Hindi News »Bihar »Patna» 20 वार्डों में 190 नालों की होगी उड़ाही, तीन नए सिरे से बनेंगे

20 वार्डों में 190 नालों की होगी उड़ाही, तीन नए सिरे से बनेंगे

बरसात में कहीं जलजमाव की स्थिति नहीं हो, इसके लिए नगर निगम ने तैयारी कर ली है। सिटी के 20 वार्डों के 190 नालों की उड़ाही...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:10 AM IST

बरसात में कहीं जलजमाव की स्थिति नहीं हो, इसके लिए नगर निगम ने तैयारी कर ली है। सिटी के 20 वार्डों के 190 नालों की उड़ाही की जाएगी। जबकि तीन नालों को नए सिरे से बनाने के लिए विभाग को इस्टीमेट बनाकर भेजा गया है। नालों की उड़ाही के लिए राशि की स्वीकृति भी मिल चुकी है। इस माह के पहले सप्ताह से नाला उड़ाही शुरू हो जाएगी। कई नालों की उड़ाही सुपर शकर मशीन, पोकलेन, एस्केवेटर मशीन, हाईवा से कराई जाएगी। वार्डों में पहले से कार्यरत सफाई कर्मियों के अलावे लगभग 10 अतिरिक्त मजदूर भी लगाए जाएंगे। बरसात से पहले नालों की उड़ाही करा लेने का लक्ष्य है। इसमें संसाधनों की कमी नहीं पड़े, इसकी भी तैयारी कर ली गई है। वार्डों में सफाई उपकरण जैसे बेलचा, टोकरी, कुदाल, चूना, ब्लीचिंग पाउडर आदि उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके अलावे सुरक्षा उपकरणों जैसे मास्क, ड्रेस आदि की भी व्यवस्था रहेगी।

बड़े नाले जिनकी उड़ाही होनी है

वार्डों में बड़े, छोटे व मध्यम तीन तरह के कुल 190 नाले हैं। इनमें कुछ बड़े नाले हैं, जिनकी उड़ाही बड़ी मशीनों से कराई जाएगी।

मलिया महादेव नाला : लगभग सात हजार फीट लंबा

पश्चिमी सिटी मोट नाला : सात हजार फीट लंबा

दास ब्रदर्स का नाला : दो हजार दो सौ फीट लंबा

प्यारे भटियारा का नाला : लगभग नौ हजार फीट लंबा

गुरुगोविंद सिंह पथ नाला : लगभग पंद्रह हजार फीट लंबा

बंगाली कॉलोनी का नाला : लगभग पांच हजार फीट लंबा

पूर्वी सिटी मोट का नाला : लगभग तीन हजार फीट लंबा

मंसूर गंज का नाला : लगभग तीन हजार फीट लंबा

करमलीचक का नाला : लगभग छह हजार फीट लंबा

सुपर शकर मशीन से भी की जाएगी उड़ाही

नालों की उड़ाही में मशीन का भी इस्तेमाल किया जाएगा। सुपर शकर मशीन भी कुछ दिनों के लिए वार्डों में लगाई जाएगी। जहां बड़ी सुपर शकर मशीन की जरूरत होगी, वहां उसे भेजा जाएगा और जहां छोटी मशीन की जरूरत होगी, वहां उससे उड़ाही कराई जाएगी। सुपर शकर मशीन से उड़ाही में सबसे बड़ा फायदा यह है कि नाले में कुछ भी जमा रहता है तो वह उसे खींच कर बाहर निकाल देती है। लगभग 12 नालों की उड़ाही इससे होगी। उनमें गुरुगोविंद सिंह चौक से छटंकी नाला, बंगाली कॉलोनी, बाहरी धवलपुरा, मलिया महादेव नाला, जल्ला नाला, पाटी गली, बाड़ा गली, दरीबाबाज बहादुर लेन, रामदेव महतो सामुदायिक भवन, तुलसीमंडी, अदरख घाट व राम बाबू कॉलोनी स्थित समेत कई नाले हैं। सैदपुर नहर व योगीपुर नहर की सफाई पोकलेन मशीन से होगी।

इनका होगा पुनर्निर्माण

सिटी के 20 वार्डों में नालों की उड़ाही होनी है। इसके अतिरिक्त तीन नालों का पुनर्निर्माण भी किया जाना है। इसमें सिटी मोट नाला, दास ब्रदर्स का नाला व एक अन्य नाला शामिल हैं। निगम के ईओ के मुताबिक इसके लिए इस्टीमेट बनाकर नगर विकास एवं आवास विभाग को भेजा गया है। इसकी अनुमति मिलते ही काम पर लगाया जाएगा। इस संबंध में नगर निगम सिटी अंचल के ईओ अजय कुमार ने बताया कि सिटी के 20 वार्डों में 190 बड़े, मध्यम व छोटे नालों की उड़ाही कराई जाएगी। इस महीने के पहले सप्ताह में नाले की उड़ाही शुरू कराई जाएगी। इस बार कहीं जलजमाव नहीं हो इसका ख्याल रखा जा रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×