उनके मकान में संजय पत्नी और दोनों बच्चों को लेकर रह रहा था। पर कभी भी उसने अपनी पत्नी को नहीं पीटा।

सोनी कुमारी फाइल फोटो। सोनी कुमारी फाइल फोटो।