Hindi News »Bihar »Patna» Abhimanyu Killing Case Accuse Hostel Student Admit Crime

हॉस्टल में छात्र की मौत का मामला: आरोपी लड़की ने कहा- किताब फेंक देता था इसलिए मार डाला

लड़की ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है, लेकिन हत्या का जो कारण बताया उसपर पुलिस को यकीन नहीं है।

Bhaskar News | Last Modified - Jul 12, 2018, 09:13 AM IST

हॉस्टल में छात्र की मौत का मामला: आरोपी लड़की ने कहा- किताब फेंक देता था इसलिए मार डाला

पटना/फतुहा. फतुहा के शेफाली इंटरनेशनल स्कूल के छात्र अभिमन्यु ने हॉस्टल में रहने वाली एक छात्रा को गलत हरकत करते देख लिया था। इसी वजह से उस छात्रा ने उस मासूम की हत्या कर दी। पुलिस ने पूरी तफ्तीश के बाद छात्रा को गिरफ्तार कर लिया है। उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। लेकिन, हत्या का जो कारण बताया उसपर पुलिस को यकीन नहीं है। उसने कहा कि अभिमन्यु उसकी कॉपी-किताब फेंक देता था इसलिए मार डाला। पुलिस उसके साथ तीन अन्य छात्राओं को फतुहा से लेकर महिला थाने आ गई और सबों से देर रात तक ग्रामीण एसपी पूछताछ करते रहे। पुलिस के रडार पर स्कूल प्रबंधन से जुड़ा एक युवक है, जो घटना की रात वहां था। सोमवार को वह फतुहा थाने भी गया और मीडिया को मैनेज करने की कोशिश की। मीडिया मैनेज नहीं हुई तो वह वहां से फरार हो गया। पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर सकी है। इस मामले में अभिमन्यु के चाचा संतोष कुमार के बयान पर स्कूल के प्राचार्य डॉ. अशोक सिंह, कार्यकारी प्राचार्य आनंद कुमार, निदेशक कुणाल गौतम, संचालन कमेटी के पूर्व सदस्य शशिधर शर्मा, महिला वार्डन रानो सिंह, उसके पति अरविंद कुमार, उसके बेटा अभिमन्यु, लक्की कुमार, गार्ड अखिलेश उर्फ पप्पू, एक और महिला अनिता देवी के अलावा गिरफ्तार छात्रा व तीन अन्य छात्राओं पर गला दबा कर हत्या करने की प्राथमिकी दर्ज की गई है।

शुरू में किया इनकार, सख्ती के बाद स्वीकारा:छात्रा शुरू में हत्या के बाबत कुछ बताने से इनकार कर रही थी। घटना के दिन उसकी हरकत देख पुलिस को उसपर शक हो गया था। सोमवार को दिनभर हुई पूछताछ में वह पुलिस को इधर-उधर घुमाती रही। सोमवार की देर रात जब उससे सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने कबूल लिया कि उसने ही हत्या की है। सूत्रों का कहना है कि हॉस्टल में क्या चल रहा था, इसकी जानकारी कई लोगों को है, लेकिन वे कुछ नहीं बता रहे हैं।

हॉस्टल में चलता था शराब का दौर, युवक छात्राओं के साथ बैठकर देखता था फिल्म

पुलिस की जांच से नाराज मृतक के परिजन बुधवार को ग्रामीण एसपी के दफ्तर में पहुंचे थे लेकिन उनसे मुलाकात नहीं हुई। परिजनों का कहना है कि पुलिस मामले की लीपापोती में लगी है। उनका कहना है कि वह छात्रा करीब 16 साल की है, फिर वह मासूम उसकी किताब-कॉपी कैसे फेंक सकता है। स्कूल व हॉस्टल सटा हुआ है। हॉस्टल की दिवार टूटी हुई है, जिस रास्ते से वह युवक हॉस्टल रोजाना रात में आता था। परिजनों का कहना है कि वह युवक हॉस्टल में शराब पीता था। यही नहीं, वह हॉस्टल की तीन-चार बड़ी छात्राओं के साथ फिल्म भी देखता था। उस युवक का पकड़ी गई छात्रा से चक्कर था। परिजनों का दावा है कि वह छात्रा अकेले उसकी हत्या नहीं कर सकती। इसमें वह युवक भी है। पुलिस उसे क्यों नहीं गिरफ्तार कर रही, जबकि केस में उसका भी नाम है। वारदात की रात को था, सोमवार को भी थाना गया, लेकिन फरार कैसे हो गया।

मृतक के बेड पर मिला बाल, जांच में भेजा गया:सूत्रों के अनुसार जिस बेड पर अभिमन्यु की लाश पड़ी थी, उस पर कुछ बाल मिले हैं। पुलिस ने उन बालों को एफएसएल जांच को भेज दिया है। जांच में जुटी पुलिस का कहना है कि उसकी हत्या बेड पर हुई। इसके अलावा कुछ और साक्ष्य मिले हैं जिसकी तफ्तीश करने में पुलिस जुटी है। रविवार की रात को अभिमन्यु बहन के बेड पर अकेला सोया हुआ था।

एक और पूर्व गार्ड की है पुलिस को तलाश: सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को इस जांच में एक और स्कूल के हॉस्टल में रहने वाले पूर्व गार्ड की तलाश है। पूर्व गार्ड को स्कूल प्रशासन ने कुछ दिन पहले ही नौकरी से निकाल दिया था। इसके बाद ही होस्टल में स्कूल प्रशासन ने अखिलेश कुमार उर्फ पप्पू को बतौर गार्ड के रूप में रखा था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×