--Advertisement--

जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 4 पहुंची, दो थानाध्यक्ष समेत 17 सस्पेंड

चार मौतों के बाद पुलिस ने भी तब जहरीली शराब की बात मानी जब आईजी ने इस बात का खुलासा किया।

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2017, 07:36 AM IST
हाजीपुर में पत्रकारों को जानकारी देते आईजी। हाजीपुर में पत्रकारों को जानकारी देते आईजी।

हाजीपुर. जहरीली शराब पीने से शुक्रवार को एक और व्यक्ति की मौत शुक्रवार को हो गई। चार मौतों के बाद पुलिस ने भी तब जहरीली शराब की बात मानी जब आईजी ने इस बात का खुलासा किया। तिरहुत प्रक्षेत्र के आईजी सुनील कुमार ने भी माना कि बरांटी ओपी के वसौली गांव में पिछले ढाई माह से धड़ल्ले से कच्चा शराब और ताड़ी का व्यवसाय चल रहा था।


मालूम हो कि गुरुवार को इस गांव के शराब के अड्‌डे पर शराब पीने से तीन लोगों की मौत हो गई थी। तीन बीमारों का हाजीपुर और पटना के अस्पताल में इलाज चल रहा है। इसी क्रम में शुक्रवार को इलाज के दौरान हाजीपुर सदर अस्पताल में मोहन पासवान 55 वर्ष की मौत हो गई। दूसरे बीमार की हालत बिगड़ने पर पीएमसीएच रेफर कर दिया गया है। एक अन्य बीमार का पीएमसीएच में ही इलाज चल रहा है।

आईजी-डीआईजी ने की घटना की जांच : तिरहुत प्रक्षेत्र के आईजी सुनील कुमार ने अधिकारियों के साथ बरांटी ओपी के बसौली गांव में जाकर शराब मामले की जांच की।

मृतक अरुण के परिजनों ने दर्ज कराई एफआईआर


बसौली गांव में शराब की घटना की जांच कर लौटने के बाद तिरहुत के आईजी सुनील कुमार ने बताया कि बसौली गांव में पिछले ढाई माह से कच्चा शराब और ताड़ी का व्यवसाय चल रहा था। इस मामले स्थानीय चौकीदार के संबंधी आरोपी अदालत राय को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके खिलाफ मृतक अरुण पटेल के परिजनों ने एफआईआर दर्ज कराई है। इसके अलावे इसी गांव के विवेक कुमार को एक ट्यूब में भर कर कच्चा शराब लाते पकड़ा गया है। उन्होंने बताया कि बसौली गांव में कच्चा शराब पीने से मरने वालों की संख्या चार हो गई है।

लापरवाह चौकीदार को डीएम ने किया निलंबित


वैशाली डीएम रचना पाटिल ने बसौली गांव के लापरवाह चौकीदार कृष्ण मोहन पासवान को निलंबित कर दिया है। जिला सामान्य प्रशाखा की प्रभारी रेणु कुमारी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि चौकीदार के खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू की गई है। बर्खास्तगी की कार्रवाई भी हो सकती है।

दूसरे जिले में स्थानांतरित करने का आदेश

आईजी ने बताया कि राजापाकर और बरांटी ओपी के थानाध्यक्षों को कर्तव्यहीनता और लापरवाही के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। इसके अलावा बंराटी ओपी के पांच अफसरों और अन्य पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से थाने से हटा दिया गया है। आरक्षितों को दंड के रूप में दूसरे जिले में स्थानांतरित करने का आदेश दिया गया है। आईजी ने माना है कि पुलिस के संज्ञान में शराब का धंधा चल रहा था।

इन कर्मियों पर गिरी गाज


राजापाकर थानाध्यक्ष जंगू राम, ओपी प्रभारी कैप्टन शहनवाज के अलावे 2 एसआई, 2 एएसआई, 4 सैप के जवान, 4 होमगार्ड के जवान, 1 मुंशी, 1 दफादार और 1 चौकीदार को हटा दिया गया है। आईजी ने कहा कि शराबबंदी अभियान को लेकर पुलिस पूरी सतर्कता बरत रही है। पुलिस शहर से लेकर पंचायत तक कम्यूनिकेशन प्लान तैयार करेगी। इस प्लान के आधार पर शराबबंदी अभियान को और कड़ाई से लागू किया जाएगा।

four dies due to poisonous liquor in vaishali
four dies due to poisonous liquor in vaishali
four dies due to poisonous liquor in vaishali
four dies due to poisonous liquor in vaishali
X
हाजीपुर में पत्रकारों को जानकारी देते आईजी।हाजीपुर में पत्रकारों को जानकारी देते आईजी।
four dies due to poisonous liquor in vaishali
four dies due to poisonous liquor in vaishali
four dies due to poisonous liquor in vaishali
four dies due to poisonous liquor in vaishali
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..