--Advertisement--

दूल्हा लेफ्टिनेंट तो दुल्हन मैनेजर, दोनों चलाएंगे दहेज नहीं लेने का कैंपेन

दुल्हन आईटीसी कम्पनी में मैनेजर है तो दुल्हा नेवी में लेफ्टिनेंट कमांडर पद पर कार्यरत है।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 08:15 AM IST

बनियापुर (सारण). यहां एक लड़के और लड़की ने बिना दहेज के इंटरकास्ट मैरिज की है। दोनों ने दहेज और जाति जैसे प्रथा को समाज के लिए कलंक बताया है। ये शादी गुरुवार की रात संपन्न हुई। जानकारी के अनुसार, दुल्हन आईटीसी कम्पनी में मैनेजर है तो दुल्हा नेवी में लेफ्टिनेंट कमांडर पद पर कार्यरत है। वहीं दूल्हे का पिता झारखंड में पुलिस सब इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत हैं।

बता दें कि इसके पहले मढ़ौरा में एक डाक्टर ने बिना दहेज की शादी की। यह शादी बाजितपुर के नजीबा गांव की है। जहां नागेन्द्र सिंह की बेटी शिल्पी का यह फैसला था। इस बेटी के अंदर समाज सेवा करने का भी जुनून था। जिसको लेकर पिछले पंचायत चुनाव में लड़की ने अपना नामांकन पंचायत चुनाव के मुखिया पद से भी कराई थी। संयोगवश किसी तकनीकी गड़बड़ी के कारण इनका नामांकन रद्द हो गया था। उसके बाद इन्होंने समाज में एक मिसाल पेश करने के लिए बिना दहेज शादी करने का फैसला ले लिया।

दुल्हन पंचायत चुनाव में मुखिया की प्रत्याशी भी रह चुकी है

तब-तक दहेज के खिलाफ जंग लड़ने वाले युवक का शादी संबंध पटना के बिहटा के रहने वाले अरुण सिंह के बेटे जय किशोर से तय हो गई। जो इस मुहिम में लड़की के साथ दहेज के खिलाफ लड़ने का फैसला कर लिया। हुआ यूं कि दोनों ने इस मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए अपनी शादी बिना दहेज के ही करने का फैसला कर लिया और दहेज के खिलाफ लड़ाई लडऩे की ठान ली है।