• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • खुसरूपुर में युवक की हत्या, दो को हिरासत में लिया तो पुलिस पर पथराव
--Advertisement--

खुसरूपुर में युवक की हत्या, दो को हिरासत में लिया तो पुलिस पर पथराव

बैकठपुर निवासी विश्वनाथ पासवान के 20 वर्षीय पुत्र छोटू पासवान को किसी ने घर से बुलाकर गोली मारकर हत्या कर दी। इससे...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:00 AM IST
खुसरूपुर में युवक की हत्या, दो को हिरासत में लिया तो पुलिस पर पथराव
बैकठपुर निवासी विश्वनाथ पासवान के 20 वर्षीय पुत्र छोटू पासवान को किसी ने घर से बुलाकर गोली मारकर हत्या कर दी। इससे आक्रोशित लोग पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इसी दौरान पुलिस ने दो संदिग्धों को मंदिर से पश्चिम एक ईंट-भट्ठे से हिरासत में लिया तो गांव वालों ने उन्हें छुड़ाने के लिए पुलिस की गाड़ी पर पथराव शुरू कर दिया। काफी मशक्कत के बाद पुलिस उन युवकों को ले जाने में सफल रही। इस दौरान पुलिस का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया। इसके अलावा एक अन्य युवक को भी हिरासत में लिया गया है। तनाव को देखते हुए गांव में अतिरिक्त बल तैनात किए गए हैं।

मृतक छोटू पूर्व जिला पार्षद राधे पासवान का नाती था। उसे किसी ने मंदिर के पूरब स्थित पंडा टोली के पास बुलाकर गोली मार दी। गांव के संतोष नामक युवक ने देखा कि छोटू की बाइक लगी है और उससे थोड़ी दूर वह अचेतावस्था में पड़ा है। परिजनों ने उसे तुरंत पटना भेजा, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। पंडा टोली की गली में खून बिखरे हुए थे, जिससे लगता है कि गोली लगने के बाद उसने काफी दूर तक भागने का प्रयास किया, फिर निढाल होकर गिर गया। इधर हत्या की खबर जैसे ही मिली गांव के एक खास वर्ग के लोग उत्तेजित हो गए। मामले की गंभीरता को दिखते हुए आसपास के लगभग आधा दर्जन थाने से पुलिस को बुलाया गया और डीएसपी माैके पर पहुंच कर लोगों से संयम रखने की अपील करते रहे।

छोटू पासवान

पुलिस का एक जवान घायल, गांव में अतिरक्त बल तैनात

बैकठपुर में हत्या के बाद रोते-बिलखते परिजन।

पुरानी अदावत और प्रेम प्रसंग के एंगल पर जांच

पुरानी अदावत को लेकर छोटू की हत्या का अंदेशा है। पुलिस प्रेम प्रसंग के एंगल पर भी जांच कर रही है। डीएसपी सुनील कुमार ने बताया कि फिलहाल हमलोगों का सारा ध्‍यान गांव का माहौल शांतिपूर्ण बनाने में है। घटना को लेकर गांव का माहौल बहुत गर्म है।

दोनों पक्षों के संयम से टला संघर्ष

बैकटपुर गांव में दो वर्गों के बीच संघर्ष का इतिहास रहा है। इसके कारण जैसे ही घटना हुई गांव के लोग सहम गए और आने वाले खतरे से भयभीत हो गए। लेकिन, अच्छी बात यह रही कि राधे पासवान जो पूर्व में वर्ग संघर्ष के केंद्र में रहे हैं, इसबार अपने नाती की हत्या होने के बाबजूद न केवल संयम बरतते रहे, बल्कि उग्र भीड़ को काफी हद तक नियंत्रण किया। उग्र भीड़ ने रोड जाम करने की कोशिश की तो उन्हें रोका। लोगों ने पुलिस पर पथराव किया तो उन्हें डांटते-डपटते दिखे। उन्होंने कहा कि मुझे कानून पर पूरा विश्वास है। गांव को जलने नहीं दिया जा सकता है। इसी तरह दूसरे पक्ष के लोगों ने भी काफी संयम और शांति का परिचय दिया।

मौके पर पहुंचे डीएसपी, लोगों से शांति की अपील

X
खुसरूपुर में युवक की हत्या, दो को हिरासत में लिया तो पुलिस पर पथराव
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..