• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Patna News after taking the position of the police the robbers entered the flat of a chartered accountant

फोन कर पुलिस का लोकेशन लेने के बाद चार्टर्ड अकाउंटेंट के फ्लैट में घुसे थे डकैत

Patna News - पाटलिपुत्र काॅलोनी स्थित लोटस अपार्टमेंट में रहने वाले चार्टर्ड अकाउंटेंट आशीष हलधर के फ्लैट से 3 लाख नकद और करीब...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 04:45 AM IST
Patna News - after taking the position of the police the robbers entered the flat of a chartered accountant
पाटलिपुत्र काॅलोनी स्थित लोटस अपार्टमेंट में रहने वाले चार्टर्ड अकाउंटेंट आशीष हलधर के फ्लैट से 3 लाख नकद और करीब 15 लाख के गहने लूटने वाले अपराधियों का सरगना पुलिस का मुखबिर है। इसमें एक थाने के पूर्व निजी चालक के भी शामिल होने की बात सामने आई है। सूत्रों के अनुसार, पुलिस ने गिरोह की पहचान कर ली है। पुलिस लगातार इस गिरोह के अड्डों पर छापेमारी करने में जुटी है, लेकिन अबतक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। सूत्रों के अनुसार वारदात के पहले एक लुटेरे ने स्थानीय पुलिस को फोन कर उसका लोकेशन भी लिया था, लेकिन पुलिस इसे समझ नहीं पाई। पुलिस का लोकेशन मिलने के बाद अपराधियों का गिरोह दिनदहाड़ेे अपार्टमेंट में घुस गया। अपार्टमेंट के गार्ड के पूछताछ करने पर सीए से मिलने की बात कही। रजिस्टर पर एसएसपी का ही नंबर लिख दिया। उसके बाद सभी चेहरा छिपाकर लिफ्ट में चढ़कर हलधर के फ्लैट में पहुंच गए। वहां उनकी प|ी अल्पना और नौकरानी अनिता को हथियार के बल पर बंधक बनाया। दोनों को सोफा से बांध दिया और फिर 3 लाख नकद व 15 लाख के गहने के साथ ही सीए की लाइसेंसी रिवाल्वर ले गए। घटना के वक्त सीए फ्लैट में नहीं थे। वे किसी काम से मुजफ्फरपुर गए हुए थे।

कई मामलों को खुलासे में कर चुका है मदद :सूत्रों के अनुसार जिस पुलिस के मुखबिर ने वारदात को अंजाम दिया है वह पहले कई मामलों में अपराधियों को गिरफ्तार कराने से लेकर खुलासा करने में पुलिस की मदद कर चुका है। जहां वह मुखबिर रहता है, वहां से वारदात के दिन से ही गायब है। अगर पुलिस उसे गिरफ्तार कर लेती है कि कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद है।

सूत्रों के अनुसार लुटेरे किराए की कार से आए थे। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने उस कार को बरामद कर लिया है। बताया जाता है कि इसमें एक लाइनर भी है, जो सीए का करीबी रहा है। अपराधियों को इस बात की जानकारी थी कि कहां अलमारी रखी है और किसमें क्या है। इसलिए अपराधियों ने उन्हीं अलमारियों को खोला। बताया जाता है कि कार का रजिस्ट्रेशन नंबर फर्जी है। पुलिस इस मामले में करीब दर्जनभर संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर चुकी है।

X
Patna News - after taking the position of the police the robbers entered the flat of a chartered accountant
COMMENT