• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • नेफ्रोलॉजी विभाग की 11 में से 6 डायलिसिस मशीनें बंद
--Advertisement--

नेफ्रोलॉजी विभाग की 11 में से 6 डायलिसिस मशीनें बंद

राज्य के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच के नेफ्रोलॉजी विभाग में डायलिसिस की 11 मशीन में से छह बंद पड़ी हैं। हेपेटाइटिस...

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 02:05 AM IST
राज्य के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच के नेफ्रोलॉजी विभाग में डायलिसिस की 11 मशीन में से छह बंद पड़ी हैं। हेपेटाइटिस के मरीजों के लिए जो डायलिसिस मशीन है वह भी बंद है। हालात बेहद खराब हैं। स्थिति ऐसी है कि गरीब मरीजों को अब मजबूरी में प्राइवेट अस्पताल का रूख करना पड़ रहा है। मशीनें कई दिनों से खराब हैं लेकिन उनकी मरम्त नहीं हो रही। पीएमसीएच प्रशासन अभी तक कागजी प्रक्रिया में ही उलझा है। वैसे भी पीएमसीएच में कभी भी एक साथ 11 मशीनें काम नहीं करतीं। कभी सात तो कभी छह तो कभी पांच तो कभी चार मशीनें ही चालू हालत में रहती हैं। यहां डायलिसिस कराने के लिए पूरे राज्य के विभिन्न जिलों से मरीज आते हैं। लेकिन मशीनों के बंद रहने के कारण मरीजों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। यहां ऐसे भी मरीज आते हैं जो डायलिसिस के दौरान जो 1200 रुपए का सामान लगता है वह भी नहीं दे पाते। गरीब मरीजों के लिए यह सामान भी उपलब्ध कराने के लिए लिखा गया। लेकिन मामला ठंडे बस्ते में है। हेपेटाइटिस-बी या एचआईवी संक्रमित मरीजों की डायलिसिस करने वाली मशीन भी बंद पड़ी हुई है। प्राइवेट अस्पताल में एक डायलिसिस कराने में कम से कम तीन से चार हजार रुपए खर्च होते हैं। यह खर्च प्राइवेट अस्पताल में उपलब्ध सुविधा पर भी निर्भर करता है। वहीं पीएमसीएच में मुफ्त में डायलिसिस की सुविधा मिलती है। इसलिए यहां अधिकांश मध्यम वर्ग और गरीब मरीज ही आते हैं। विभाग में और भी कई सुविधाओं को बहाल करने की जरूरत है। जिससे मरीज को बेहतर चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराई जा सके।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..