Hindi News »Bihar »Patna» Smog In Patna Air Pollution Level Increases

पटना में दोपहर तक स्मॉग में बदल रहा कोहरा, हवा में प्रदूषण दिल्ली जैसी ही

पटना में दो दिनों से जम रहा कोहरा अब खतरनाक रूप लेने लगा है। रात 12 बजे के बाद ठंड बढ़ते ही कोहरा छा जा रहा है।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 11, 2017, 07:34 AM IST

  • पटना में दोपहर तक स्मॉग में बदल रहा कोहरा, हवा में प्रदूषण दिल्ली जैसी ही
    +2और स्लाइड देखें
    स्मॉग के चलते सड़कों पर विजिबिलिटी कम हो गई है।
    पटना. राजधानी पटना में दो दिनों से जम रहा कोहरा अब खतरनाक रूप लेने लगा है। रात 12 बजे के बाद ठंड बढ़ते ही कोहरा छा जा रहा है। दिन होते ही गाड़ियों का धुआं कोहरे को जमा रहा है। दोपहर होते-होते हवा में पार्टिकुलेट मैटर (पीएम 2.5) की संख्या इतनी अधिक बढ़ जा रही है कि कोहरा स्मॉग में बदल जा रहा है।
    बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद के वैज्ञानिक बताते हैं कि पटना में स्मॉग के दो ही मुख्य कारण हैं। पहला-दिनभर प्रदूषण उगलतीं गाड़ियां और दूसरा-हवा की थमी रफ्तार। हल्की धूप होते ही आर्द्रता 75 फीसदी से नीचे चली जा रही है। इसी कारण ठंड भी कम पड़ रही है। 14 नवंबर से पछुआ हवा चलेगी। इसके बाद स्थिति सामान्य होने लगेगी और ठंड भी बढ़ जाएगी।
    प्रदूषण मानक : अभी नहीं चेते तो खतरनाक हो जाएंगे हालात
    पटना :
    - रात 6 से 8 बजे तक पीएम 2.5 की मात्रा 500 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर। औसत 426 माइक्रोग्राम।
    - दिन में 11 बजे 498, 12 बजे 500, एक बजे 481 और दो बजे 489 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर।
    दिल्ली :
    - रात छह से दिन के 12 बजे तक प्रदूषण 500 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर। औसत 478 माइक्रोग्राम।
    - सुबह में सात बजे 481, दोपहर एक बजे 468 और दो बजे 436 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर।
    क्या है पीएम-2.5 : 2.5 माइक्रोमीटर या उससे कम व्यास के बेहद छोटे कण। वातावरण में फैले ये कण ठोस या तरल रूप में होते हैं। इसमें धूल, गर्द और धातु के सूक्ष्म कण शामिल हैं। जो सांस के दौरान फेंफड़ों तक जाते हैं। इससे श्वसन की बीमारी हो सकती है।
    हवा में पीएम 2.5 कणों की संख्या बढ़ने से छा रही धुंध
    प्रदूषण नियंत्रण के वैज्ञानिक एसएन जायसवाल ने बताया कि ठंड के मौसम में पीएम 2.5 कणों के हवा में बढ़ते ही धुंध बढ़ती है। पटना के आसपास फसलों को जलाया नहीं जाता इसलिए पूरी तरह स्मॉग का सामना लोगों को नहीं करना पड़ता। पर 3 दिन से हवा की थमी रफ्तार से कोहरा धुंध में बदल जा रहा है।
    कोहरा और स्मॉग को इस तरह समझें
    स्मॉग : आर्द्रता 75 % से कम और विजिबिलिटी एक किमी. या उससे थोड़ा अधिक हो जाती है।
    कोहरा : आर्द्रता 90 % से ऊपर पहुंच जाती है। विजिबिलिटी एक किमी. या उससे नीचे होती है।
  • पटना में दोपहर तक स्मॉग में बदल रहा कोहरा, हवा में प्रदूषण दिल्ली जैसी ही
    +2और स्लाइड देखें
    स्मॉग के चलते रेलवे के साथ-साथ सड़क और एयर रूट भी इफेक्टेड है।
  • पटना में दोपहर तक स्मॉग में बदल रहा कोहरा, हवा में प्रदूषण दिल्ली जैसी ही
    +2और स्लाइड देखें
    पटना में दोपहर तक ऐसी ही स्थिति बनी रहती है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×