Hindi News »Bihar »Patna» Stampede During Saptakranti Superfast Climbing

ट्रेन में चढ़ने को मारपीट, कोई खिड़की तो कोई टायलेट से घुसा, फिर भी छूटे 200 यात्री

ट्रेन में चढ़ने के दौरान मची भगदड़ के मामले में सोनपुर मंडल के डीआरएम ने संबंधित अधिकारियों से रिपोर्ट तलब की है।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 07, 2017, 03:59 AM IST

  • ट्रेन में चढ़ने को मारपीट, कोई खिड़की तो कोई टायलेट से घुसा, फिर भी छूटे 200 यात्री
    +4और स्लाइड देखें
    11:50 बजे प्लेस हुई सप्तक्रांति सुपरफास्ट।
    मुजफ्फरपुर.रविवार को सप्तक्रांति सुपरफास्ट में चढ़ने के दौरान मची भगदड़ के मामले में सोनपुर मंडल के डीआरएम ने संबंधित अधिकारियों से रिपोर्ट तलब की है। आरपीएफ की ओर से भेजी गई रिपोर्ट के आधार पर गार्ड से भी इस मामले में पूछताछ होगी। गार्ड पर कार्रवाई तय मानी जा रही है। रविवार को ट्रेन के 15 मिनट विलंब से प्लेस होने के कारण कई यात्री नहीं चढ़ पाए थे। इसी बीच ट्रेन खुल गई, जबकि गार्ड आरजी राय को रोकने के लिए कहा गया था। सैकड़ों यात्रियों के चलती ट्रेन में चढ़ने के प्रयास के कारण प्लेटफॉर्म पर भगदड़ मच गई थी। मामले में कमांडेंट ने आरपीएफ की रिपोर्ट डीआरएम को साैंप दी है।

    उधर, सोमवार को भी जंक्शन पर सप्तक्रांति एक्सप्रेस में चढ़ने वाले यात्रियों की काफी भीड़ रही। डीआरएम की सख्ती व रविवार की घटना से सबक लेते हुए सोमवार को 45 मिनट पहले गाड़ी को प्लेटफॉर्म पर प्लेस किया गया। हर दिन की तरह प्लेटफॉर्म पर यात्रियों की कतार लगी थी। मगर ट्रेन के प्लेस हाेने के साथ ही कतार में खड़े यात्री अनियंत्रित हो गए। खासकर, जनरल कोच में चढ़ने के लिए मारामारी शुरू हो गई। सीट की क्षमता से दो गुना अधिक यात्री होने के कारण 200 से अधिक यात्री ट्रेन नहीं पकड़ सके। कोच में एक बच्चा यात्रियों के बीच दब गया। उसके चीखने की आवाज पर एक जवान ने बाहर निकाला। उसे खिड़की के रास्ते ट्रेन में घुसाया गया।
    उधर, देहरादून जानेवाली राप्ति गंगा में भी यात्रियों की भीड़ रही। ट्रेन में कई यात्री खिड़की तो कई यात्रियों के ऊपर से चढ़ेे। इस दौरान कई यात्रियों के बीच झड़प भी हुई। पवन एक्सप्रेस के जनरल कोच में सवार होने के लिए भी यात्रियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी।
    ट्रेन में फंसी नीलगाय, डेढ़ घंटे परिचालन ठप
    सोमवार की सुबह मुजफ्फरपुर-समस्तीपुर रेलखंड के अप लाइन पर डेढ़ घंटे परिचालन ठप रहा। सिलौत स्टेशन के समीप दरभंगा से अहमदाबाद जाने वाली साबरमती एक्सप्रेस के इंजन में एक नीलगाय फंस गई। पायलट ने इसकी सूचना सिलौत स्टेशन पर मौजूद स्टेशन मास्टर को दी। उसके बाद ट्रेन में फंसी नीलगाय की बॉडी को निकाला गया।
    स्वतंत्रता सेनानी समेत अन्य ट्रेनें भी घंटों लेट

