--Advertisement--

पटना में 1200 रु. किलो बिक रहा बकरी का दूध, घी और काजू से भी ज्यादा है इसकी कीमत

डेंगू के मरीजों में प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से गिरने लगती है। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता घट जाती है।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 06:07 AM IST
पटना में बकरी का दूध 1 हजार रुपए से लेकर 1200 रुपए किलो तक बिक रहा है। (फाइल) पटना में बकरी का दूध 1 हजार रुपए से लेकर 1200 रुपए किलो तक बिक रहा है। (फाइल)

पटना. शहर में डेंगू के बढ़ते मरीजों की वजह से इसके इलाज के लिए बकरी के दूध की डिमांड बढ़ गई है। इन दिनों यहां बकरी का दूध 1 हजार से लेकर 1200 रुपए लीटर तक बिक रहा है। इसे 50 ग्राम से 100 ग्राम के हिसाब से भी बेचा रहा है। कुछ जगह इसे चाय के एक गिलास में भी बेचते देखा गया। एक गिलास की कीमत 100 से 150 रुपए तक है।

डेंगू की वजह से बकरी के दूध के दाम बढ़ते गए

- दरअसल, डेंगू की बीमारी में किसी भी मरीज में प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से गिरने लगती है और इम्यूनिटी घट जाती है।

- ऐसा दावा किया जाता है कि बकरी के दूध में इम्यूनिटी को बढ़ाने के गुण होते हैं। डॉक्टर भी मरीजों को ऑन प्रिस्क्रिप्शन तो नहीं, लेकिन बकरी का दूध पीने की सलाह दे रहे हैं।

- कहा जाता है कि इस दूध से हफ्ते-दस दिन में प्लेटलेट्स तेजी से बढ़ते हैं।

डॉक्टर बोले- कोई स्टडी नहीं है कि बकरी के दूध से डेंगू ठीक होता है
- डॉक्टर दिवाकर तेजस्वी के मुताबिक, बकरी के दूध में इम्यूनो ग्लोब्यूलिन पाया जाता है। यह इम्यूनिटी को बढ़ाने में मददगार है। हालांकि, कोई भी स्टडी इसकी पुष्टि नहीं करती है कि बकरी के दूध से डेंगू के मरीज ठीक हो जाते हैं, लेकिन आब्जर्वेशनल स्टडी में इसके पॉजिटिव रिजल्ट आए हैं।

चाय के एक गिलास के बराबर दूध की कीमत 100 रु.

- महंगा होने के कारण दूध अब चाय के गिलास में बेचा जा रहा है। एक गिलास दूध के 100 रुपए तक लिए जा रहे हैं। दूध बेचने वाले ऊंची कीमत के पीछे डेंगू का तर्क दे रहे हैं।

डॉ.दिवाकर तेजस्वी के मुताबिक, बकरी के दूध में इम्युनो ग्लोब्यूलिन पाया जाता है। यह इम्यूनिटी बढ़ाने में मददगार है। (फाइल) डॉ.दिवाकर तेजस्वी के मुताबिक, बकरी के दूध में इम्युनो ग्लोब्यूलिन पाया जाता है। यह इम्यूनिटी बढ़ाने में मददगार है। (फाइल)