--Advertisement--

रेप विक्टिम ने बताई उस रात की कहानी, कहा- कोल्ड ड्रिंक में मिलाई थी शराब

महिला अफसर स्वयंप्रभा ने पॉक्सो जज के चैंबर में लड़की को पेश किया। जहां लड़की ने उस रात की पूरी कहानी बताई।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 07:58 AM IST
अपार्टमेंट जिसमें वारदात को अंजाम दिया गया और मेडिकल जांच के बाद लड़की। अपार्टमेंट जिसमें वारदात को अंजाम दिया गया और मेडिकल जांच के बाद लड़की।

भागलपुर. यहां 19 नवंबर की रात मां भगवती अपार्टमेंट में गैंगरेप की शिकार लड़की शुक्रवार को कोर्ट पहुंची। लड़की के साथ उसके माता-पिता भी थे। महिला अफसर स्वयंप्रभा ने पॉक्सो जज के चैंबर में लड़की को पेश किया। जहां लड़की ने उस रात की पूरी कहानी बताई।

मनीष ने कोल्ड ड्रिंक में मिला दी थी शराब

लड़की ने बताया कि वह अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 201 में अपनी सहेली से मिलने गई थी। सहेली ने वहां आने को कहा था। दरवाजा खटखटाने के बाद सहेली जब बाहर नहीं निकली तब वह सीढ़ी से नीचे उतरने लगी। लेकिन मनीष ने उसे रोक लिया कि सहेली यहां आ रही है। इसी दौरान मनीष ने कोल्ड ड्रिंक पीने को दिया। उसके बाद मनीष ने कमरा बंद कर लिया। वहां उसका फुफेरा भाई सन्नी भी था। कोल्ड ड्रिंक में शराब मिली थी। उसे नशा आने लगा। इसी दौरान पहले मनीष और फिर सन्नी ने उसके साथ रेप किया। जब वह चिल्लाने लगी तो दोनों ने मारपीट की और चेहरे और शरीर को नोच डाला। जिससे वह जख्मी हो गई। वह किसी तरह बाहर निकलकर चिल्लायी। उसकी चीख सुनकर अपार्टमेंट के लोग ऊपर गए। तब तक मनीष बाइक स्टार्ट कर भाग गया। फिर सन्नी भी भाग गया। आधा घंटा बाद पुलिस वहां पहुंची।

माता-पिता के साथ रहना चाहती है विक्टिम

कोर्ट में पूछताछ के बाद करीब सवा दो बजे जब वह कमरे से बाहर आयी तो वह अपने मां-पिता से मिली। उसने अपने माता-पिता को बयान के बारे बताया। उसने पुलिस से कहा कि वह मां-पिता के साथ ही रहना चाहती है। थानाध्यक्ष ने उसे पूरा सहयोग करने का आश्वासन दिया। महिला थानाध्यक्ष ने आश्वासन दिया कि अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद उसे सीनियर अफसरों के आदेश पर मां-पिता के साथ ही भेज दिया जाएगा। इससे पहले करीब तीन पेज में लड़की का बयान लिखा गया। फिर बयान को सीलबंद लिफाफा में कर सीजेएम ऑफिस भेजा गया। जहां से लिफाफा पॉक्सो अदालत पहुंचा दिया गया।

पहले मेडिकल बोर्ड ने नकारा, कहा- नहीं हुआ रेप, दोबारा जांच में जताई जा रही आशंका

19 नवंबर को वारदात के दूसरे दिन मायागंज हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने लड़की की मेडिकल जांच की और रिपोर्ट में लिखा कि उसके साथ रेप नहीं हुआ। रिपोर्ट आने के दो दिन बाद जब मेडिकल बोर्ड ने फिर से लड़की की जांच की तो उसमें रेप की आशंका जताई जा रही है। एक हॉस्पिटल से दो तरह की जांच रिपोर्ट आने से पूरे मामले में हॉस्पिटल मैनेजमेंट की भूमिका संदिग्ध मानी जा रही है।

नई रिपोर्ट के बाद बदल जाएगी जांच की दिशा

मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट के बाद अब पुलिस की जांच की दिशा बदलेगी। इससे पूर्व गुरुवार को लड़की की जांच कर रिपोर्ट तैयार करने को लैब में भेजा गया था। शनिवार को पूरी रिपोर्ट आने के बाद इसे पुलिस प्रशासन को सौंप दिया गया। मेडिकल जांच के दौरान लड़की की शारीरिक जांच की गई। वेजाइनल स्वाब के नमूने को एग्जामिन किया गया। उम्र पता करने के लिए एक्स-रे व सीटी स्कैन भी कराया। इधर, पुलिस सूत्रों की मानें तो रिपोर्ट में मेडिकल टीम ने लड़की के साथ रेप की आशंका जताई है। जबकि बुधवार को पहली रिपोर्ट में गैंगरेप की पुष्टि नहीं की गई थी। फिर से की गई जांच में रेप की आशंका है। जबकि छात्रा के शरीर पर कई ऐसे जख्म मिले हैं जिससे रेप के आरोप सच साबित हाे रहे हैं। पहली रिपोर्ट आने के बाद पुलिस और मेडिकल टीम पर लोग आरोप लगाने लगे थे कि रेप की बात को दबाने की कोशिश हो रही है।

आगे की स्लाइड्स में देखें रिलेटेड फोटोज...

जांच के दौरान लेडी अफसर। जांच के दौरान लेडी अफसर।
जिस कमरे में वारदात को अंजाम दिया गया वहां जांच करती पुलिस। जिस कमरे में वारदात को अंजाम दिया गया वहां जांच करती पुलिस।
जांच के बाद हॉस्पिटल से निकलती पीड़िता। जांच के बाद हॉस्पिटल से निकलती पीड़िता।
अपार्टमेंट से जांच के बाद निकलती पुलिस की टीम। अपार्टमेंट से जांच के बाद निकलती पुलिस की टीम।
अपार्टमेंट का गार्ड जिसने पुलिस को जानकारी दी थी। अपार्टमेंट का गार्ड जिसने पुलिस को जानकारी दी थी।
रेप का आरोपी मनीष। रेप का आरोपी मनीष।
मौके से बरामद शराब की बोतल। मौके से बरामद शराब की बोतल।
अपार्टमेंट जिसमें वारदात को अंजाम दिया गया। अपार्टमेंट जिसमें वारदात को अंजाम दिया गया।
इसी फ्लैट में लड़की सहेली से मिलने पहुंची थी। इसी फ्लैट में लड़की सहेली से मिलने पहुंची थी।