• Home
  • Bihar
  • Patna
  • एनएमसीएच में कैंसर मरीजों की सेंकाई नहीं
--Advertisement--

एनएमसीएच में कैंसर मरीजों की सेंकाई नहीं

एनएमसीएच में रेडियोथेरेपी विभाग खुले ढाई साल होने को हैं, लेकिन कैंसर के मरीजों के लिए अबतक यहां सेंकाई की...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:10 AM IST
एनएमसीएच में रेडियोथेरेपी विभाग खुले ढाई साल होने को हैं, लेकिन कैंसर के मरीजों के लिए अबतक यहां सेंकाई की व्यवस्था नहीं है। इससे मरीजों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। सिंकाई के लिए लिनियर एसीलेरेटर, एचडीआर मशीन व कोबाल्ट मशीन भी नहीं है। यहां ओपीडी में हर दिन कैंसर से पीड़ित मरीज आते हैं। ऐसे मरीजों को भर्ती करने के लिए अलग से वार्ड नहीं है। इमरजेंसी में ही महज तीन से पांच बेड रखे गए हैं। मरीजों को भर्ती कर कीमोथेरेपी की व्यवस्था की गई है, पर जिन्हें सेंकाई की आवश्यकता होती है। उनके लिए यहां कोई व्यवस्था नहीं है। बहुत से ऐसे मरीज आते हैं, जिन्हें सेंकाई की आवश्यकता होती है। ऐसे मरीज दूसरे अस्पतालों में जाने को विवश हो जाते हैं।

प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा अस्पताल कहे जानेवाले एनएमसीएच में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाया गया है। मरीजों को अधिक से अधिक सुविधाएं दी जा रही है। जबकि रेडियोथेरेपी विभाग का हाल ठीक विपरीत है। इसे अबतक सुविधाओं से वंचित रखा गया है। रेडियोथेरेपी विभाग के चिकित्सक ने बताया कि मरीजों को मैमोग्राफी मशीन, सीटी स्कैन व एमअारआई की सुविधा दी जा रही है। अस्पताल में मरीजों को भर्ती कर कीमोथेरेपी की जा रही है। उनको दवा भी दी जा रही है। सेंकाई मशीन के लिए अस्पताल प्रशासन को लिखा गया है। अधीक्षक डाॅ. एपी सिंह ने कहा कि इसके लिए बीएमएसआईसीएल को लिखा जाएगा।