Hindi News »Bihar »Patna» मीडिया और विज्ञान को समावेशी बनाने की जरूरत

मीडिया और विज्ञान को समावेशी बनाने की जरूरत

पटना| सीयूएसबी के पटना कैंपस में छात्र प्रकोष्ठ रेनेशां के तत्वावधान में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर कार्यक्रम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 02:00 AM IST

मीडिया और विज्ञान को समावेशी बनाने की जरूरत
पटना| सीयूएसबी के पटना कैंपस में छात्र प्रकोष्ठ रेनेशां के तत्वावधान में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर कार्यक्रम हुआ। मीडिया विभागाध्यक्ष डॉ. आतिश पराशर ने कहा कि विज्ञान को आम इंसान तक पहुंचाने के लिए मीडिया और विज्ञान को समावेशी बनाने की आवश्यकता है। विज्ञान को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए मीडिया को भी अहम भूमिका निभानी पड़ेगी। प्रो. अरुण कुमार सिन्हा ने कहा कि विज्ञान और तकनीक ने हमारे जीवन को आसान बनाया है और विकास को गति दी है। पीआरओ मोहम्मद मुदस्सिर आलम, डॉ. चेतना जायसवाल, छात्र रघुवर चौधरी ने भी विचार रखे।

किलकारी के बच्चों ने बनाए मॉडल : किलकारी विज्ञान विधा के बच्चों ने 23 तरह के मॉडल एवं पोस्टर बनाकर विज्ञान से संबंधित बातों एवं विचारों को रखा। पटना साइंस कॉलेज के सेवानिवृत्त प्रोफेसर डॉ. एसपी वर्मा एवं किलकारी निदेशक ज्योति परिहार उपस्थित थी। बच्चों ने वाटर फॉल, विंड मिल, बेस्ट ऑफ बेस्ट रोबोट, यूरीन टू इलेक्ट्रिसिटी के मॉडल बनाए।

छात्राओं ने किया मार्च फॉर साइंस

पटन|पटना वीमेंस कॉलेज में बुधवार को नेशनल साइंस डे पर मार्च का आयोजन हुआ। मार्च कॉलेज गेट से शुरू होकर तारामंडल पर खत्म हुआ। मार्च का आरंभ प्राचार्या डॉ. मैरी जेसी ने किया। साइंस मार्च का उद्देश्य लोगों में विज्ञान के महत्व को बताना और जागरुकता लाना था। स्टेट पॉपुलेशन कंट्रोल बोर्ड के चेयरमैन प्रो. अशोक घोष और डॉ. अनंत भी मौके पर मौजूद रहे।

उधर, मगध महिला कॉलेज में कार्यक्रम हुआ। मुख्य अतिथि इंडियन साइंस कांग्रेस एसोसिएशन के डॉ. शिव सत्या प्रकाश थे। छात्राओं ने ग्लोबल वार्मिंग और विज्ञान के मुख्य मुद्दों पर प्रस्तुति दी।

भाषण प्रतियोगिता में सत्यजीत ने मारी बाजी

पटन | राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर श्रीकृष्ण विज्ञान केंद्र में बुधवार को भाषण प्रतियोगिता में राज्य स्तर पर सत्यजीत भास्कर को प्रथम पुरस्कार से नवाजा गया। नेहा कुमारी दूसरे और काजल कुमारी ने तीसरे स्थान पर कब्जा किया। राजलक्ष्मी को सांत्वना पुरस्कार दिया गया है। इस कार्यक्रम में जिलास्तर पर प्रणव आदित्य को प्रथम, रेहाना को द्वितीय, काजल कुमारी को तृतीय और विशाल सिंह को सांत्वना पुरस्कार दिया गया है। इससे पूर्व सुबह नौ बजे से रैली का आयोजन किया गया। उधर, स्वयं सेवी संस्था ’प्रथम’ की ओर से गायघाट में विज्ञान प्रदर्शन का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि संकुल समन्वयक सूर्यकांत गुप्ता ने जीवन में विज्ञान की उपयोगिता तथा विज्ञान दिवस पर विचार रखे।

एसडीवी स्कूल में विज्ञान प्रदर्शनी

पटन | कुरथौल, नत्थूपुर रोड स्थित एसडीवी पब्लिक स्कूल में विज्ञान प्रदर्शनी लगाई गई। उद‌्घाटन ज्योतिष साधक दीपक मिश्रा ने किया। उन्होंने बच्चों को छोटे वैज्ञानिक की उपाधि से विभूषित किया। बच्चों ने अपने मॉडलों से स्मार्ट सिटी, हाइड्रोलिक क्रेन, वाटर कूलर का निर्माण कर लोगों के सामने प्रस्तुत किया। निर्णायक मंडली में डॉ. अंजली सिंह, डॉ. कृष्णनंदन प्रसाद थे। इस अवसर पर विद्यालय के निदेशक राजेश्वर कुमार, अनिल कुमार, प्राचार्य सुरेन्द्र कुमार, उप प्राचार्य सुरेश कुमार पाण्डेय, प्रशासिका सुनंदा केशरी एवं सभी शिक्षक मौजूद थे।

नेहा दूसरे और काजल तीसरे स्थान पर रही

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Patna News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: मीडिया और विज्ञान को समावेशी बनाने की जरूरत
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×