• Home
  • Bihar
  • Patna
  • डीजीपी बोले-अनुसंधान जल्द और साइंटिफिक हो
--Advertisement--

डीजीपी बोले-अनुसंधान जल्द और साइंटिफिक हो

राज्य के नए डीजीपी केएस द्विवेदी बिहार पुलिस को स्मार्ट पुलिस बनाएंगे। स्मार्ट पुलिसिंग समेत 5 अहम बिंदुओं पर...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:00 AM IST
राज्य के नए डीजीपी केएस द्विवेदी बिहार पुलिस को स्मार्ट पुलिस बनाएंगे। स्मार्ट पुलिसिंग समेत 5 अहम बिंदुओं पर फोकस होगा। प्राथमिकता सूची में अपराध नियंत्रण, अनुसंधान, विधि-व्यवस्था में सुधार, प्रोहिबिशन (शराबबंदी) से लेकर स्मार्ट पुलिस तक शामिल हैं। पुलिस प्रमुख की नई जिम्मेवारी संभालने के बाद ‘दैनिक भास्कर’ से बातचीत में अपनी प्राथमिकताओं को गिनाते हुए डीजीपी केएस द्विवेदी ने कहा कि आपराधिक वारदातों में पुलिस का अनुसंधान शीघ्र व साइंटिफिक होना चाहिए। पुलिस को पीपुल्स फ्रेंडली बनाना है। पुलिस से जुड़े कल्याण कार्य भी होने चाहिए। अगले 15 दिनों यानी एक पखवारे में इसके लिए विशेष योजना बना कर उस पर अमल किया जाएगा। कुल मिला कर पुलिस की सूरत के साथ ही सीरत भी बदलने की तैयारी है। वर्दी का हनक ऐसा हो कि अपराधियों में कानून का भय हो आैर आम लोग पुलिस को मददगार समझें। गुरुवार को डीजीपी के रूप में 1984 बैच के सीनियर आईपीएस अफसर केएस द्विवेदी ने पदभार संभाला। पुलिस मुख्यालय में आला पुलिस अफसरों ने फूलों के गुलदस्ता के साथ नए डीजीपी का इस्तकबाल किया। साथ ही उन्हें बधाई व शुभकामनाएं दी। इस मौके पर एडीजी (मुख्यालय) संजीव कुमार सिंघल, एडीजी (सीआईडी) विनय कुमार, एडीजी (विधि-व्यवस्था) आलोक राज व अन्य आला अफसर भी मौजूद थे। बाद में डीजीपी ने अफसरों के साथ एक संक्षिप्त मीटिंग की।

काम आएगा पुराना अनुभव

अतीत का अनुभव नए डीजीपी के काम आएगा। दरअसल बिहार पुलिस से लेकर सीआरपीएफ तक अपराधियों या नक्सलियों को सबक सिखाने का उनका लंबा अनुभव रहा है। इसका फायदा नक्सलियों या क्रिमिनल के खिलाफ प्लानिंग या एक्शन में मिलेगा। करीब डेढ़ दशक तक केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर रहे केएस द्विवेदी वर्ष 2007 में बिहार लौटने के बाद आईजी (ऑपरेशन) व रेल पुलिस के एडीजी के रुप में भी काम कर चुके हैं।