Hindi News »Bihar »Patna» Waiting And RAC Passenger Seat Will Be Confirmed

चलती ट्रेन में वेटिंग और RAC, बोगी-बाेगी नहीं भटकना पड़ेगा टीटीई के लिए

सीट कंफर्म करने के लिए टीटीई को और सुरक्षाकर्मियों की मदद के लिए, उन्हें अब बोगी-बोगी नहीं खोजना पड़ेगा।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 11, 2017, 06:48 AM IST

  • चलती ट्रेन में वेटिंग और RAC,  बोगी-बाेगी नहीं भटकना पड़ेगा टीटीई के लिए
    भागलपुर.रेलयात्रियों को वेटिंग लिस्ट या आरएसी टिकट पर सीट कंफर्म करने के लिए टीटीई को और सुरक्षाकर्मियों की मदद के लिए, उन्हें अब बोगी-बोगी नहीं खोजना पड़ेगा। रेलवे बोर्ड ने टीटीई और सुरक्षा बल के जवानों को आवंटित होने वाली सीटों की स्थिति नए सिरे से तय कर दी है। इस संबंध में रेलवे बोर्ड का आदेश भी डिविजन को मिल गया है।
    अधिकारियों ने बताया कि वर्ष 2002 में रेलवे ने टीटीई के लिए सीटें तय की थीं। लेकिन विक्रमशिला में जर्मनी तकनीक वाली लिंक हॉफमैन बुश (एलएचबी) कोच लग जाने के कारण टीटीई व सुरक्षाकर्मियों की सीट को लेकर काफी दिनों से किचकिच हो रही थी। इससे यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। यात्रियों की शिकायतों पर ट्रेनों में सीटों के आवंटन की रिपोर्ट की समीक्षा के बाद नए सिरे से टीटीई और जवानों के लिए सीटें तय कर इसे सख्ती लागू किया है।
    जानिए किस बोगी में मिलेंगे टीटीई
    - विक्रमशिला एक्सप्रेस की एसी फर्स्ट और एसी सेकंड के टीटीई ए-1 बोगी की सीट नंबर पांच पर मिलेंगे
    - विक्रमशिला व फरक्का एक्सप्रेस की एसी थर्ड और एसी थर्ड इकोनॉमी क्लास के टीटीई बी-1 व बीई-1 की सात नंबर सीट पर मिलेंगे
    - सभी एक्सप्रेस ट्रेनों की स्लीपर क्लास में टीटीई के लिए सात नंबर सीट आवंटित की गई है
    - भागलपुर-आनंद विहार गरीब रथ में जी-1, जी-3, जी-5 और जी-7 में टीटीई सात नंबर सीट पर रहेंगे
    - मालदा-पटना व बांका-दानापुर इंटरसिटी में आगे से हर एक बोगी के बाद सीट नंबर-एक पर टीटीई मिलेंगे
    - जिन इंटरसिटी में स्लीपर कोच लगायी जाएगी, उसमें सीट नंबर एक टीटीई की होगी
    - ट्रेन को एस्कॉर्ट करने वाले आरपीएफ और जीआरपी जवानों के लिए सभी ट्रेनों की स्लीपर बोगी में एस-1 बोगी में सीट नंबर 63 होगी
    मालदा एडीआरएम बीके साह ने बताया कि चलती ट्रेन में वेटिंग या आरएसी यात्रियों को सीट कंफर्म के लिए टीटीई को खोजने में काफी परेशानी होती थी। सुरक्षाकर्मियों की मदद के लिए भी यात्रियों को परेशान होना पड़ता था। ऐसे में रेलवे बोर्ड ने हर ट्रेन में सीटों के आवंटन की रिपोर्ट की समीक्षा के बाद नए सिरे से उनके लिए सीटों की संख्या तय कर दी है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×