• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • बेटे को गंगा में फेंकते हुए नहीं कांपी मां की ममता, पर शव देख फटा कलेजा
--Advertisement--

बेटे को गंगा में फेंकते हुए नहीं कांपी मां की ममता, पर शव देख फटा कलेजा

नासरीगंज स्थित गंगा नदी के तट पर शुक्रवार को एक महिला बदहवास सी दौड़ते हुए पहुंची। उसने गोद में सात माह के दुधमुंहे...

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 02:00 AM IST
बेटे को गंगा में फेंकते हुए नहीं कांपी मां की ममता, पर शव देख फटा कलेजा
नासरीगंज स्थित गंगा नदी के तट पर शुक्रवार को एक महिला बदहवास सी दौड़ते हुए पहुंची। उसने गोद में सात माह के दुधमुंहे बेटे को लिए हुए थी। अचानक उसने बेटे को आंचल की छांव से बहार निकाला और गंगा के गहरे पानी की तरफ उछाल दिया। जिस बेटे को नौ माह गर्भ में रख जन्म दिया उसे मौत की नींद सुलाते हुए ना तो मां की ममता कांपी ना ही उसके हाथ। बेटे की जिंदगी ख़त्म कर वह चुपचाप घर लौट आई। घर वालों ने पूछ तो बगैर किसी भाव वाले शांत चेहरे और सर्द आवाज से बोली की गंगा में फेंक दिया। उसकी बात सुन घर में कोहराम मच गया। सभी लोग गंगा की तरफ भागे। वहां बच्चे को पानी में पड़ा देख किसी तरह बाहर निकाला और आनन-फानन में अस्पताल ले गए पर तब तक बच्चा दम तोड़ चुका था।

परिजन उसे लेकर अस्पताल गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद सब चीत्कार उठे और शव को लेकर घर लौट गए। सूचना मिलने पर पुलिस ने निर्दयी मां को गिरफ्तार कर लिया गया। पर जब शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाने लगा तो मां की ममता जागी और उसका कलेजा फट गया। शव को गोद में ले खुद के किए पर पश्चाताप करते हुए झकझोरने लगी।

खाना बनाने को लेकर हुआ पति के साथ विवाद

घटना का कारण खाना बनाने को लेकर पति के साथ हुआ विवाद बताया जा रहा है। पूछताछ के दौरान नासरीगंज के रहने वाली आरोपी नीतू कुमारी ने भी बताया कि खाना बनाने के लिए कहने पर उसने पति जितेन्द्र राय को बच्चा संभालने को कहा। इसी को लेकर दोनों में विवाद हुआ और गुस्से में वह बेटे को गंगा में फेंक आई। दोनों को साढ़े तीन साल का एक और बेटा धीरज और करीब सात साल की बेटी स्नेहा है। थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह ने बताया कि मामला दर्ज कर महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है।

X
बेटे को गंगा में फेंकते हुए नहीं कांपी मां की ममता, पर शव देख फटा कलेजा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..