बिहार / कृषि मंत्री प्रेम कुमार बोले-बाढ़ व परती भूमि के लिए किसानों को मिलेगा अनुदान



प्रेम कुमार: कृषि मंत्री प्रेम कुमार: कृषि मंत्री
X
प्रेम कुमार: कृषि मंत्रीप्रेम कुमार: कृषि मंत्री

  • बाढ़ व सुखाड़ से राज्य में 7.85 लाख हेक्टेयर के लिए किसानों को मिलेंगे 772.47 करोड़
  • किसी भी किसान को एक हजार से कम नहीं

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 08:24 PM IST

पटना. बाढ़ और सुखाड़ से राज्य में 7.85 लाख हेक्टेयर में फसल की क्षति हुई है। कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने बताया कि किसानों को फसल क्षतिपूर्ति के लिए 772.47 करोड़ मिलेंगे। किसी भी किसान को न्यूनतम जमीन पर भी एक हजार रुपए से कम अनुदान राशि नहीं मिलेगी। सिंचित क्षेत्र के किसानों को प्रति हेक्टेयर 13500 रुपए और असिंचित क्षेत्र के किसानों को प्रति हेक्टेयर 6800 रुपए इनपुट अनुदान मिलेगा। नकदी फसलों के लिए 18 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर मिलेंगे। नगदी फसल के लिए न्यूनतम नुकसान राशि 2 हजार से कम नहीं मिलेगी। बाढ़ के बाद जहां खेतों में गाद जमा हो गए हैं 12,200 रुपए प्रति हेक्टेयर की दर से सहायता मिलेगी। एक किसान को अधिकतम दो हेक्टेयर के लिए अनुदान मिलेगा। किसी भी किसान फसल के लिए न्यूनतम एक हजार रुपए मिलेंगे।

 

इस साल 18 जिलों के 102 प्रखंडों के 896 पंचायत सूखाग्रस्त घोषित किया गया है। यहां रोपनी हुई ही नहीं है। जुलाई 2019 में आयी बाढ़ से हुई फसल क्षति के लिए कृषि इनपुट अनुदान का भुगतान होगा, उन्हें पुन: सितंबर माह में आयी बाढ़ से हुई फसल क्षति के लिए कृषि इनपुट अनुदान मान्य नहीं होगा।

 

मंत्री ने कहा कि इस योजना का लाभ ऑनलाइन पंजीकृत किसानों को ही मिलेगा। जो किसान पहले से पंजीकृत नहीं हैँ, ऐसे किसान कृषि विभाग के डीबी पोर्टल पर अपना पंजीकरण निश्चित तौर पर करा लें। किसान पंजीकरण अपने नजदीकी कॉमन सर्विस केंद्र या बसुधा केंद्र, ई किसान भवन में निःशुल्क करा सकते हैं। अनुदान की राशि किसानों को उनके आधार से जुड़े बैंक खाते में ही भेजा जाएगा।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना