Hindi News »Bihar »Patna» Acid On Face After The Minor Killing

नाबालिग बच्ची की गला दबाकर हत्या, चेहरे पर डाला तेजाब, बस में फेंकी लाश

पूर्णिया बस स्टैंड में रविवार की सुबह एक पंद्रह वर्षीय लड़की का शव मिला है।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 06, 2017, 07:31 AM IST

  • नाबालिग बच्ची की गला दबाकर हत्या, चेहरे पर डाला तेजाब, बस में फेंकी लाश
    +1और स्लाइड देखें
    पूर्णिया.सहायक केहाट थाना क्षेत्र अंतर्गत पूर्णिया बस स्टैंड में रविवार की सुबह एक पंद्रह वर्षीय लड़की का शव मिला है। शव देखने से ऐसा लग रहा है कि बस में गला दबाकर हत्या की गई है। इसके बाद चेहरे पर तेजाब डाल दिया गया। शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई और मौके पर भारी संख्या में जुट गए। लड़की माता स्थान चौक के पास की रहने वाली थी।
    शनिवार की रात में खाना बनाने के बाद घर से यह कहकर निकली थी कि थोड़ी देर में आ रहे हैं, लेकिन जब वह रात को दस बजे तक नहीं लौटी तो उनके परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरू कर दी, लेकिन रात भर वह नहीं मिली। स्थानीय लोगों ने केहाट सहायक थानाध्यक्ष को इसकी जानकारी दी। थानाध्यक्ष पंकज कुमार सदलबल मौके पर पहुंचे और कुछ लोगों से पूछताछ की, लेकिन घटना के बारे में जानकारी नहीं दी गई। हालांकि शव को कब्जे में लेकर केहाट सहायक थाने की पुलिस पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।
    दुष्कर्म की आशंका

    लड़की के शव को देखने से ऐसा लगता है कि उनके साथ दुष्कर्म किया गया है। इसके बाद हत्या कर दी गई है। हालांकि लड़की के पूरे शरीर पर तेजाब डाल दिया गया और पूरे मुंह पर इतना अधिका तेजाब डाला गया था कि उनकी पहचान करनी भी मुश्किल हो रही थी।
    छह माह में खड़ी थी बस, उसी में फेंकी लाश
    सुबह किसी ने परिजनों को सूचना दी कि पूर्णिया बस स्टैंड में हनुमान मंदिर के दक्षिण दिशा में छह माह से खराब पड़ी एक बस के अंदर एक लड़की की लाश पड़ी है। माता चौक स्थान के लोगों को जब यह सूचना मिली तो वह भी मौके पर पहुंचे। मृतका की मां ने आकर पहचान की कि उक्त मृतका उनकी पुत्री है। उसकी मां ने बताया कि उनकी बेटी रात में खाना बनाकर घर से यह कहकर निकली थी कि थोड़ी देर में वह आ रही है, लेकिन वह वापस नहीं लौटी।
    शाम होते ही लग जाता है नशेड़ियों का जमावड़ा
    बस स्टैंड से बिहार के सभी जिलों के साथ-साथ अन्य राज्यों के लिए भी बसें खुलती हैं। ज्यादातर बसें रात्रि में खुलती है, लेकिन दिनभर गाड़ियों को बस स्टैंड के अंदर खड़ी की जाती है। स्टैंड के अंदर खराब पड़ी बसों को भी रखा जाता है, जो नियम के विरुद्ध है। दिन से लेकर शाम तक स्टैंड में जुए एवं गांजे की कश लगाने वालों की महफ़िल सजती है। यहां नशेड़ियों का जमावड़ा लगा रहता है। जिस बस में हत्या हुई, वह भी पिछले कई माह से खराब पड़ी थी और स्टैंड में ही लगी हुई थी। पुलिस भी बस स्टैंड के बाहर ही गश्ती करती है, कभी बस स्टैंड के अंदर नहीं जाती।
  • नाबालिग बच्ची की गला दबाकर हत्या, चेहरे पर डाला तेजाब, बस में फेंकी लाश
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×