• Home
  • Bihar
  • Patna
  • अर्जित की गिरफ्तारी पर भी हाय-तौबा
--Advertisement--

अर्जित की गिरफ्तारी पर भी हाय-तौबा

पटना|प्रदेश जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा- हकीकत यही है कि पटना पुलिस ने अर्जित को महावीर मंदिर के पास से...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:00 AM IST
पटना|प्रदेश जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा- हकीकत यही है कि पटना पुलिस ने अर्जित को महावीर मंदिर के पास से गिरफ्तार किया और थाने ले गई। कोई भी आरोपी आत्मसमर्पण करने के लिए कोर्ट या पुलिस के सामने जाता है, मंदिर में नहीं। ऐसे में तेजस्वी यादव को राजनीति नहीं करनी चाहिए। कल तक एफआईआर और गिरफ्तारी नहीं होने पर सवाल उठा रहे थे। बीती रात जब पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तारी कर ली तो उस पर भी हाय तौबा मचा रहे हैं। सच सबको मालूम है कि पुलिस ने गिरफ्तारी कब और कहां से की। हकमार यादव जान लें कि नीतीश सरकार का सुशासन कायम है। अपराधी चाहे कितना भी रसूख वाला हो, नीतीश शासन में उसका बचना नामुमकिन है। कानून चेहरा देखकर काम नहीं करता। हमारी सरकार न किसी को फंसाती है और न बचाती है।

कानून से बड़ा कोई नहीं : नीरज

पटना|जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि कानून तोड़ने वाले आरोपी की गिरफ्तारी के बाद विपक्षियों को सांप सूंघ गया, जो लोगों की भावना भड़काकर राज्य को अशांत करने की साजिश रच रहे थे। भागलपुर के नाथनगर में सांप्रदायिक सद्‌भाव बिगाड़ने के आरोपी की अग्रिम जमानत के मामले में सहायक लोक अभियोजक ने भी अदालत को बताया कि उसने सांप्रदायिक तनाव फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। ऐसे नारे लगाने की जरूरत क्या थी, जिससे किसी की भावना को ठेस पहुंचे। पुलिस के पास वीडियो साक्ष्य भी हैं। उन्होंने कहा कि कानून का पालन शासन के इकबाल से होता है और इस मामले को लेकर एनडीए भी एक है। विपक्ष को इसका एहसास हो गया होगा कि केवल भाषणबाजी से शासन का इकबाल नहीं होता?