• Home
  • Bihar
  • Patna
  • अनुदान राशि को लोन बताकर खादी संस्थाओं से वसूले गए 4 फीसदी ब्याज
--Advertisement--

अनुदान राशि को लोन बताकर खादी संस्थाओं से वसूले गए 4 फीसदी ब्याज

पटना | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वर्ष 2011 में खादी संस्थाओं के पुनरुद्धार के लिए 50 करोड़ के अनुदान की घोषणा की थी...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 02:20 AM IST
पटना | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वर्ष 2011 में खादी संस्थाओं के पुनरुद्धार के लिए 50 करोड़ के अनुदान की घोषणा की थी परंतु अब तक मात्र 2014-15 के मद में 14 करोड़ की राशि आई। इसमें भी कार्यशील पूंजी 33 संस्थाओं को मिली जबकि राज्य में 100 से अधिक संस्थाएं है। बिहार खादी ग्रामोद्योग संस्था संघ सह ग्राम निर्माण मंडल के अध्यक्ष प्रभाकर कुमार ने बुधवार को कहा कि इस राशि का दुरुपयोग हुआ है। यह राशि लोन के रूप में दी गई है। जबकि इस राशि का आवंटन अनुदान के रूप में होना था। लोन के रूप में दी गई इस राशि पर चार फीसदी ब्याज चढ़ा दिया गया।

पॉलीथिन की जगह जूट बैग का करें उपयोग

पटना |आयकर गोलंबर पर केंद्रीय जीएसटी आयुक्त रंजीत कुमार ने स्वच्छता पखवाड़ा का समापन करते हुए लोगों के बीच जूट बैग का वितरण किया। उन्होंने लोगों से प्लास्टिक व पॉलीथिन बैग का उपयोग बंद करने का आग्रह किया। वहीं आशियाना-दीघा रोड स्थित कर्पूरी सदन स्थित विभिन्न केंद्रीय सरकार के कार्यालयों में भी स्वच्छता पखवाड़ा मनाया गया। वहां पीआईबी पटना एवं क्षेत्रीय आउटरीच ब्यूरो (आरओबी) के अपर महानिदेशक मयंक कुमार अग्रवाल ने भी कर्मचारियों और अधिकारियों को स्वच्छता शपथ दिलाई। मौके पर पीआईबी पटना के निदेशक दिनेश कुमार और सहायक निदेशक संजय कुमार आदि उपस्थित थे।

मांगों को लेकर आशा करेंगी 5 को सीएम का घेराव

पटना |समान काम के लिए समान वेतन की मांग रही आशा 5 फरवरी को सीएम का घेराव करेंगी। बुधवार को बिहार राज्य आशा संघ के महासचिव कौशलेंद्र कुमार वर्मा ने कहा कि संघ 27 जनवरी से मांगों को लेकर हड़ताल पर है। प्रमुख मांगों में एएनएम की बहाली में 50 फीसदी सीटों पर आशा-ममता को बहाल किया जाए। कम से कम 18 हजार रुपया आशा को दिया जाए।