पटना

--Advertisement--

स्मार्ट सिटी पर काम शुरू, पहली बैठक में सीईओ समेत 16 पदों पर बहाली का फैसला

पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड कंपनी में अधिकारियों और कर्मचारियों के 16 पदों का सृजन किया गया है।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 05:17 AM IST
Start work on smart city
पटना. पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड कंपनी में अधिकारियों और कर्मचारियों के 16 पदों का सृजन किया गया है। चीफ एग्जीक्यूटिव अफसर, चीफ जनरल मैनेजर, चीफ फाइनेंस अफसर, कंपनी सेक्रेटरी समेत कुल 16 पदों पर 30 अधिकारियों और कर्मचारियों की बहाली होगी। यह बहाली कांट्रैक्ट के आधार पर होगी। हर पद के लिए योग्यता, अनुभव और अधिकतम उम्र निर्धारित की गई है। यह निर्णय मंगलवार को पटना स्मार्ट सिटी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की पहली बैठक में लिया गया।
प्रमंडलीय आयुक्त सह कंपनी के अध्यक्ष आनंद किशोर की अध्यक्षता में आयुक्त कार्यालय में यह बैठक हुई। बैठक में कुल 26 एजेंडों को स्वीकृति मिली। साथ ही मेयर, डीएम, बुडको के जीएम और शहरी विकास मंत्रालय के प्रतिनिधि को कंपनी में निदेशक मनोनीत किया गया। निर्णय लिया गया कि पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड में पूर्णकालिक सीईओ की बहाली होने तक नगर आयुक्त सह प्रबंध निदेशक (पटना स्मार्ट सिटी) अभिषेक सिंह इस पद के अतिरिक्त प्रभार में रहेंगे।
प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंसी लागू करेंगी योजनाएं

परियोजनाओं का क्रियान्वयन प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंसी द्वारा होगा। कंसल्टेंसी के चयन के लिए विज्ञापन दिया जा चुका है और बिड को खोलने के लिए टेंडर कमेटी का गठन किया गया है।
कंपनी के अफसरों को मिलेगी फाइनेंशियल पावर
प्रमंडलीय आयुक्त ने बताया कि कंपनी के अधिकारियों को वित्तीय शक्ति देने के लिए प्रस्ताव तैयार करने को सात सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। इसमें पटना नगर निगम के आयुक्त, प्रबंध निदेशक बुडको, नगर निगम के मुख्य अभियंता, अपर नगर आयुक्त, कंपनी के निदेशक केडी प्रोज्ज्वल और विनोद कुमार तिवारी और सीए फर्म शामिल है। कंपनी के पदाधिकारियों एवं कर्मियों के लिए सेवा नियमावली बनाने का भी निर्णय लिया गया। इसके लिए भी बोर्ड ने सात सदस्यीय कमेटी का गठन किया।
मंदिरी नाले की डीपीआर स्मार्ट सिटी लायक नहीं, होगा संशोधन
पटना स्मार्ट सिटी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की पहली बैठक में मंगलवार को मंदिरी नाले के जीर्णोद्धार के लिए बुडको द्वारा डीपीआर प्रस्तुत की गई। डीपीआर को पटना स्मार्ट सिटी प्रस्ताव के अनुरूप नहीं पाया गया। बुडको को एक माह के अंदर संशोधित कर प्रस्तुत करने को कहा गया। वहीं बिस्कोमान टावर की पांचवीं मंजिल पर 6000 वर्गफीट में पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड का कार्यालय बनाने को अनुमोदित किया गया और कार्यालय उपयोग के लिए फर्नीचर, कंप्यूटर सिस्टम आदि की खरीद के लिए कंपनी के प्रबंध निदेशक को अधिकृत किया गया। कार्यालय निर्माण के लिए बिहार राज्य भवन निर्माण निगम लिमिटेड को 95.30 लाख रुपए देने की स्वीकृति दी गई। कंपनी सेक्रेटरी के रूप में मेसर्स अजय कुमार एंड एसोसिएट्स को अगले आदेश तक रखा गया है।
पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड कंपनी में इन पदों पर होगी बहाली
पद संख्या उम्र सैलरी
चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर 01 58 2,25000
चीफ जनरल मैनेजर 01 55 150000
चीफ फाइनेंस अफसर 01 55 125000
सीनियर मैनेजर टेक्निकल 02 50 100000
कंपनी सेक्रेटरी 01 50 90000
मैनेजर टेक्निकल 03 50 85000
मैनेजर फाइनांस एंड प्रिक्योरमेंट 01 45 85000
मैनेजर मॉनिटरिंग एंड इवैल्यूएशन 01 40 85000
मैनेजर इंप्लिमेंटेशन एंड कंट्रोल 01 40 85000
मैनेजर आईटी 01 40 85000
पब्लिक रिलेशन अफसर 01 40 70000
एकाउंटेंट 02 40 35000
ऑफिस एग्जीक्यूटिव 06 40 30000
स्टेनोग्राफर 02 35 25000
कंप्यूटर ऑपरेटर 06 35 20000
इधर, मौर्यालोक का मंत्री ने किया औचक निरीक्षण

नगर विकास एवं आवास विभाग मंत्री सुरेश कुमार शर्मा ने मंगलवार को मौर्यालोक का औचक निरीक्षण किया। मौर्यालोक की साफ सफाई, पार्क के रख रखाव को देखा। इसके साथ ही वहां के व्यवसायियों से बात करके उनकी समस्याओं को जाना। उन्होंने नगर आयुक्त को निर्देश दिया कि मौर्या कॉम्प्लेक्स को स्मार्ट बनाने का प्लान बनाएं और उसे विभाग को दें।
X
Start work on smart city
Click to listen..