नया नियम / नमामि गंगे के डीजी का आदेश, गंगा में सभी मूर्तियों के विसर्जन पर रोक



Ban on immersion of all idols in Ganga
X
Ban on immersion of all idols in Ganga

  • गंगा को बचाने के लिए राज्य और केंद्र सरकार आम लोगों को जागरूक करेगी
  • बेउर और करमलीचक एसटीपी का काम इसी माह पूरा करने का निर्देश

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 04:27 AM IST

पटना. गंगा में अब सभी तरह की मूर्तियों के विसर्जन पर रोक लगा दी गई है। इसके लिए राज्य और केंद्र सरकार आम लोगों को जागरूक करेगी। गुरुवार को नई दिल्ली में आयोजित नमामि गंगे परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए डीजी राजीव रंजन मिश्रा ने कहा कि एनजीटी ने गंगा में मूर्तियों के विसर्जन पर रोक लगाने का आदेश दिया है। लेकिन इस पर अमल नहीं हो रहा है।

 

एनजीटी के आदेश को सख्ती से लागू करने की आवश्यकता है। गंगा की निर्मलता के लिए इस पर प्रभावी ढंग से अमल करना जरूरी है। बिहार में चल रही परियोजनाओं की समीक्षा के दौरान उन्होंने बेउर और करमलीचक एसटीपी और नेटवर्क का काम इसी महीने पूरा करने का निर्देश दिया। नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद ने बताया कि बेउर और करमलीचक का ट्रायल किया जा रहा है। नेटवर्क का काम भी पूरा होने को है। हालांकि, अभी बेउर के वार्ड संख्या 10 और 11 में 2500 हाउस कनेक्शन दिया जाना है।

 

15 शहरों में एसटीपी और नेटवर्क का डीपीआर तैयार
सैदपुर नेटवर्क में 55 में से 40 किलोमीटर पाइपलाइन पूर्ण कर दिया गया है। कुछ स्थान पर पथ निर्माण विभाग की अनुमति नहीं मिलने से काम नहीं हो पाया है। इसका जल्द समाधान कर लिया जाएगा। प्रधान सचिव ने बताया कि गंगा की सहायक नदियों के किनारे बसे 15 शहरों में एसटीपी और नेटवर्क के निर्माण के लिए डीपीआर फाइनल कर लिया गया है। बैठक में बुडको के प्रबंध निदेशक अमरेंद्र प्रसाद सिंह, मुख्य अभियंता ओमप्रकाश सिंह के अलावा कार्यपालक अभियंता, अधिकारी और संवेदक मौजूद थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना