पटना

--Advertisement--

नीतीश-मोदी समेत सभी 11 कैंडिडेट्स निर्विरोध जीतेंगे, जदयू ने संजय सिंह का टिकट काटा

विधान परिषद चुनाव : जदयू ने नीतीश-खालिद-रामेश्वर, भाजपा ने मोदी-मंगल-संजय और कांग्रेस ने प्रेमचंद्र को बनाया प्रत्याशी

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2018, 06:03 AM IST
नीतीश कुमार और  सुशील कुमार मोदी ने सोमवार को एमएलसी के लिए पर्चा दाखिल किया। नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी ने सोमवार को एमएलसी के लिए पर्चा दाखिल किया।

पटना. बिहार विधान परिषद चुनाव के लिए नामांकन भरने का सोमवार को आखिरी दिन है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और सुशील मोदी ने विधानसभा में पर्चा दाखिल किया। नीतीश और सुशील मोदी समेत सभी 11 उम्मीदवारों को जीतना तय है। सिर्फ औपचारिक घोषणा बाकी रहेगी। जदयू ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा रामेश्वर महतो और खालिद अनवर को प्रत्याशी बनाया है। वहीं भाजपा ने उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और पूर्व केन्द्रीय मंत्री संजय पासवान, जबकि कांग्रेस ने प्रेमचंद्र मिश्रा को उम्मीदवार बनाया है। राजद पहले ही पूर्व सीएम राबड़ी देवी, रामचन्द्र पूर्वे और सैयद खुर्शीद मोहसिन को प्रत्याशी बनाने और हम के संतोष मांझी को समर्थन की घोषणा कर चुका है। जदयू के मौजूदा एमएलसी संजय सिंह, चंदेश्वर चंद्रवंशी, उपेंद्र प्रसाद, राजकिशोर कुशवाहा का पत्ता साफ हो गया है।

राजद को 4 सीटों का लाभ, जदयू को 3 और भाजपा को 1 सीट का नुकसान

- विधान परिषद चुनाव में जीत के लिए न्यूनतम 21 वोटों की दरकार है। राजद की एक सीट खाली होगी, लेकिन उसे चार सीटें मिलेंगी।

- जदयू की छह सीट खाली होगी, लेकिन उसे तीन सीट मिलेगी। भाजपा की चार सीट खाली होने के बावजूद उसे केवल तीन सीट ही मिलेगी। तीसरी सीट पर उसे जदयू और निर्दलीय उम्मीदवारों की सहायता लेनी होगी।

हम सेक्युलर का खुलेगा खाता
- फिलहाल हम सेक्युलर का विधान परिषद में कोई सदस्य नहीं है। विधानपरिषद में जदयू, भाजपा, राजद, कांग्रेस, लोजपा, रालोसपा और भाकपा के सदस्य हैं। संतोष मांझी के रूप में हम सेक्युलर का खाता खुलेगा।

ये सीटें हो रही हैं खाली

- जदयू : नीतीश कुमार, संजय सिंह, उपेंद्र प्रसाद, चंदेश्वर चंद्रवंशी, राजकिशोर कुशवाहा
- भाजपा : सुशील मोदी, मंगल पांडेय, लालबाबू प्रसाद

- राजद : राबड़ी देवी

- पहले से खाली: नरेंद्र सिंह वाली सीट, सत्येंद्र नारायण सिंह- भाजपा (निधन)

जीतने वाले 11 उम्मीदवार
- चार को फिर मौका :
नीतीश कुमार, सुशील मोदी, मंगल पांडेय और राबड़ी देवी।
- पहली बार: संजय पासवान, प्रेमचंद्र मिश्रा, रामेश्वर महतो, खालिद अनवर, सैयद खुर्शीद मोहम्मद मोहसिन और संतोष मांझी
- लंबे अंतराल बाद मौका: रामचन्द्र पूर्वे

