डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया से बचने के लिए मच्छरों से बचाव करें

Patna News - डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया से बचने के लिए मच्छरों से बचाव करना होगा। ये तीनों मच्छरों के काटने से होने वाली...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:40 AM IST
Patna News - avoid mosquitoes to prevent dengue malaria and chickengunia
डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया से बचने के लिए मच्छरों से बचाव करना होगा। ये तीनों मच्छरों के काटने से होने वाली बीमारी है। इसके लिए जरूरी है घर या आसपास में जल जमाव नहीं होने दें और साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दें। खासकर बारिश के मौसम में विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है। इसके अलावा संक्रमण बीमारियों के प्रमुख कारण रहे हैं। यह दोनों वस्तुत: एक दूसरे के पोषक हैं। हम अाज भी इन पर विजय प्राप्त नहीं कर पाए हैं। यह कहना है पटना एम्स के वरीय फिजिशियन डॉ. रवि कीर्ति का। वे शनिवार को दैनिक भास्कर के हेल्थ काउंसिलिंग में पाठकों को सलाह दे रहे थे।

डॉ. कीर्ति ने कहा कि संक्रमण का सबसे बड़ा कारण है गंदगी। यदि संक्रामक बीमारियों पर विजय प्राप्त करनी है तो स्वच्छ भारत को एक सरकारी योजना मात्र न मानकर एक जनआंदोलन का रूप देना होगा। खुले में शौच न जाना, घर और आसपास की जगह और खासकर भोजन बनाने की जगह को साफ रखना, शौच के बाद और भोजन से पहले अच्छी तरह साबुन से हाथ धोना, पीने और खाना बनाने के लिए स्वच्छ जल का प्रयोग करना। ये कुछ ऐसे सरल उपाय हैं जिनसे संक्रामक बीमारियों से काफी हद तक बचा जा सकता है। गली मोहल्ले में जलजमाव नहीं होने देना और कूड़ा जमा नहीं होने देना भी जरूरी है ताकि मच्छरों से होने वाले डेंगू, मलेरिया जैसे रोग न फैले। मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसे रोगों से बचना है तो खानपान पर ध्यान दें। चीनी, नमक और वसा कम लें। फल सब्जी अधिक लें। नशा न करें। प्रतिदिन अाधा घंटा शारीरिक श्रम जरूर करें। बीते कुछ वर्षों में आर्थिक विकास के कारण गड़बड़ जीवनशैली के चलते होने वाली बीमारियां, जैसे मधुमेह, उच्चरक्तचाप, हृदय रोग और कुछ हद तक कैंसर भी तेजी बढ़ रहा है। वहीं कुपोषण विशेषकर बच्चों, महिलाओं और बुजुर्गों को प्रभावित करता है। अभी हाल ही उत्तर बिहार में चमकी बुखार के चलते जो बच्चे काल कलवित हुए, वे सभी कुपोषण के शिकार थे। बारिश में भींगे नहीं। मच्छरों से बचने के लिए खासकर बच्चों को पूरा कपड़ा पहनाकर कहीं भेजें। मच्छरदानी या फिर रिप्लेंट अादि का इस्तेमाल करें। टायफाइड, जौंडिस से बचने के लिए शुद्ध पानी का इस्तेमाल करें। पानी शुद्ध नहीं हो तो उसे उबाल कर सेवन करें। बारिश के मौसम में बासी भोजन नहीं करें।



डॉ. रवि कीर्ति, वरीय फिजिशियन, पटना एम्स


शुद्ध पानी और भोजन का सेवन करें। इधर-उधर का पानी का सेवन नहीं करें।


डायबिटिज के चलते नस क्षतिग्रस्त हो जाता है। इसलिए दर्द होता है। शुगर की दवा नहीं छोड़ें।


यदि शौच का रंग काला है तो तुंरत पेट रोग विशेषज्ञ से मिलें।


विटामिन-डी और कैल्शियम की कमी की वजह से एेसा हो सकता है। दूध और दूध से बने उत्पाद का सेवन करें। शरीर में धूप भी लगाएं।


यह वायरल संक्रमण है। पेय पदार्थ जैसे पानी, दूध अादि लेते रहिए। खुद ही ठीक हो जाएगा।


बेहतर होगा हड्डी रोग विशेषज्ञ से दिखा लें।

इन्होंने भी किया फोन

अनुज (खुसरूपुर), प्रेमनाथ प्रियदर्शी (बिहटा), मोहम्मद कमरे अालम (फुलवारीशरीफ), सुबोध कुमार (समस्तीपुर), राजीव रंजन (पटना), अभय शर्मा (मसौढ़ी), दिनदयाल मिश्रा (दानापुर), मनोज (पटना), राम प्रवेश पासवान (पालीगंज), विनोद कुमार (बोरिंग रोड), रामअवतार सिंह (रोहतास), रामआशीष प्रसाद (सोनपुर), विनिता देवी (बोरिंग कैनाल रोड), अनिता कुमारी (सगुना), महादेव (अाशियाना)।

X
Patna News - avoid mosquitoes to prevent dengue malaria and chickengunia
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना