विज्ञापन

चित्रकार तारकनाथ बड़ेरिया नहीं रहे

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 04:46 AM IST

Patna News - पटना सिटी | पटना कलम शैली चित्रकला को संरक्षित व सुरक्षित रखने में अहम योगदान रखने वाले 93 वर्षीय तारक नाथ बड़ेरिया...

Patna News - artist taraknath is no more
  • comment
पटना सिटी | पटना कलम शैली चित्रकला को संरक्षित व सुरक्षित रखने में अहम योगदान रखने वाले 93 वर्षीय तारक नाथ बड़ेरिया का निधन हो गया। हाजीगंज, लकी बिस्कुट कंपनी स्थित आवास पर उन्होंने अंतिम सांस ली। देश के विभिन्न प्रदेशों में उनकी कलाकृतियों की प्रदर्शनी को कई सम्मान मिले। उनका जन्म 1926 में हुआ था। पटना कलम शैली को करीब से जानने व समझने के लिए वे काफी दिनों तक प्रसिद्ध मूर्तिकार स्व. दामोदर प्रसाद अम्बष्ठ के सानिध्य में रहे। पटना कलम शैली स्वतंत्र रूप से ऐसी कला शैली थी जिससे आम लोगों और उनकी जिंदगी को कैनवास पर जगह मिली। पटना शैली के चित्रों में समकालीन जन-जीवन का बड़ा ही सजीव और प्रभावशाली चित्रण आकर्षण का केंद्र बना। बाद के दिनों में भारतीय चित्रकला का इतिहास व बिहार की लोक कलाएं एवं शिल्प दो पुस्तकें उन्होंने लिखीं जो धरोहर के रूप के रूप में हैं। 1994 में पटना कला महाविद्यालय में पटना शैली पर उनके द्वारा दिए गए व्याख्यान काफी चर्चित हुए। उनके निधन पर वरिष्ठ कला समीक्षक अवधेश अमन और सीनियर आर्टिस्ट मनोज कुमार बच्चन ने शोक जताया। बिहार चैंबर ऑफ कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष ओपी साह, रंगकर्मी विश्वनाथ शुक्ल चंचल, संजय राय, डॉ. विजय कुमार सिंह, पुरुषोत्तम दास रस्तोगी, विनोद किसलय, अनिल रश्मि सहित अन्य ने कहा कि कला के क्षेत्र में उनके योगदान को नहीं भुलाया जा सकता है। उन्हें राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर कई सम्मान प्राप्त हुए। इनमें बिहार कलाश्री पुरस्कार, पटना कलम र|, लोहा सिंह शिखर सम्मान, पटना कलम शिरोमणि सम्मान सहित अन्य हैं।

X
Patna News - artist taraknath is no more
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन