• Home
  • Bihar
  • Patna
  • ईडी कर रही जांच, दवा घोटाला के आरोपियों की अवैध संपत्ति होगी जब्त
--Advertisement--

ईडी कर रही जांच, दवा घोटाला के आरोपियों की अवैध संपत्ति होगी जब्त

राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पीएमसीएच में हुए करोड़ों के दवा घोटाले के आरोपियों की अवैध संपत्ति जब्त होगी।...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:10 AM IST
राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पीएमसीएच में हुए करोड़ों के दवा घोटाले के आरोपियों की अवैध संपत्ति जब्त होगी। ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) की जांच के दायरे में तत्कालीन अधीक्षक डॉ. ओपी चौधरी समेत एक दर्जन से अधिक आरोपियों की संपत्ति है। इनमें तीन ड्रग इंस्पेक्टर अशोक कुमार यादव, संगीता कुमारी व एक अन्य भी शामिल हैं। नेफ्रोलॉजी विभाग के तत्कालीन विभागाध्यक्ष रहे डॉ. विनोद कुमार सिंह के अलावा पीएमसीएच के कई अन्य कर्मी भी आरोपी हैं। दरअसल करीब एक दशक पहले पीएमसीएच में दवा टेंडर में हुए घोटाले को लेकर निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने तत्कालीन अधीक्षक डॉ. ओमप्रकाश चौधरी समेत 15 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। यह 12 करोड़ के दवा टेंडर में हुए घोटाले से जुड़ा है। टेंडर की आड़ में कम कीमत की दवा को अधिक कीमत पर खरीदने के साथ ही कई तरह की धांधली करने के आरोप लगे थे। बाद में इसी केस के आधार पर ईडी ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउंड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत पूर्व अधीक्षक समेत सभी आरोपियों की संपत्ति की जांच शुरू की थी।

तत्कालीन अधीक्षक समेत कई आरोपियों से हो चुकी है पूछताछ

जांच में लगी ईडी की टीम कई आरोपियों से पूछताछ कर चुकी है। 22 फरवरी को पीएमसीएच के पूर्व अधीक्षक डॉ. ओपी चौधरी से 7 घंटे तक पूछताछ की गई थी।