--Advertisement--

पांच दिन से फ्लैट में बंधक थी लड़की, बेहोश कर आरोपी रोज करता था रेप

अपार्टमेंट में 12वीं की स्टूडेंट के साथ हुए गैंगरेप मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है।

Danik Bhaskar | Nov 22, 2017, 04:38 AM IST
विक्टिम को मेडिकल के लिए ले जाती पुलिस। विक्टिम को मेडिकल के लिए ले जाती पुलिस।

भागलपुर. यहां के हनुमान नगर (आदमपुर) के मां भगवती अपार्टमेंट में 12वीं की स्टूडेंट के साथ हुए गैंगरेप मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। लड़की ने पुलिस को बताया कि पांच दिन से मनीष राज उर्फ अविनाश उर्फ बउआ ने उसे बंधक बना कर रखा था। बेहोश कर उसके साथ हर दिन रेप करता था।

ट्यूशन से लौटते वक्त जबरन बैठाया था गाड़ी में

लड़की ने बताया कि 15 नवंबर की शाम पांच बजे वह इंग्लिश का ट्यूशन पढ़ कर अपने लॉज लौट रही थी, तभी रास्ते में मनीष ने उसे जबरन गाड़ी पर बैठा लिया। मुंह बंद दिया, ताकि वह चिल्ला नहीं सके और उसे बेहोश कर दिया। 15 नवंबर की रात करीब साढ़े दस बजे उसे होश आया तो उसने खुद को मनीष के फ्लैट में पाया। होश आने के बाद चिल्लाने लगी तो उसे एक कमरे में बंद दिया। मोबाइल का सिम भी तोड़ दिया।

लड़की को तीन लड़कों के साथ मनीष ले जाता था एग्जाम दिलाने


लड़की ने बताया कि 2-3 लड़कों के साथ मनीष उसे गंगा पार एग्जाम दिलाने ले जाता था। एग्जाम खत्म होने के बाद भी उसे लेकर फ्लैट पर आता था। उसे डरा-धमका कर रखता था। 19 नवंबर की रात नौ से दस बजे के बीच मनीष ने लड़की को जबरन शराब पिलाई। फिर मनीष के फुफेरे भाई सनी ने नशे में रेप किया।

बलात्कार के सबूत मिटाए, लड़की के कपड़े फ्लैट में छिपा दिये

लड़की ने बताया कि फ्लैट से सनी के जाने के बाद मनीष ने उसक साथ रेप किया। विरोध करने पर मनीष ने अपने नाखून और चाकू से शरीर के कई हिस्सों में खरोच दिया। उसके कपड़े को मनीष ने कहीं छिपा दिया। मनीष भी नशे में धुत्त था, वह गिर गया। इसी बीच वह जान बचा कर फ्लैट के नीचे आई। लोगों ने मदद की।

2016 में पीड़िता ने किया था मैट्रिक का एग्जाम


पीड़िता ने बताया कि 2016 में उसने मैट्रिक की एग्जाम पास की थी। अभी एक ओपन यूनिवर्सिटी के सेंटर से 12वीं की पढ़ाई कर रही है। पिछले नौ माह से एसएम कॉलेज रोड के एक हॉस्टल में रह कर फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी और अंग्रेजी का ट्यूशन पढ़ती है। उधर, पीड़िता के पिता ने कहा कि उनकी बेटी का जीवन बर्बाद करने वाले दोनों दरिदों को पुलिस अब तक अरेस्ट नहीं कर पाई है। दोनों आरोपी पहुंच-पैरवी वाले हैं। दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी हो और उसे फांसी मिले, तभी मेरे कलेजे को ठंडक पहुंचेगी।

आगे की स्लाइड्स में देखें संबंधित फोटोज...

हॉस्पिटल से मेडिकल के बाहर आती पुलिस। हॉस्पिटल से मेडिकल के बाहर आती पुलिस।
आरोपी मनीष राज उर्फ अविनाश उर्फ बउआ ने लड़की बंधक बना कर रखा था आरोपी मनीष राज उर्फ अविनाश उर्फ बउआ ने लड़की बंधक बना कर रखा था
आरोपी को ले जाती पुलिस। आरोपी को ले जाती पुलिस।
इस कमरे में बंधक बना रखा था आरोपी ने लड़की को। इस कमरे में बंधक बना रखा था आरोपी ने लड़की को।
बरामद दारू। बरामद दारू।
पीड़िता। पीड़िता।
पुलिस मौके पर । पुलिस मौके पर ।
अपार्टमेंट। अपार्टमेंट।