Hindi News »Bihar »Patna» Young Man Returned Home After 30 Years

बीवी, बेटा व माता-पिता को छोड़ घर से भागा युवक 30 साल बाद योगी बन लौटा

घरवालों के समझाने के बावजूद राम शोभित गृहस्थ जीवन अपनाना नहीं चाहता है।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 03, 2017, 08:07 AM IST

  • बीवी, बेटा व माता-पिता को छोड़ घर से भागा युवक 30 साल बाद योगी बन लौटा

    बेगूसराय.30 साल पहले घर से भागा युवक योगी के रूप में भिक्षा लेने अपने घर पहुंचा तो परिजनों ने उसे पहचान लिया। पहचान छुपाने की अथक कोशिश के बावजूद परिजनों के सामने योगी की एक न चली। अपनों को सामने पाकर योगी का दिल पिघल गया और उनकी आंखें नम हो गईं। फिर उनके परिजनों में खुशी का ठिकाना नहीं रहा।


    तीस साल बाद घर लौटे युवक को देखने ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। यह वाकया फफौत पंचायत के तारा गांव में शनिवार को देखने को मिला। तारा गांव के बुजुर्गों ने बताया कि यह साधू स्व. बिन्देश्वरी महतो का पुत्र राम शोभित महतो है, जो तीस साल पहले अपना घर द्वार छोड़कर भाग गया था। जब लोगों ने साधू से उसका व्यक्तिगत परिचय पूछा तो उसने पहले कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। पहचान लिए जाने की बात पर उस साधू ने बताया वह वास्तव में तारा गांव का राम शोभित ही है।


    उसने बताया कि बचपन से ही उसे साधू बनने की चाहत थी। जब वह युवा हुआ, तो उसके पिता ने उसकी शादी कर दी, जिससे उसको एक पुत्र भी हुआ। पुत्र होने के बाद उसने अपने मां, बाप, पत्नी, पुत्र को छोड़कर भाग गया। भटकते-भटकते वह योगी बन गया। योगी के रूप में वह गांव-गांव घूमकर भिक्षाटन करने लगा। एक दिन उसके गुरू ने बताया कि सिद्धि प्राप्ति के लिए उसे अपने परिजनों से भी भिक्षा मंगनी होगी। इसी सिलसिले में आज वह अपने गांव आया है। उसने बताया कि अब उसके मां-बाप नहीं रहे, उसे मालूम हुआ कि उसकी पत्नी राम ज्योति देवी उसके वियोग में तकरीबन दो वर्ष पूर्व स्वर्ग सिधार गई है। परिवार के किसी सदस्य से भिक्षा लेकर वह लौट जाएगा, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।

    साधु बनकर ही रहना चाहते हैं राम शोभित


    ग्रामीण व घरवालों के समझाने के बावजूद राम शोभित गृहस्थ जीवन अपनाना नहीं चाहता है। फिलहाल योगी तारा गांव में ही अपने घर के पास ठहरा है। दूसरी ओर उसके पुत्र फुलेन कुमार ने बताया कि जिस पिता का चेहरा ठीक से देख नहीं पाया था। आज उनको सामने पाकर उसका खुशी का ठिकाना नहीं है। वह अपने पिता से साधु का जीवन छोड़कर गृहस्थ जीवन अपनाने को बार-बार विनती कर रहा है। परंतु उसके पिता इस बात को कतई मानने को तैयार नही हैं। तारा गांव के ग्रामीणों ने बताया कि गांव से भागा युवक आज अधेड़ व्यक्ति के रूप में वापस लौटा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×