Hindi News »Bihar News »Patna News» Life Story Of Girls In Theaters Of Sonpur Mela

डांस के शौक ने बना दिया 'बार गर्ल', दर्द भरी है इन लड़कियों की कहानियां

Bhaskar News | Last Modified - Nov 13, 2017, 11:33 PM IST

थियेटरों में देश के कोने-कोने से आने वाली डांसर लड़कियों ने स्टेज के पीछे की अपनी लाइफ स्टोरी शेयर की है।
  • डांस के शौक ने बना दिया 'बार गर्ल', दर्द भरी है इन लड़कियों की कहानियां
    +6और स्लाइड देखें
    सोनपुर (बिहार).वर्ल्ड फेमस सोनपुर मेला में लगी थियेटरों में देश के कोने-कोने से आने वाली डांसर लड़कियों ने स्टेज के पीछे की अपनी लाइफ स्टोरी शेयर की है। किसी ने अपने से छोटे बेसहारा भाई-बहनों को पढ़ाने को तो कोई गंभीर रूप से बीमार माता-पिता का इलाज कराने के लिए इस पेशे को चुन रखा है। शायद ही ऐसी कोई लड़कियां मिले जो शौकिया इस पेशे में आईं हों।
    बीमार मां का इलाज कराने के लिए पैरों में बांधा घुंघरू
    - सोनपुर मेले में लगे सभी 09 थियेटरों में करीब ढ़ाई सौ लड़कियों की भीड़ में एक लवली भी है। वह दिल्ली से आई है।
    - कुछ माह पहले एक रोड एक्सीडेंट में पिता और एक भाई की दर्दनाक मौत हो गई। बेटा और पति की मौत ने मां ने बेड पकड़ लिया।
    - वे गंभीर रूप से वे बीमार हैं। मां का इलाज और भाई की पढ़ाई की जिम्मेवारी लवली के कंधे पर ही है।
    पहली बार आई है सोनपुर मेला
    - लवली ने बताया कि हजार रुपए प्रति नाइट यानि 30 दिनों के लिए उसे 30 हजार रुपए मिलेंगे।
    - सोनपुर मेले में कद्रदानों से छूट के पैसे भी खूब मिलते हैं। कुल 50 हजार रुपये की कमाई उसे हो जाएगी।
    - 50 हजार रुपए कमाने की लालच में वह बीमार मां को छोटे भाई के भरोसे दिल्ली छोड़कर आई है।
    डांस के शौक ने दिया सहारा
    - लवली बताती है उसे डांस पसंद है। डांस ने ही भारी विपत्ति में सहारा दिया। वो बारहवीं पास कर चुकी है।
    - एक्सी़डेंट में पिता को खोने के बाद उसने डांस ट्यूशन देकर घर चलाने की कोशिश की लेकिन ये संभव नहीं हो पा रहा था।
    - मां की बीमारी, भाई की पढ़ाई का खर्च मुश्किल से ही निकल पा रहा था जिसके चलते उसने थियेटर ज्वाइन किया।
    - उसने कहा कि थियेटर में काम करने वाली लड़कियों को गलत नजरों से देखा जाता है। उसने थियेटर आर्टिस्टों को बार बाला नाम दिए जाने पर आपत्ति जताई।
    आगे की स्लाइड्स में देखें संबंधित फोटोज...
  • डांस के शौक ने बना दिया 'बार गर्ल', दर्द भरी है इन लड़कियों की कहानियां
    +6और स्लाइड देखें
  • डांस के शौक ने बना दिया 'बार गर्ल', दर्द भरी है इन लड़कियों की कहानियां
    +6और स्लाइड देखें
  • डांस के शौक ने बना दिया 'बार गर्ल', दर्द भरी है इन लड़कियों की कहानियां
    +6और स्लाइड देखें
  • डांस के शौक ने बना दिया 'बार गर्ल', दर्द भरी है इन लड़कियों की कहानियां
    +6और स्लाइड देखें
  • डांस के शौक ने बना दिया 'बार गर्ल', दर्द भरी है इन लड़कियों की कहानियां
    +6और स्लाइड देखें
  • डांस के शौक ने बना दिया 'बार गर्ल', दर्द भरी है इन लड़कियों की कहानियां
    +6और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Patna News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Life Story Of Girls In Theaters Of Sonpur Mela
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From Patna

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×