• Home
  • Bihar
  • Patna
  • सीसीटीवी से मेडिकल काॅलेजों पर नजर रखेगी एमसीआई
--Advertisement--

सीसीटीवी से मेडिकल काॅलेजों पर नजर रखेगी एमसीआई

मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया अब मेडिकल काॅलेज अस्पतालों में पढ़ाई और मरीजों के इलाज के स्टैंडर्ड को बरकरार रखने के...

Danik Bhaskar | Mar 14, 2018, 02:15 AM IST
मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया अब मेडिकल काॅलेज अस्पतालों में पढ़ाई और मरीजों के इलाज के स्टैंडर्ड को बरकरार रखने के लिए खुद मॉनिटरिंग करेगी। इसके लिए सभी मेडिकल काॅलेजों में आईपी बेस्ड क्लोज सर्किट टीवी कैमरे लगाने का निर्देश दिया है। यह व्यवस्था उन मेडिकल काॅलेजों में करनी है, जहां एमबीबीएस में 50 से 250 तक सीटें हैं। इसके जरिए देखा जाएगा कि शिक्षक खुद क्लास लेते हैं या किसी जूनियर को यह जिम्मा सौंप देते हैं। ओपीडी में बैठते हैं या नहीं? वार्ड में राउंड देते हैं या नहीं? इस व्यवस्था के लिए एमसीआई ने ओपन टेंडर के माध्यम से बोध ट्री कंसल्टिंग लिमिटेड और मेसर्स टेक्नीफाई सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड को सिस्टम इंटीग्रेटर (एसआई) नियुक्त किया है। यहीं एजेंसी आईपी बेस्ड सीसी टीवी सॉल्यूशन की सप्लाई, इम्प्लीमेंट, आपरेट और मेंटेनेंस का काम करेगी। सिस्टम इंटीग्रेटर सभी मेडिकल कालेजों में जाएंगे। इन्हें गाइडलाइन के मुताबिक जो जरूरत होगी, उसे काॅलेज प्रशासन को उपलब्ध कराना होगा। हालांकि इस संबंध में पटना मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य डॉ. विजय कुमार गुप्ता और नालंदा मेडिकल काॅलेज की प्राचार्य डॉ. शिव कुमारी का कहना है अभी इस बाबत एमसीआई से कोई पत्र नहीं मिला है।