--Advertisement--

भाभी ने लगाए ऐसे आरोप, फिर देवरानी ने खुद को लगा ली आग, हॉस्पिटल में एडमिट

रेफरल अस्पताल में पीड़िता ने बताया कि जेठानी विमला देवी हमेशा मेरे चरित्र पर सवाल उठाते रहती है।

Danik Bhaskar | Jan 29, 2018, 07:13 AM IST

सुल्तानगंज. जेठानी के चरित्रहीनता का आरोप लगाने से नाराज अकबरनगर थाना के नयाटोला मोतीचक की 40 वर्षीया ललिता देवी ने रविवार को अपने शरीर पर केरोसिन छिड़कर आग लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। महिला को जलते देख परिजन व आसपास के लोग उसे बचाने दौड़े। लोगों ने किसी तरह आग बुझाई, लेकिन तब तक वह 70 फीसदी से अधिक झुलस चुकी थी।

70 फीसदी जल चुकी है महिला

इसके बाद परिजनों ने आनन-फानन में उसे इलाज के लिए सुल्तानगंज रेफरल अस्पताल पहुंचाया। वहां प्राथमिकी उपचार के बाद डॉक्टरों ने उसकी गंभीर हालत देखते हुए मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया। रेफरल अस्पताल में पीड़िता ने बताया कि जेठानी विमला देवी हमेशा मेरे चरित्र पर सवाल उठाते रहती है। वह अपने बेटे के साथ मेरा संबंध होने की बात कह कर बदनाम करती है। इस बात को लेकर हम दोनों के बीच रोज-रोज विवाद होता था। रविवार को भी इसी बात को लेकर वह मुझे प्रताड़ित कर रही थी। इससे तंग आकर मैंने आवेश में खुद पर केरोसिन तेल उड़ेल आग लगा ली। लेकिन परिजन व आसपास के लोगों ने मुझे बचा लिया।

वहीं अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने बताया कि महिला 70 प्रतिशत से अधिक झुलस गई है। उसकी गंभीर हालत देखते हुए उसे मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया गया। इस संबंध में अकबरनगर थानाध्यक्ष विकास कुमार सिंह ने बताया कि घटना की जानकारी अब तक किसी ने नहीं दी है। फिर भी पुलिस अपने स्तर से मामले की छानबीन कर रही है।

घटना के समय खेत में काम करने गए थे पति

घटना के समय महिला के पति शंकर मंडल घर पर नहीं थे। वे अपने खेत पर काम करने के लिए सुबह ही निकल गए थे। ग्रामीणों की सूचना पर वे भागते हुए घर पहुंचे। अस्पताल में पति ने बताया कि ग्रामीणों की सूचना पर मैं जब घर पहुंचा तो पत्नी पत्नी बुरी तरह झुलस गई थी। लोगों के सहयोग से उसे अस्पताल लेकर आया। उन्होंने बताया कि पत्नी पर बराबर मेरी भाभी चरित्रहीनता का आरोप लगाते रहती है। कई बार उसे ऐसा करने से मना किया। इसी से तंग आकर गुस्से में पत्नी ने यह कदम उठा लिया।