• Home
  • Bihar
  • Patna
  • जल्द शुरू होगी कैंसर मरीजों की सेंकाई
--Advertisement--

जल्द शुरू होगी कैंसर मरीजों की सेंकाई

पीएमसीएच में कैंसर मरीजों की सेंकाई फिर से जल्द शुरू होगी। रेडियोथेरेपी विभाग में वर्ष 2013 से बंद पड़ी कोबाल्ट मशीन...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:05 AM IST
पीएमसीएच में कैंसर मरीजों की सेंकाई फिर से जल्द शुरू होगी। रेडियोथेरेपी विभाग में वर्ष 2013 से बंद पड़ी कोबाल्ट मशीन को चालू करने के लिए एटोमिक इनर्जी रेगुलेटरी बोर्ड ने अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) दे दिया है। गाइडलाइन के अनुसार टेक्नीशियन नहीं होने की वजह से बोर्ड ने एनओसी देने से इनकार कर दिया था। काफी मशक्कत बाद टेक्नीशियन की तैनाती की गई। कोबाल्ट मशीन चालू करने के लिए राज्य सरकार ने अगस्त में ही 95 लाख रुपए दे दिए थे।

मशीन का रेडियोएक्टिव सोर्स गाइडलाइन के मुताबिक नहीं था। इसलिए मशीन बंद पड़ी थी। 50 फीसदी से कम रेडियोएक्टिव सोर्स होने पर कोबाल्ट मशीन से कैंसर मरीजों की सेंकाई नहीं की जा सकती है। रेडियोएक्टिव सोर्स बदलने और नया सोर्स लाने में करीब 95 लाख रुपए का खर्च था। इसके लिए राशि मिली तो टेक्नीशियन की समस्या उत्पन्न हो गई।

कैंसर मरीजों की परेशानी को देखते हुए दैनिक भास्कर ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित की थी। इसके बाद अस्पताल प्रशासन और रेडियोथेरेपी विभाग ने मशीन चालू करवाने की प्रक्रिया शुरू की। विभाग के हेड डॉ. पीएन पंडित के मुताबिक जल्द ही रेडियोएक्टिव सोर्स आ जाने की उम्मीद है। कोशिश होगी कि अप्रैल से मरीजों की सेंकाई शुरू हो जाए।

मरीजों को भेजना पड़ता है कोलकाता या रांची

कोबाल्ट मशीन के बंद होने से विभाग में कैंसर मरीजों का आना बंद हो गया है। विभाग में कभी 150 तक मरीज प्रतिदिन आते थे। अभी 10-15 मरीज सिर्फ डे केयर सुविधा के लिए आते हैं। विभाग में मरीजों के लिए वार्ड और अगल रूम की भी सुविधा है। अलग रूम के लिए सिर्फ 100 रुपए का भुगतान करना पड़ता है। यहां सेंकाई की सुविधा मुफ्त मिलती है। अब जो मरीज आते हैं उन्हें मुफ्त सेंकाई के लिए कोलकाता या रांची भेजा जाता है। राज्य में किसी अस्पताल में कोबाल्ट से सेंकाई की सुविधा मुफ्त नहीं है। हर जगह इसके लिए शुल्क देना पड़ता है।