Hindi News »Bihar »Patna» Ground Report After Simriya Dham Accident

सिमरिया धाम हादसे के बाद भास्कर की ग्राउंड रिपोर्ट, मिली कई खामियां

तफ्तीश की तो पता चला कि कार्तिक स्नान के दिन जहां दम घुटने से तीन वृद्ध महिलाओं की मौत हुई है वहां 4 फीट का रास्ता है।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 06, 2017, 06:52 AM IST

  • सिमरिया धाम हादसे के बाद भास्कर की ग्राउंड रिपोर्ट, मिली कई खामियां
    +3और स्लाइड देखें
    बीहट (बेगूसराय).भास्कर ने जब घटना के एक दिन बाद इसकी विशेष रूप से तफ्तीश की तो पता चला कि कार्तिक स्नान के दिन जहां दम घुटने से तीन वृद्ध महिलाओं की मौत हुई है वहां 4 फीट का ही रास्ता है। वहां दो तरफ से पहुंचने का रास्ता है। एक रास्ता 20 फीट चौड़ा है, जबकि दूसरा राजेंद्र पुल से नीचे उतरने वाली सीढ़ी। दोनों रास्ते से जब लोग पहुंचते हैं तो उनकी संख्या सैकड़ों में होती है, लेकिन उन्हें सीढ़ी घाट जाने के लिए चार फीट चौड़ी गली से गुजरना पड़ता है। प्रशासन को उक्त गली को या तो बंद करना चाहिए या उस रास्ते को वन-वे कर देना चाहिए। जबकि आज की तिथि में उक्त रास्ता आने और जाने के लिए इस्तेमाल होता है।

    रेलवे ट्रैक से उतरने वाले रास्ते पर लगाएं प्रतिबंध

    लोग शॉर्ट कर्ट मारने के चक्कर में राजेंद्र पुल स्टेशन से उतरकर रेलवे ट्रैक के रास्ते घाट नंबर की ओर चिदात्मन महाराज के आश्रम की ओर जाते हैं। यही नहीं राम घाट जाने का भी यही रास्ता अपनाया जाता है। उक्त व्यस्ततम ट्रैक से प्रत्येक 15 मिनट पर ट्रेन गुजरती है। लोग अपनी जान को दांव पर लगाकर ट्रैक होकर घाट की ओर जाते हैं। हालांकि वहां पुलिस की तैनाती तो जरूर है, लेकिन वे लोगों को सुरक्षित ट्रैक पार कराने की बजाय आपसी गप्पेबाजी में मशगूल रहते हैं। लोगों को रेलवे ट्रैक पार करने की बजाय मुख्य रास्ते से घाट पहुंचने के लिए कहा जाए।

    महाकुंभ के तीसरे शाही स्नान में प्रशासन की क्या होगी तैयारी

    विदित हो कि, सर्वमंगला आध्यात्मिक योग विद्यापीठ द्वारा सिमरिया महाकुंभ में तीन परिक्रमा की गई। तीनों परिक्रमा में पुलिस द्वारा परिक्रमा के वक्त ही अतिक्रमण हटाया गया था, जो कि पुलिस के लिए सबक के रूप में काफी था। अब देखना यह है कि सिमरिया महाकुंभ के तीसरे शाही स्नान में जिला प्रशासन की क्या तैयारी होती है। फिलहाल सिमरिया महाकुंभ अपनी आस्था और विरासत को लेकर अब अंतरराष्ट्रीय फलक पर चर्चा में है।
    - सिमरिया गंगा स्नान को घाट नंबर एक पर आने वाले श्रद्धालुओं को केवल इस 4 फीट के सकरे रास्ते से जाने दिया जाए।
    - घाट नंबर 1, 2 और 3 से गंगा स्नान कर लौटने वाले को पुल से पश्चिम सर्वमंगला से आगे वापस किया जाए।
    - सकरे रास्ते से आगे बढ़ने के बाद सीढ़ी पर दोनों तरफ बैठे दरिद्रनारायण को हटाकर अंतिम शाही स्नान के दिन अलग रखा जाए।
    - राजेंद्र पुल से सीढ़ी के रास्ते नीचे उतरने वाले लोगों को प्रशासनिक भवन की तरफ मोड़ा जाय।
    - कुंभस्थली द्वार के रास्ते आने वाले श्रद्धालुओं को टोल टैक्स तीनमुहानी से पूरब दक्षिण बाएं घाट की ओर भेजा जाए।
    - स्नान घाट एक, दो और तीन के पास लगे फुटकर बाजारों को हटा लिया जाए, तो शायद लोगों को पर्याप्त जगह मिल जाएगी।
    आगे की स्लाइड्स में पढ़ें क्या खामियां मिली भास्कर की टीम को...
  • सिमरिया धाम हादसे के बाद भास्कर की ग्राउंड रिपोर्ट, मिली कई खामियां
    +3और स्लाइड देखें
    सड़क पुल से उतरने वाली सीढ़ी में नहीं है रेलिंग
    सड़क पुल से उतरने वाली सीढ़ी में रेलिंग नहीं है तथा चढ़ाई काफी खड़ी है। अगर किसी एक का पैर फिसला, तो फिर कई जानों पर आफत आ सकती है। उक्त सीढ़ी का इस्तेमाल सैकड़ों लोग लगातार करते हैं, जो बस या टेंपो से उतरकर घाट की ओर जाना चाहते हैं।
  • सिमरिया धाम हादसे के बाद भास्कर की ग्राउंड रिपोर्ट, मिली कई खामियां
    +3और स्लाइड देखें
    राजेंद्र पुल पर बना फुटपाथ है टूटा
    राजेंद्र पुल पर बना फुटपाथ टूटा हुआ है, जहां से प्रत्येक मिनट पर सैकड़ों लोग गुजरते हैं। उनका ध्यान उक्त टूटे फूटपाथ पर कम अपनी ट्रेन, बस या वाहन को खोजने या पकड़ने में ज्यादा होती है। भीड़ भाड़ वाले समय में उक्त जगह पर वाहनों का लंबा जाम लगा रहता है, जिस कारण पैदल चलने वालों को धक्का-मुक्की का सामना करना पड़ता है।
  • सिमरिया धाम हादसे के बाद भास्कर की ग्राउंड रिपोर्ट, मिली कई खामियां
    +3और स्लाइड देखें
    मेले में तैनात जवान बरतते हैं लापरवाही
    मेले में तैनात जवान अपनी ड्यूटी पर काफी लापरवाही बरतते हैं। जिन जगहों पर जवानों की तैनाती की गई रहती है वो काम में कम तथा गप्पेबाजी तथा मोबाइल पर ज्यादा व्यस्त रहते हैं। भास्कर ने पड़ताल के दौरान देखा है कि तैनात जवान अपनी ड्यूटी के प्रति सचेत नहीं दिखे। जब हमारी टीम घूमी तो अधिकतर जगहों पर तैनात सिपाही या तो मोबाइल चलाते देखे गए या गप्पेबाजी करते।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×