पटना

  • Home
  • Bihar
  • Patna
  • किताबी से ज्यादा व्यावहारिक ज्ञान कीमती : आचार्य सुदर्शन
--Advertisement--

किताबी से ज्यादा व्यावहारिक ज्ञान कीमती : आचार्य सुदर्शन

पटना सेंट्रल स्कूल में दीक्षांत समारोह का आयोजन हुआ। पटना| दीक्षा के बिना शिक्षा अधूरी है। दीक्षा का अर्थ है...

Danik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:00 AM IST
पटना सेंट्रल स्कूल में दीक्षांत समारोह का आयोजन हुआ।

पटना| दीक्षा के बिना शिक्षा अधूरी है। दीक्षा का अर्थ है दक्षता प्राप्त करना अर्थात जीवन में शिक्षा के आदर्श को व्यवहार में उतारना। दीक्षा के बिना शिक्षा उसी तरह बेकार है जैसे फल के बिना वृक्ष। किताबी ज्ञान से व्यावहारिक ज्ञान ज्यादा कीमती होता है। ये बातें आचार्य सुदर्शन ने पटना सेंट्रल स्कूल के प्राइमरी सेक्शन के दीक्षांत समारोह के अवसर पर बच्चों एवं अभिभावकों से कहीं। पहली बार प्राइमरी सेक्शन की पांचवीं के बच्चों का कन्वोकेशन आयोजित किया गया। इस दौरान रंग-बिरंगे परिधान में बच्चों ने नृत्य-गीत भी प्रस्तुत किया। इस मौके पर सुंदर मैनर, श्रेष्ठ लिखावट, उपस्थिति, आकर्षक ड्रेस शिष्टाचार के लिए बच्चों को प्रोत्साहित भी किया गया। कार्यक्रम में संस्था के उपाध्यक्ष डॉ. बीके सुदर्शन, प्राचार्य एसपी सिंह, हेड मिस्ट्रेस निशा वर्मा सहित सभी शिक्षक शिक्षिकाएं मौजूद रहीं।

Click to listen..