Hindi News »Bihar »Patna» नाॅर्थ ईस्ट के 3 राज्यों के चुनाव नतीजे

नाॅर्थ ईस्ट के 3 राज्यों के चुनाव नतीजे

कहां से: महाराष्ट्र रिजल्ट एनालिसिस भाजपा को इन 3 राज्यों में पिछले चुनाव से 61% ज्यादा वोट मिले

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 02:05 AM IST

नाॅर्थ ईस्ट के 3 राज्यों के चुनाव नतीजे

कहां से: महाराष्ट्र

रिजल्ट एनालिसिस

भाजपा को इन 3 राज्यों में पिछले चुनाव से 61% ज्यादा वोट मिले

4.5% वोट और एक सीट भाजपा को पिछले चुनाव में मिली थी (त्रिुपरा, नगालैंड और मेघालय मिलाकर)।

61% वोट प्रतिशत बढ़कर 66% हो गया और विधायकों की संख्या भी एक से बढ़कर 48 हो गई

74 सीटों पर बीते चुनाव में भाजपा लड़ी थी। 70 सीटों पर उसकी जमानत जब्त हो गई थी।

43% वोट त्रिपुरा में भाजपा को मिले। एक राज्य में 40% वोट का इजाफा करने वाली पहली पार्टी बनी।

1.8% रह गया त्रिपुरा में कांग्रेस का वोट बैंक 36.53% से 1.8% रह गया। पिछली बार 10 सीट मिली थी। इस बार खाता नहीं खुला।

ऐसे बढ़ा भाजपा का वोट बैंक

1.54%

त्रिपुरा

‘सुप्रभात! आज सुबह मां त्रिपुरा सुंदरी के मंदिर में पूजा की और राज्य के 37 लाख लोगों के लिए दुष्ट शक्तियों से मुक्ति मांगी। भरोसा है भाजपा को दो तिहाई बहुमत मिलेगा।’ - सुनील देवधर भाजपा नेता

पूर्वोत्तर चुनाव की कमान सुनील देवधर के पास थी और उन्हीं की रणनीति के दम पर भाजपा ने त्रिपुरा का लाल किला ढहाया। पढ़ाई के बाद वे 1991 में संघ प्रचारक के तौर पर निकले। 8 साल मेघालय में रहे। यहां स्थानीय खासी और अन्य भाषाएं सीखी। 2012 गुजरात चुनाव में दाहोद का प्रभार मिला। कांग्रेस के गढ़ में सेंध लगाई। 2014 में मोदी की संसदीय सीट बनारस का जिम्मा मिला। महाराष्ट्र चुनाव के बाद नवंबर 2014 में उन्हें त्रिपुरा का प्रभारी बनाकर कम्युनिस्ट मुक्त भारत की जिम्मेदारी दी गई।

43%

14%

1.75%

नगालैंड

2013

2017

9.7%

1.27%

मेघालय

त्रिपुरा में भाजपा ने काडर बनाम काडर की लड़ाई में कम्युनिस्टों की कमर तोड़ दी

वोटर लिस्ट के 48 हजार पन्नों में से 42 हजार पर भाजपा कार्यकर्ता थे, हर बूथ पर 10 युवा थे

पटना, रविवार 04 मार्च, 2018

ऐसा ढहा लेफ्ट का किला

यूपी फॉर्मूला: शाह ने पहले बिप्लव देब को प्रदेश अध्यक्ष बनाया, फिर देवधर को भेजा

अध्यक्ष शाह ने त्रिपुरा में सबसे पहले राज्य के युवा नेता बिप्लव देब को प्रदेश की कमान सौंपी, जो कभी सांसद गणेश सिंह के पीए थे। उसके बाद संगठन से जुड़े और मोदी के वाराणसी संसदीय सीट के प्रभारी रहे सुनील देवधर को त्रिपुरा का प्रभारी बनाया। फिर अमित शाह ने यूपी चुनाव की तर्ज पर त्रिपुरा में भी बूथ और पन्ना प्रमुख की रणनीति को कारगर ढंग से लागू कराया।

सबसे बड़ा चेहरा: देवधर ने वाम मोर्चा के बूथ काडर की कमजोरी को हथियार बनाया

त्रिपुरा प्रभारी सुनील देवधर भास्कर से बातचीत में कहते हैं कि वाम काडर कोई मामूली काडर नहीं है। पर उसकी एक कमजोरी है कि सत्ता में आते ही प्रशासन का राजनीतिकरण और राजनीति का अपराधीकरण में लग जाता है। जिससे बूथ स्तर का काडर भी पार्टी पर निर्भर हो जाता है और सरकार की योजना में लाभ उठाने लगता है। इसी वजह से बंगाल में वाम काडर खत्म हो गया।

त्रिपुरा अब लाल से केसरिया हो गया है। भाजपा ने लेफ्ट के 25 साल पुराने किले को ढहा दिया। इस पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने केसरिया होली खेली और जय श्रीराम के नारे लगाए।

मोदी को जीत का भरोसा था। उन्होंने बुधवार को भाजपा शासित राज्यों के सीएम से त्रिपुरा की जीत का जश्न यूपी से भी बड़े पैमाने पर मनाने को कहा था। - अखिलेश शर्मा, पत्रकार

भाजपा ने चुनाव में पीएम समेत 52 कैबिनेट मंत्री और 200 सांसद उतारे

मोदी बोले- सूर्य अस्त होता है तो लाल, उगता है तो केसरिया होता है

त्रिपुरा में जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कहा कि वामदलों की चोटों का गरीब जनता ने वोट से जवाब दिया है। राजनीतिक कारणों से 6 माह में हमारे 24 कार्यकर्ता मार डाले गए। उन्होंने राजनीतिक हिंसा में मारे गए पार्टी कार्यकर्ताओं को श्रद्धांजलि दी। दिल्ली में मोदी के भाषण शुरू करते ही अजान शुरू हो गई तो उन्होंने भाषण रोक दिया। मोदी ने कहा कि सूर्य जब अस्त होता है तो लाल रंग का होता है लेकिन जब उगता है तो केसरिया रंग होता है।

वास्तुशास्त्र में नॉर्थ-ईस्ट का कोना सबसे अहम: मोदी ने कहा कि वास्तुशास्त्र में नॉर्थ-ईस्ट को कोना अहम होता है। मतलब एक बार यह कोना ठीक हो गया तो पूरी इमारत सही बनती है।

राहुल पर तंज- कांग्रेस में लोगों के पद बढ़े, पार्टी का कद छोटा हुआ: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, "देश में एक दल ऐसा भी है, जहां लोग पद में बढ़ते जाते हैं पर कद में घटते जाते हैं। आज कांग्रेस का कद सबसे छोटा हो गया है।' उन्होंने कहा, "मैंने पुड्डुचेरी के सीएम नारायण सामी को बधाई दी थी कि जून के बाद आप कांग्रेस के इकलौते स्पेसीमेन बन जाओगे।'

15
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Patna News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: नाॅर्थ ईस्ट के 3 राज्यों के चुनाव नतीजे
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×