    स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस 7 घंटे, कामाख्या-कटरा एक्सप्रेस 9, शहीद एक्सप्रेस 5 घंटे, न्यू जलपाईगुड़ी-उदयपुर एक्सप्रेस 4 घंटे, मिथिला एक्सप्रेस 3 घंटे व अवध-असम एक्सप्रेस 3 घंटे लेट रही। जबकि, नई दिल्ली-न्यू जलपाईगुड़ी एक्सप्रेस 15 घंटे, ग्वालियर-बरौनी मेल 6 घंटे, व बिहार संपर्क क्रांति 5 घंटे लेट से आईं। उधर, डीसीएम स्क्वायड-1 में टिकट चेकिंग के 175 मामले आए। 91 हजार रुपए जुर्माना वसूली हुई।
    एक दिन विलंब से आज जाएगी यशवंतपुर एक्सप्रेस, कई की जंक्शन पर गुजरी रात

    यशवंतपुर जानेवाली यशवंतपुर एक्सप्रेस 24 घंटे विलंब से मंगलवार की सुबह जंक्शन से रवाना होगी। यह ट्रेन रविवार को एक दिन लेट से मुजफ्फरपुर से स्पेशल ट्रेन बन कर हावड़ा गई थी। हावड़ा से यह ट्रेन साेमवार की देर शाम जंक्शन पर पहुंची। इस कारण कई यात्रियों को भारी परेशानी हुई। कई के जरूरी काम छूट गए। मोतीपुर प्रखंड के कथैया निवासी धर्मवीर साह को अपनी मां का इलाज कराने के लिए चेन्नई जाना था। वे अपनी मां और भाभी के साथ साेमवार को ट्रेन के निर्धारित समय से स्टेशन पहुंच गए थे। मगर ट्रेन के एक दिन लेट होने के कारण उन्हें अपनी बीमार मां के साथ पूरा दिन व रात जंक्शन पर ही गुजारना पड़ा। उन्होंनेे बताया कि ट्रेन लेट होने से वे समय पर चेन्नई में अस्पताल नहीं पहुंच पाएंगे। अब यह ट्रेन मंगलवार की सुबह जाएगी। इनके साथ-साथ कई अन्य यात्रियों ने भी कुछ इसी तरह की व्यथा सुनाई।
    जनरल बोगी में दोगुने यात्री
    - 1518 यात्रियों की कुल क्षमता है ट्रेन की।
    - 204 (एसी : 64 सीट वाली दो, जबकि एक में 46 व एक अन्य में 30)
    - 864 (एक स्लीपर बोगी में 72, जबकि 12 बोगियां थीं)
    - 450 (जनरल बोगी में 90, जबकि 5 बोगियां थीं)
    - 900 यात्री थे कतार में।
    - 2400 यात्री गए ट्रेन से।
    - 400 वेटिंग टिकट वाले अतिरिक्त थे स्लीपर व एसी कोच में।
    - 1068 यात्री स्लीपर व एसी बोगी में सीट रिजर्व करा रखे थे।
  • ट्रेन में चढ़ने को मारपीट, कोई खिड़की तो कोई टायलेट से घुसा, फिर भी छूटे 200 यात्री
    +4और स्लाइड देखें
    11:55 बजे यात्रियों को चढ़ाया जाने लगा।
  • ट्रेन में चढ़ने को मारपीट, कोई खिड़की तो कोई टायलेट से घुसा, फिर भी छूटे 200 यात्री
    +4और स्लाइड देखें
    12:35 बजे जंक्शन से ट्रेन खुली।
  • ट्रेन में चढ़ने को मारपीट, कोई खिड़की तो कोई टायलेट से घुसा, फिर भी छूटे 200 यात्री
    +4और स्लाइड देखें
  • ट्रेन में चढ़ने को मारपीट, कोई खिड़की तो कोई टायलेट से घुसा, फिर भी छूटे 200 यात्री
    +4और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×