• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • डबल इंजन वाली सरकार के बजट से ढेर सारी रकम चाहता है बिहार
--Advertisement--

डबल इंजन वाली सरकार के बजट से ढेर सारी रकम चाहता है बिहार

बिहार आम व रेल बजट से अपने लिए बहुत कुछ चाहता है। ज्यादा उम्मीद इसलिए भी है कि अब दिल्ली और पटना में एक गठबंधन की...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:05 AM IST
बिहार आम व रेल बजट से अपने लिए बहुत कुछ चाहता है। ज्यादा उम्मीद इसलिए भी है कि अब दिल्ली और पटना में एक गठबंधन की सरकार है। इसको चलाने वाले इसे डबल इंजन की ताकत कहते हैं, जो बिहार को विकास की बड़ी उछाल देगा। ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि बिहार को उसकी उम्मीदों की तुलना में आखिर मिलता क्या-क्या है? बिहार व यहां के लोगों की मांग/जरूरतें खुलेआम रही हैं। राजकाज चलाने वाले इससे वाकिफ रहे हैं। अनेक मंचों से, अनेक मौकों पर ये सब बातें गूंजीं। अबकी अधिक अपेक्षा इसलिए भी है कि बिहार कमोबेश हर बड़े प्रक्षेत्र में लंबित योजनाओं का डंपिंग यार्ड रहा है। लगभग हर साल बजट के बाद इस यार्ड का दायरा बढ़ता गया। नए ऐलानों ने पुराने को किनारे किया। घोषणा हुई, तो रुपए का इंतजाम नहीं; रुपए दिए गए तो कुछ ही दिन में कम पड़ गए, खत्म हो गए। लगभग हर ऐसी योजना, अपने पास लंबी दास्तान रखी हुई है। हां, कुछ पूरी भी हुईं।

केंद्रीय बजट में बिहार के लिए व्यापारियों ने की विशेष पैकेज की मांग

केंद्र सरकार गुरुवार को बजट पेश करेगी। बिहार पिछले कई वर्षों से विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग कर रहा है। इस मांग के पूरा होने में कई अड़चनें हैं। इस हालात में बिहार के व्यापारियों ने विशेष दर्जा की जगह विशेष पैकेज की मांग की है।



बजट से बिहार की खास उम्मीदें









उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी की अपेक्षाएं








(नोट : सुशील मोदी यह सबकुछ केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को बता चुके हैं।)

पैसेंजर ट्रेनों की संख्या बढ़ने और पटना रूट पर तीसरी लाइन की उम्मीद

सिटी रिपोर्टर|पटना

गुरुवार को आ रहे बजट में कई लंबित योजनाओं को गति मिलने की उम्मीद है। खासतौर से मुगलसराय से झाझा तक तीसरी रेल लाइन और 118 किमी लंबी बिहटा-औरंगाबाद रेल लाइन परियोजना के लिए पर्याप्त राशि जारी होने की उम्मीद है। साथ ही मुंबई, दिल्ली, कोलकाता व चेन्नई की तर्ज पर पैसेंजर ट्रेनों की संख्या बढ़ने की लोगों को सबसे ज्यादा उम्मीद है। इसके अलावा रेलवे की लंबित परियोजनाओं को गति देने के लिए पर्याप्त राशि भी जारी हो सकती है। पटना के यात्रियों ने पटना से दिल्ली के दिल्ली के लिए राजधानी या संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस की तरह एक और सुपर फास्ट ट्रेन चलाने की मांग की। बिहार दैनिक यात्री संघ के शोएब कुरैशी ने बताया कि पैसेंजर ट्रेनों की कम संख्या के चलते दैनिक यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने रेलमंत्री को इसके लिए पत्र भी लिखा है। उन्होंने दानापुर स्टेशन एवं राजेंद्र नगर टर्मिनल से वाया पाटलिपुत्रा जंक्शन होकर सीवान तक मेमू सवारी एवं इंटरसिटी एक्सप्रेस चलाने की मांग की।

पत्र में ये प्रमुख मांगें


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..