Hindi News »Bihar »Patna» Ganja Smuggler Vaishali District Councilor

गांजे का तस्कर निकला वैशाली का जिला पार्षद, घर से 54 लाख कैश जब्त

आईजी (ईओयू) जितेंद्र सिंह गंगवार ने बताया कि गांजा तस्कर रामप्रवेश की संपत्ति का पता लगा रहे हैं। अवैध संपत्ति जब्त होगी

Bhaskar News | Last Modified - Nov 15, 2017, 05:10 AM IST

  • गांजे का तस्कर निकला वैशाली का जिला पार्षद, घर से 54 लाख कैश जब्त
    पटना.राघोपुर (वैशाली) का जिला पार्षद रामप्रवेश राय गांजा तस्कर निकला। ईओयू (आर्थिक अपराध इकाई) व पटना पुलिस के संयुक्त ऑपरेशन में सोमवार की देर रात फतुहा के नदी थानांतर्गत जेठुली गांव स्थित उसके घर की तलाशी के दौरान 54 लाख 6 हजार 900 रुपए बरामद किए गए। यह रकम एक ट्रक गांजा की खेप की डिलिवरी होने पर देने के लिए रखे गए थे।
    दरअसल, ईओयू को पता चला था कि बड़ी डीलिंग के तहत जेठुली में रामप्रवेश राय के घर पर एक ट्रक गांजा की डिलिवरी होनेवाली है। इसके बाद आईजी जितेंद्र सिंह गंगवार के निर्देशन में ईओयू के साथ ही फतुहा एसडीपीओ सुनील कुमार ने फतुहा व नदी थानों की पुलिस के साथ रामप्रवेश के घर की घेराबंदी कर ली।
    भागलपुर में गिरफ्तार ट्रक चालक से मिला सुराग
    सोमवार को भागलपुर के तिलकामांझी इलाके में ईओयू, एसटीएफ व जिला पुलिस की संयुक्त घेराबंदी में गांजा लदा एक ट्रक पकड़ा गया था। मौके से पकड़े गए ट्रक चालक व खलासी से पूछताछ में फतुहा के रामप्रवेश राय के नाम कंसाइनमेंट की डिलिवरी का सुराग मिलने पर जब उसके घर को खंगाला गया तो ईओयू व पुलिस का शक यकीन में बदल गया। गिरफ्तार आरोपियों ने 55 लाख में गांजा की खेप की डीलिंग होने की जानकारी दी थी । वैसे बरामद गांजा की मार्केट वैल्यू 2 करोड़ रुपए है।
    चार्जशीटेड तस्कर रामप्रवेश के पास अकूत संपत्ति
    ईओयू मुख्यालय के मुताबिक गांजा तस्कर रामप्रवेश राय चार्जशीटेड है। वह करीब एक दशक से गांजा तस्करी के रैकेट में सक्रिय रहा है। उसके खिलाफ पहले से फतुहा (एफआईआर नंबर 192-2008) व खुसरूपुर (एफआईआर नंबर 95-2008) थाने में एनडीपीएस एक्ट के तहत मामले दर्ज हैं। वह पहले जेल भी जा चुका है। वैसे आरंभिक तफ्तीश में पता चला है कि गांजा तस्करी के जरिए उसने अकूत संपत्ति हासिल कर रखी है। एक गैस एजेंसी के साथ कई अन्य व्यावसायिक कार्यों में भी उसका मालिकाना हक बताया जाता है।
    गांजा तस्करों का मुख्य केंद्र बना फतुहा व राघोपुर
    दियारा से सटा फतुहा व राघोपुर का इलाका गांजा तस्करों का मुख्य केंद्र बन चुका है। दूसरे राज्यों से ट्रक व अन्य माध्यमों से आनेवाले गांजा के खेप की डिलीवरी इन्हीं सेंटरों पर की जाती है। इसके बाद छोटे-छोटे कन्साइनमेंट के जरिए अन्य जगहों पर डिमांड के अनुसार भेजा जाता है। इस वर्ष पटना व वैशाली जिले में विभिन्न एजेंसियों के ऑपरेशन के दौरान पकड़े गए गांजा लदे आधा दर्जन से अधिक ट्रकों का मामला हकीकत को बयां कर रहा है।
    रामप्रवेश की अवैध संपत्ति का पता लगाया जा रहा

    आईजी (ईओयू) जितेंद्र सिंह गंगवार ने बताया कि गांजा तस्कर रामप्रवेश की संपत्ति का पता लगा रहे हैं। अवैध संपत्ति जब्त होगी। वह पुराने दो मामलों में चार्जशीटेड है। भागलपुर में पकड़ा गया गांजा का कंसाइनमेंट त्रिपुरा से आ रहा था। तस्करों के नेटवर्क के बारे में पता लगाया जा रहा है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×