विधान परिषद ​ में दलों का गणित ऐसा हो जाएगा

- जदयू: 32, भाजपा: 22, राजद: 09, कांग्रेस: 03, भाकपा: 02, लोजपा:02, रालोसपा: 01, हम: 01, निर्दलीय: 03

विधान परिषद की है यह तस्वीर
- जदयू: 34 ( कार्यकारी सभापति समेत), भाजपा: 22, राजद: 07, कांग्रेस: 02, भाकपा: 02, लोजपा: 02, रालोसपा: 01, निर्दलीय: 03, रिक्त: 02

इस समय सदन में स्थिति
- एनडीए: 59, महागठबंधन: 9, भाकपा: 2 निर्दलीय: 3

#विधानसभा में दलीय स्थिति

ये चुनेंगे विधान परिषद सदस्यों को
- राजद: 80 , जदयू: 70, भाजपा: 53, कांग्रेस: 27, माले: 03, रालोसपा: 02, लोजपा: 02, हम: 01, निर्दलीय: 04 , रिक्त: 01 (अररिया)

# जीत का गणित

एनडीए के पास: 127, महागठबंधन : 109, तीन निर्दलीय का समर्थन भी एनडीए को है
(एक सीट के लिए 21 वोट। इस हिसाब से एनडीए को 6, महागठबंधन को पांच सीटें मिलनी तय)

पार्टी खाली मिलेंगी लाभ/हानि
जदयू 05 03 02 सीटों का नुकसान
भाजपा 04 03 01 सीटों का नुकसान
राजद 01 03 03 सीटों का लाभ
हम 00 01 01 सीट का लाभ
कांग्रेस 00 01

01 सीट का लाभ

प्रेमचंद्र मिश्रा प्रेमचंद्र मिश्रा

- छात्र नेता के रूप में राजनीति में आए मधुबनी निवासी मिश्रा 1987 से 1995 तक एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष रहे चुके हैं। वह 1992 से अब तक अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के डेलीगेट के साथ सोशल मीडिया पैनेलिस्ट भी हैं।

खालिद अनवर खालिद अनवर

- मोतिहारी ढाका के बलुआ गुआबारी निवासी  
- जामिया मिलिया इस्लामिया से पत्रकारिता की पढ़ाई, दिल्ली विश्वविद्यालय से पीएचडी  
1998 से पत्रकारिता में सक्रिय, हमारा समाज पत्रिका का संचालन 

पिता : शिक्षक

रामेश्वर महतो रामेश्वर महतो

- सीतामढ़ी के भासर गांव  निवासी 
- बीकॉम तक की शिक्षा 
पांच भाइयों में तीसरे नंबर पर   
पिता :  रामप्रकाश महतो 
राजनीतिक कॅरियर : जदयू में वर्ष 2014 से जुड़े। दरभंगा जिले के जदयू के जिला प्रभारी हैं। इसके पहले मधुबनी जिले के भी प्रभारी रहे थे। बिहार प्रदेश जदयू के संगठन सचिव। प्रीमियर गैलरी मार्बल टाइल्स के मशहूर व्यवसायी, दिल्ली में शेरा मिक्स क्रॉकरी का बड़ा उद्योग। 

संजय पासवान संजय पासवान

- बड़े दलित नेता के रूप में पहचान। अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री रह चुके हैं। नवादा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा का प्रतिनिधित्व किया।

-भाजपा के एससी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी भी निभा चुके हैं। पहली बार परिषद में जाएंगे।

X
नीतीश कुमार और  सुशील कुमार मोदी ने सोमवार को एमएलसी के लिए पर्चा दाखिल किया।नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी ने सोमवार को एमएलसी के लिए पर्चा दाखिल किया।
प्रेमचंद्र मिश्राप्रेमचंद्र मिश्रा
खालिद अनवरखालिद अनवर
रामेश्वर महतोरामेश्वर महतो
संजय पासवानसंजय पासवान
Click to listen..