• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • दिल में श्रीराम बसे हैं, संग माता जानकी
--Advertisement--

दिल में श्रीराम बसे हैं, संग माता जानकी

Patna News - दिल में श्री राम बसे हैं, संग माता जानकी बैठा खड़ताल बजाए, रघुवर के नाम की। आठों पहर चौबीसों घंटे, ‘राम कर महिमा गाए’।...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:10 AM IST
दिल में श्रीराम बसे हैं, संग माता जानकी
दिल में श्री राम बसे हैं, संग माता जानकी बैठा खड़ताल बजाए, रघुवर के नाम की। आठों पहर चौबीसों घंटे, ‘राम कर महिमा गाए’। राम भजन की मस्ती में ये, ‘सुध सारी बिसराए....। श्याम मंडल कर महिला सदस्यों ने शनिवार को भक्ति भाव की प्रस्तुति की। हनुमान जयंती के अवसर पर शनिवार को बैंक रोड स्थित शक्तिधाम मंदिर में शक्तिधाम महिला मंडल की सैकड़ों महिलाओं ने सुंदरकांड का पाठ किया। शक्तिधाम मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ लग गई। इसके बाद हनुमानजी का विशेष शृंगार किया गया। सवा मन लड्डू का प्रसाद चढ़ाया गया।

शक्तिधाम के सचिव रमेश मोदी ने बताया कि सुंदरकांड पाठ के बाद श्याम मंडल पटना द्वारा भजन कीर्तन का आयोजन किया गया। सुंदर कांड का पाठ शकुंतला अग्रवाल, रेखा मोदी, सरिता बंका, सरिता चौधरी, चंदा पोद्दार, प्रेमा गोयल, रेणु अग्रवाल एवं अनुसुइया खेतान के नेतृत्व में किया गया। आयोजन को सफल बनाने में मुख्य शक्तिधाम के मुख्य संस्थापक अमर अग्रवाल, पीके अग्रवाल, ओम प्रकाश पोद्दार, रमेश मोदी, चांद बिहारी अग्रवाल, नरेंद्र शर्मा, शंकर शर्मा एवं अन्य लोग मौजूद थे।

दादीजी मंदिर में हनुमान जयंती पर सुंदरकांड पाठ करती महिलाएं।

चैत पूर्णिमा को हुआ था हनुमान जी का जन्म

शक्तिधाम के मुख्य संस्थापक अमर अग्रवाल ने बताया कि हनुमान जयंती चैत्र माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। माना जाता है कि इसी दिन हनुमानजी का जन्म हुआ था। इस दिन श्री हनुमान जी की भक्ति पूर्वक आराधना करनी चाहिए। पंडित शंकर शर्मा ने कहा कि माना जाता है कि महाभारत युद्घ के समय अर्जुन के रथ का ध्वज थाम कर महावीर हनुमान बैठे थे। इसी कारण तीखे बाणों से भी अर्जुन का रथ पीछे नहीं होता था और संपूर्ण युद्घ के दौरान अर्जुन के रथ का ध्वज लहराता रहा था।

X
दिल में श्रीराम बसे हैं, संग माता जानकी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..