• Home
  • Bihar
  • Patna
  • Patna - 2600 मीटर की दूरी तक 52 पोल हैं गड़े, 17 पोल बीच सड़क पर हैं खड़े
--Advertisement--

2600 मीटर की दूरी तक 52 पोल हैं गड़े, 17 पोल बीच सड़क पर हैं खड़े

आलोक द्विवेदी

Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 05:05 AM IST
आलोक द्विवेदी
कहीं सड़क के बीच में पोल तो कहीं बीच से थोड़ा किनारे पर। नतीजा हमेशा एक्सिडेंट का डर। रात में अंधेरा हो तो और ज्यादा खतरा। पहली बार इस रास्ते से गुजरने वालों के लिए साक्षात मौत से सामना। शिवपुरी से पटेल नगर बाबा चौक की सड़क का यह हाल है। यहां 26 सौ मीटर लंबी सड़क पर 52 पोल और 13 ट्रांसफॉर्मर। तीन जगहों पर एक साथ दो-दो ट्रांसफार्मर, 17 पोल सड़क के बीचों-बीच। रात में तो एक्सीडेंट का डर बहुत ज्यादा रहता है दिन में भी यह डर बना रहता है। शिवपुरी स्थित रेलवे फाटक नंबर चार से दुर्गा मंदिर स्थित फाटक नंबर पांच तक लगभग सात सौ मीटर लंबी सड़क का निर्माण एक साल पहले हुआ है। सात सौ मीटर लंबी सड़क के बीच में पांच पोल हैं। पोल हटाए बगैर सड़क बना दी गई है।

12 फीट चौड़ी सड़क को पोल कर दे रहे डिवाइड

आर ब्लॉक से दीघा तक रेल लाइन की लंबाई 6.7 किलोमीटर है। इसके एक तरफ नाला और उसके पास रेलवे लाइन, तो दूसरी तरफ लोगों ने कब्जा कर मकान, दुकान बना लिया है। शिवपुरी में रेलवे फाटक नंबर चार से पांच तक सड़क की लंबाई लगभग सात सौ मीटर लंबी है। इसमें पांच पोल सड़क के बीचों-बीच और चार पोल थोड़ा सा किनारे हटकर है। सड़क के बीच में पोल रहने से सड़क बगैर डिवाइडर के ही दो हिस्सों में बंट गई है। पांच पोल के एक तरफ कार और बाइक दोनों एक साथ आने लगती है तो विपरीत दिशा से आने वाली गाड़ियों को रूकना पड़ जाता है। इसके साथ ही चार पोल थोड़ा किनारे गड़े होने की वजह से गाड़ी, गुमटी की पार्किंग बन गई है। सात सौ मीटर लंबी सड़क पर तीन जगहों पर दो-दो ट्रांसफार्मर एक साथ लगे हुए हैं। इससे हादसे की आशंका है। रेलवे फाटक पांच से महेशनगर स्थित वार्ड नंबर सात की पूर्व पार्षद प्रमिला सिंह के मकान के पास तक 20 पोल और सात ट्रांसफार्मर हैं जो सड़क के किनारे है। बड़े वाहनों को निकलने में परेशानी होती है। सड़क से सटे पोल होने की वजह से कई बार लोग अपने वाहनों को पोल के किनारे कच्चे रास्ते से होकर ले जाते हैं। पूर्व वार्ड पार्षद के घर के पास केसरी नगर बाबा चौक के निकट 23 पोल सड़क के किनारे कहीं पर दाईं तो कही बाईं तरफ लगा हुआ है। इससे नाले के पास की सड़क कहीं पर 12 फीट तो कही पर मात्र आठ फीट ही रह जाती है। नाला खुला होने से कई बार गाड़ी सवार दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं। वार्ड पार्षद के घर से पांचवी पुलियां के बीच में बिजली का पोल गड़ा हुआ है। गाड़ियों के बार-बार टकराने से पोल क्षतिग्रस्त हो गया है।

DB Star CITY ISSUE

आने-जाने में परेशानी है मगर देखने वाला कौन?

नाला क्षतिग्रस्त होने से पास की सड़क काफी संकरी हो गई है। पोल लगने से लोगों के आने-जाने में परेशानी हो रही, मगर देखने वाला कौन है?  विकास कुमार, स्थानीय निवासी

बनाते समय ही कहा पर अफसरों ने सुनी ही नहीं

कई बार पोल को हटा कर सड़क किनारे करने को कहा, लेकिन अफसरों ने ध्यान नहीं दिया। इससे रास्ता पूरी तरह से बेकार हो गया है।  नंदन कुमार, स्थानीय निवासी

300 मीटर तक नहीं चलते फोर व्हीलर

नाले के पास की सड़क कहीं पर 12 फीट तो कहीं पर आठ फीट ही है। पुलियां नंबर 12 के पास सड़क की चौड़ाई महज छह फीट ही है। रोड नंबर दो से चार तक लगभग 300 मीटर लंबाई में चार पहिया वाहनों को रोक दिया गया है। बारिश में नाले का पानी सड़क से होते हुए लोगों के घरों में इंट्री कर जाता है। नाले के पास पोल गड़ने से उसके बगल में एक से डेढ़ फीट जगह छूट गई है। इससे रास्ता काफी संकरा हो गया है।

आर. ब्लाॅक-दीघा रोड के साथ ठीक कराएंगे

आर ब्लॉक से दीघा तक रेलवे लाइन को हटाते समय सड़क, सीवरेज, बिजली की समस्या को भी दूर किया जाएगा। इस रोड को भी ठीक कराएंगे।  विशाल आनंद, अपर नगर आयुक्त